विश्व मलेरिया दिवस मनाया गया

आगर-मालवा-विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर शनिवार को सीएमएचओ कार्यालय परिसर में सोशल डिस्टेसिंग के पालन करते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा ‘‘मलेरिया को शून्य स्तर तक मेरे द्वारा पहुचाया जायेगा’’ थीम पर एक सभा आयोजित की गई। जिसमें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. विजय कुमार सिंह एवं जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती प्रेमलता डाबी द्वारा मलेरिया के बारे में जानकारी दी गई। इस अवसर पर जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. अरविंद विश्नार, जिला टीकाकरण अधिकारी, डाॅ. राजेश गुप्ता, जिला मिडिया अधिकारी  आर.सी. ईरवार एवं समस्त स्टाॅफ कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी उपस्थित रहें। 
  उल्लेखनीय है कि 25. अप्रैल को विश्व मलेरिया दिवस के रूप में मनाया जाता है। आज जहां संपूर्ण विश्व कोराना रोग कोविड-19 से ग्रसित होकर उसके संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम में व्यस्त है।  परंतु इस समय हमें यहां यह भी ध्यान रखना चाहिये कि आने वाले समय में मलेरिया रोग का संक्रमण काल शुरू होने वाला है। यदि हमने समय रहते आवश्यक सावधानियां नहीं रखी तो यह भी हमारे लिये किसी विशाल चुनौती से कम नहीं होगा।  इस समय भी लाॅकडाउन के दौरान हम सभी घरों में अपना अधिकतम समय व्यतीत कर रहें हैं तो आवश्यक है कि सोने के लिये हम मच्छरदानी का उपयोग करें। घरों में मच्छर निरोधक जालियो का उपयोग करे। मच्छर निरोधी क्रीम, लोशन, पेम्परमिंट, मैरिगोल्ड, बेसिल इत्यादि का प्रयोग करें। घरों के आस-पास सफाई रखें, अनावश्यक पानी जमा नहीं होने दें। अपने घरों में घर की छत पर रखे अनुपयोगी वस्तुएं जैसे डब्बे, फूलदान, टायर, बर्तन इत्यादि की नियमित सफाई करें। उन्हें इस प्रकार रखें कि इनमें पानी ना जमा हो पाये। पानी की टंकियों के ठक्कन लगाये पानी के बर्तन ढ़क कर रखें।  कोई भी बुखार मलेरिया हो सकता है। अतः बुखार आने पर तुरंत खून की जांच कराए और अगर जांच में मलेरिया पाॅजिटिव निकलता है तो आशा या चिकित्सक द्वारा दिये गये उपचार को बिना भूले निर्धारित दिनों तक ले। हाँ एक महत्वपूर्ण बात जरूर याद रखें कि गर्भवती महिलाओं और 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को मलेरिया का विशेष खतरा होता है अतः इनका विशेष ध्यान रखें और रोजाना मच्छरदानी में अवश्य सुलायें।


Popular posts from this blog

रविवार से लापता युवक का शव मिला:तहकीकात जारी

फिल्मी स्टाईल में सनसनीखेज वारदात:सराफा बाजार में बंदुकधारी बदमाशों ने सब्बल से ताले तोड़े और बोरो में भरकर ले गए जेवरात

जंगल मे पड़ा हुवा था खून से सना हुवा शव: चरवाहे की हत्या की आशंका:पुलिस कप्तान ने किया घटना स्थल का निरीक्षण