बेजुबान पशु पक्षियों के रहनुमा बने खण्डेलवाल दंपत्ति

आगर मालवा-पूरा देश लॉकडाउन है।ऐसे में मध्यप्रदेश का 51 वा जिला आगर भी इससे अछूता नही है। कोरोना के कहर से इंसान ही नही बेजुबान पशु पक्षी भी आहत है। गरीब और जरूरतमंदों के लिए तो प्रशासन सहित स्वयंसेवी संस्थाएं लगातार मदद के लिए आगे आ ही रही हैं। लेकिन इन बेजुबानो की  चिंता करने वाले जन सेवक भी पीछे नही है।
 कोरोना के कहर के सभी बेबस व लाचार है। गायो,बंदरो व अन्य बेजुबान पशु पक्षियों के सामने भी संकट खड़ा हो गया है। आगर निवासी संतोष खंडेलवाल व उनकी पत्नी  न केवल गायों के भोजन का इंतजाम कर रहे है बल्कि रोजाना बंदरो व पक्षियों के लिए भी दाना पानी की व्यवस्था कर रहे है।  बैजनाथ महादेव मन्दिर के आसपास बंदरों का झुंड भोजन के लिए बहुत हद तक श्रद्धालु और वहां के पंडे और पुजारियों पर आश्रित है। यहां आने वाले लोग इन बंदरो को रोजाना कुछ न कुछ खाने को उपलब्ध करा देते थे, लेकिन लॉकडाउन के कारण पिछले 20 दिनों से लगभग मंदिर पूरी तरह से बंद है। ऐसे बंदरो को भूखा रहना पड़ रहा था।प्रतिदिन मंदिर में दर्शन के लिए आने वाले संतोष खंडेलवाल और उनकी पत्नी को जब इन व्याकुल बंदरो की जानकारी लगी तो इन्होंने इन बंदरो की भूख मिटाने की व्यवस्था की। खंडेलवाल दंपति बंदरो के लिए चने, सोयाबीन आदि रात में पानी मे भिगो देते है और रोज सुबह इन्हें मंदिर परिसर में लेकर पहुंच जाते हैं।अपने हाथों से इन बंदरो को भरपेट भोजन कराते है। खंडेलवाल दंपति की सेवा की मुहिम इन बंदरों तक ही सीमित नहीं है बल्कि यह बेसहारा गायों की भी उतनी ही सेवा कर रहे है।यह दंपति सुसनेर मार्ग स्थित अपने कंचन वेयर हाऊस पर रोज  गायों को भरपेट चारा, भूसा, चापड़ उपलब्ध करा रहे हैं।इसके साथ ही इनके पानी का भी प्रबंध इन्होंने किया हुआ है।पक्षियों के लिए दाना डालना भी इनकी दिनचर्या का हिस्सा है


Popular posts
लाख तरक्की के बावजूद हम बुजुर्गों का ख्याल रखने में पीछे हैं- अतुल मलिकराम
Image
कोरोना से कब मिलेगी पृथ्वी को निजात.... 👏👏👏 ब्यावर के एस्ट्रोलॉजर दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी .... गुरु हस्ती कृपा से ग्रहों के अनुसार पृथ्वी पर आने वाले अगले लगभग 175 दिनों तक यानी 23 सितंबर 2020 तक विश्व के कई देशों में कोरोना जैसे वायरस या अन्य तरह के कई वायरसों से या प्राकृतिक आपदाओं से या युद्ध से तबाही होने के संकेत परंतु भारत को आने वाले लगभग 90 दिनों तक बेहद संभलकर चलने की जरूरत यानी लगभग 06 जुलाई 2020 तक भारत इस वायरस पर पूरी तरह से अंकुश लगाने में हो जाएगा कामयाब , इसके अलावा 29 अप्रैल 2020 को पृथ्वी के पास से गुजरने वाले एस्टरॉयड से नहीं होगा दुनिया का अंत , कहते हैं ब्रह्मांड में कोई ईश्वरीय शक्ति मौजूद है , यदि नाहटा के बताए गए मंत्रों को पूरे भारतवासी कर गए तो नाहटा का मानना है कि जल्दी ही आज से 40 दिनों के भीतर यानी 14 मई 2020 तक भारत इस वायरस पर काबू पाने में सफल हो जाएगा और इन मंत्रों को करने वालों को यह वायरस छू भी नहीं सकेगा , इसके अलावा देश सेवा हेतु लोक कल्याण की भावना के उद्देश्य से नाहटा पूरे देशभर की जनता को हिम्मत देने हेतु यानी देशभर की जनता का मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से 06 अप्रैल 2020 से ज्योतिष के माध्यम से नाहटा बिल्कुल निशुल्क रूप से प्रतिदिन लोक डाउन तक देशभर की जनता के द्वारा पूछे गए दो सवालों का जवाब देंगे एवं नाहटा ने भारत सरकार को दिए सात नए सुझाव , इस एप्स में जानिए पूरी डिटेल्स .....
Image
ऑरा ने इंदौर में नए स्टोर के साथ अपनी खुदरा उपस्थिति का विस्ताकर किया भारत की प्रमुख डायमंड ज्वैलरी रिटेल चेन ने इंदौर में अपना नया स्टोर लॉन्च किया
Koo (कू) बना सार्वजनिक क्षेत्र में एमिनेंस मानदंड शेयर करने वाला पहला भारतीय सोशल नेटवर्क
Image
फीमेल एम्प्लॉयीज़ को मेंस्ट्रुअल लीव देने वाला मध्य भारत का पहला स्टार्टअप
Image