निर्दलीय चुनाव लड़कर भी खिल उठा पंकज

आगर मालवा-उज्जैन जिले के रुणीजा (बडनगर) मे संपन्न प्रादेशिक माहेश्वरी सभा के चुनाव में एक नई इबारत लिखी गई। आगर माहेश्वरी समाज ने इंदौर और अन्य बडे शहरो के प्रत्याक्षियो को पछाडते हुये दो महत्वपूर्ण पदों पर विजयी पताका फहराकर  समाज का नाम स्वर्ण अक्षरों में लिख दिया।


जबकि पंकज अटल ने निर्दलीय चुनाव लड़ते हुये त्रिकोणीय मुकाबले मे संगठन मंत्री के पद पर शानदार जीत दर्ज की।
चुनाव में समाज की दो पैनल उमा महेश व जय महेश आमने-सामने थे। ऐसे में श्री अटल ने संगठन मंत्री पद पर निर्दलीय चुनाव लड़ने ऐलान कर सब को चौका दिया।जब परिणाम आये तो समाजजनों ने मुक्तकंठ से श्री अटल के निर्णय की सराहना की। वे न सिर्फ निर्दलीय लड़े बल्कि जीते भी। यह उन लोगो के लिए ज्यादा आश्चर्यजनक नही था जो पंकज अटल को जानते थे। अपने सरनेम को सार्थक करते हुवे समाज कार्यो को अटल इरादे के साथ अंजाम देने वाले पंकज ही थे जिन्होंने चुनाव में अपनी कार्यकोशलता से विजयश्री का वरण कर लिया। श्री अटल सदैव समाज कार्यो में अग्रणी रहते है। उन्होंने समाज मे कई पदों पर सेवाए दी है।वर्ष 2009 से 12 तक यूवा संगठन के प्रदेश अध्यक्ष रहे डॉ पंकज अटल शिक्षाविद के रुप मे पहचाने जाते है। उनके कार्यकाल के दौरान माहेश्वरी युवा संगठन के बेस्ट प्रदेश अध्यक्ष का खिताब पश्चिमी मध्यप्रदेश माहेश्वरी युवा संगठन को मिला।इसी चुनाव में निवर्तमान जिलाध्यक्ष विनय मालानी प्रदेश उपाध्यक्ष के पद के लिये निर्विरोध चुने गये।