सत्संग में बेठोगे तो नाम,पता सब बदल जाएगा,लोग कहेंगे देखो सत्संगी आ रहा है:पंडित नागर

सुसनेर। मनुष्य जीवन में कभी भी धन का नशा मत करना क्योंकि गांजे का नशा, भांग का नशा ,दारू का नशा उतर जाता है परंतु धन का नशा सत्यानाश किए बिना नहीं रुकता है। इसलिए धन का नशा कभी नहीं करना, नशा करना ही है तो ईश्वर भक्ति का नशा करो। 
यह बात शनिवार को सुसनेर  तहसील के समीपस्थ ग्राम मोड़ी में शुरू की गई संगीतयम श्रीमद् भागवत कथा के पहले दिन पंडित कमलकिशोर ने उपस्थित श्रद्धालुओं काे सम्बोधित करते हुएं कही। उन्होने कहां कि मनुष्य परिस्थितियों के अनुसार कहलाता है। यदी अस्पताल में जाओगे तो मरीज कहलाओगे, बस में जाओगे तो यात्री कहलाओगे। और अगर सत्संग में जाओगे तो सत्संगी कहलाओगे। सत्सग में ना तो कोई जात, ना कोई पात, ना कोई गरीब ना कोई अमीर, ना कोई छोटा ना कोई बड़ा ,यहां जो भी बेठा है वह सब सत्संगी है। हमें निंदक मित्रों से बचना चाहिए। निंदक हमेशा दुष्ट के समान होता है जो पीठ पीछे व्यक्तियों की बुराई करता है। इसलिए मनुष्य को कभी निंदा न ही करना और ना ही निंदा सुनना चाहिए। जिस प्रकार पैसा बड़े से बड़े केस दबा देता है उसी प्रकार पुण्य बड़े से बड़े पाप को दबा देता है। मनुष्य को हमेशा पुण्य करते रहना चाहिए। जो ईश्वर ने दिया उसमें हमेशा संतुष्ट रहना चाहिए ।यह धन संतों का दिया हुआ है ज्यादा धन मनुष्य के लिए हानिकारक होता है। जिस प्रकार पत्थर की शीला पर रगडने से मैला कपड़ा साफ हो जाता है उसी प्रकार यह काया किसी संत के चरण में पड़े तो उसके सारे मैल धुल जाते हैं। इस अवसर पर विधायक राणा विक्रम, आयोजक समिति के सैकडो लोग व 3 हजार से भी अधिक श्रद्धालुजन मौजूद थे। 
 संत श्री ने कथा में भजनो के माध्यय से  राम नाम की झडी लगाई। राम नाम रस पितो रे मनवा... बंधक मित्र हमारा रे.. बिना रह गए गुरु नहीं पाऐ...गोविंद नहीं है दूर मन भजन करो.. भक्ति को रंग चढ़ाऐ मन तु...  आदि भजनों को गाय ऐ जिन पर श्रद्धालु झूमने लगे। एक से बढकर एक भजनो की प्रस्तुति के माध्यम से नागरजी ने श्रद्धालुओ को कलयुग में रामनाम का सुमीरन क्यो आवश्यक है इसका महत्व बताया।कलश यात्रा के साथ हुआ कथा का शुभारंभ
कथा की शुरूआत ग्राम मोडी में भव्य कलश यात्रा निकालकर की गई। जिसकी शुरूआत गोवर्धन नाथ जी मंदिर से कि गई जो पूरे ग्राम में भ्रमण करते हुएं मोखमपुरा जोड़ स्थित कथा स्थल पहुंची। व्यासपीठ का विधिवत पूजर करने के पश्चात कथा का शुभारंभ किया गया। कलश यात्रा में सिर पर कलश लिए महिलाएं व युवतीयां शामिल थी। कलश यात्रा का सिसोदिया परिवार, पाटीदार धर्मशाला, हाट चौक, भारतीय जनातयुवा मोर्चा, सारथी युवा मंडल, ग्राम पंचायत आदि द्वारा स्वागत किया गया।



Popular posts
कोरोना से कब मिलेगी पृथ्वी को निजात.... 👏👏👏 ब्यावर के एस्ट्रोलॉजर दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी .... गुरु हस्ती कृपा से ग्रहों के अनुसार पृथ्वी पर आने वाले अगले लगभग 175 दिनों तक यानी 23 सितंबर 2020 तक विश्व के कई देशों में कोरोना जैसे वायरस या अन्य तरह के कई वायरसों से या प्राकृतिक आपदाओं से या युद्ध से तबाही होने के संकेत परंतु भारत को आने वाले लगभग 90 दिनों तक बेहद संभलकर चलने की जरूरत यानी लगभग 06 जुलाई 2020 तक भारत इस वायरस पर पूरी तरह से अंकुश लगाने में हो जाएगा कामयाब , इसके अलावा 29 अप्रैल 2020 को पृथ्वी के पास से गुजरने वाले एस्टरॉयड से नहीं होगा दुनिया का अंत , कहते हैं ब्रह्मांड में कोई ईश्वरीय शक्ति मौजूद है , यदि नाहटा के बताए गए मंत्रों को पूरे भारतवासी कर गए तो नाहटा का मानना है कि जल्दी ही आज से 40 दिनों के भीतर यानी 14 मई 2020 तक भारत इस वायरस पर काबू पाने में सफल हो जाएगा और इन मंत्रों को करने वालों को यह वायरस छू भी नहीं सकेगा , इसके अलावा देश सेवा हेतु लोक कल्याण की भावना के उद्देश्य से नाहटा पूरे देशभर की जनता को हिम्मत देने हेतु यानी देशभर की जनता का मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से 06 अप्रैल 2020 से ज्योतिष के माध्यम से नाहटा बिल्कुल निशुल्क रूप से प्रतिदिन लोक डाउन तक देशभर की जनता के द्वारा पूछे गए दो सवालों का जवाब देंगे एवं नाहटा ने भारत सरकार को दिए सात नए सुझाव , इस एप्स में जानिए पूरी डिटेल्स .....
Image
ऑरा ने इंदौर में नए स्टोर के साथ अपनी खुदरा उपस्थिति का विस्ताकर किया भारत की प्रमुख डायमंड ज्वैलरी रिटेल चेन ने इंदौर में अपना नया स्टोर लॉन्च किया
फीमेल एम्प्लॉयीज़ को मेंस्ट्रुअल लीव देने वाला मध्य भारत का पहला स्टार्टअप
Image
लाख तरक्की के बावजूद हम बुजुर्गों का ख्याल रखने में पीछे हैं- अतुल मलिकराम
Image
बाबा बैजनाथ महादेव का आज का संध्या श्रृंगार दर्शन
Image