इसे कहते है अनदेखी:चार साल से धूल खा रहा था मरच्र्युरी फ्रीज, अब जिला अस्पताल में रात को भी रखे जा सकेंगे शव



आगर-मालवा- 4 साल से धूल खा रहे मरच्र्युरी फ्रीज का उपयोग अब हो पायेगा। रोकस सदस्य अगर ध्यान नहीं देते तो पता नहीं कितने समय तक इस सुविधा से जिला अस्पताल मोहताज रहता। 
नवनियुक्त रोकस सदस्य अंकुश भटनागर ने शब्द संचार को बताया कि जिला अस्पताल में करीब 4 साल पहले मरच्र्युरी फ्रीज आया था। पुराने भवन में इस फ्रीज का कभी उपयोग ही नहीं हो पाया। रात के समय आने वाले शव बिना फ्रीज के ही रखे रहते थे या फिर अस्पताल में शव रखे ही नहीं जाते थे। इसी बीच सिंहस्थ 2016 में उपयोग हेतु यह फ्रीज उज्जैन भेज दिया गया। सिंहस्थ संपादन के बाद उक्त फ्रीज आगर भी आ गया और जिला अस्पताल का कामकाज बडौद रोड स्थित नवीन भवन में शुरू हो गया लेकिन मरच्र्युरी फ्रीज का उपयोग शुरू नहीं हो सका। मंगलवार को रोकस सदस्य श्री भटनागर जिला अस्पताल पहुंचे और उन्होंने अधिकारियों से चर्चा कर फ्रीज के उपयोग को शुरू करवाने की बात कही। फ्रीज को मरचुरी रूम में शिफ्ट कर दिया गया है। अब टेक्नीशियन द्वारा इसे शुरू किये जाने की देर है। मरच्र्युरी रूम में फ्रीज शुरू होने के बाद रात को भी शव रखे जा सकेंगे।