उज्जैन संभाग के संचालक ने किया जिला अस्पताल का निरीक्षण

आगर-मालवा- कोरोना वायरस के संभावित मरीजों की पूर्व तैयारियों को लेकर जिला चिकित्सालय आगर में की गई व्यवस्थाओं का गुरूवार को क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवाएं उज्जैन डाॅ लक्ष्मी बघेल एवं संयुक्त संचालक डाॅ. अनुसुईया गवली (सिन्हा) ने निरीक्षण किया। 


इस अवसर पर संभागीय सांख्यिकी अधिकारी विजय गोठवाल, सीएमएचओ डाॅ. विजय कुमार, सिविल सर्जन डाॅ. एसके पालीवाल, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. अरविन्द विश्नार, डाॅ डीएस परमार, जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ. राजेश गुप्ता, जिला मीडिया अधिकारी आरसी ईरवार, जिला मलेरिया अधिकारी प्रेमलता डाबी, डाॅ. संदीप नाहटा, एपिडीमोलाॅजिस्ट डाॅ. महेन्द्र यादव, डीपीएम राकेश चैहान आदि मौजूद रहै।


 


    क्षेत्रीय संचालक डाॅ. बघेल ने जिला चिकित्सालय के ट्रामा सेंटर में स्थापित कोरोना उपचार केन्द्र (डीसीएचसी) का निरीक्षण कर व्यवस्था देखी गई। सेंटर में आईसीएमआर गाईडलाईन की अनुसार पलंग व्यवस्था, प्रत्येक बेड के पास आवश्यक सामग्री, वार्ड में टाॅयलेट की स्थिति, प्रत्येक बैड के पास सैनेटाईजर एवं पेयजल की व्यवस्था, खाने की सामग्री, वार्ड में मरीजों के उपयोगार्थ अलग से कंघा, साबुन, की व्यवस्था एवं प्रत्येक आईसोलेशन वार्ड में मरीजों के मनोरंजन हेतु टीवी आदि की व्यवस्थाओं के संबंध हेतु सीएमएचओ एव सिविल सर्जन को अवगत कराया गया। डीसीएचसी सेंटर में पलंग एवं साफ-सफाई व्यवस्था संतोषजनक होने पर क्षेत्रीय संचालक एवं संयुक्त संचालक स्वास्थ्य सेवाएं द्वारा सीएमएचओ एवं सिविल सर्जन की सराहना की गई। 


  क्षेत्रीय संचालक ने जिला चिकित्सालय में स्थापित फीवर क्लीनिक का निरीक्षण करते हुए कहा कि फीवर क्लीनिक में आने वाले मरीजों की सुविधा एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने हेतु टीनशेड लगवाएं तथा क्लीनिक के अंदर पृथक से दो काउन्टर एक परीक्षण एवं एक दवा वितरण के लिए बनाए। फीवर क्लीनिक हवादार न रहे, जिससे संक्रमण का खतरा न हो। उन्होंने कहा कि अस्पताल के मेन गेट पर दो सुरक्षा कर्मी तैनात करें, ताकि सर्दी, खांसी एवं बुखार के मरीजों अस्पताल में प्रवेश न करते हुए सीधे फीवर क्लीनिक पर जाएं। 


  क्षेत्रीय संचालक द्वारा कोरेंटाईन सेंटर शासकीय महाविद्यालय बालिका छात्रावास, शासकीय पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक बालिका छात्रावास, सिनीयर बालिका प्री मैट्रिक छात्रावास का निरीक्षण किया एवं निर्देश दिए कि प्रत्येक सेंटर पर एक-एक मेडिकल ऑफिसर को नोडल अधिकारी नियुक्त कर एक-एक डाटा इन्ट्री ऑपरेटर की नियुक्ति करें। इन सेंटरों की नम्बरिंग की जाए। उन्होंने कोरंटाईन सेंटरों में जरूरी प्रचार सामग्री भी चस्पा करवाने हेतु जिला मीडिया अधिकारी को निर्देश दिए।  


  निरीक्षण उपरांत क्षेत्रीय संचालक द्वारा जिला चिकित्सालय के समस्त चिकित्सकों, प्रोग्राम ऑफिसर की बैठक आयोजित की। उन्होंने बैठक में कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित राष्ट्रीय कार्यक्रम प्रभावित न हो, इसके लिए संबंधित कोरोना के नियंत्रण कार्य के साथ-साथ इन कार्याें पर ध्यान केन्द्रीत कर लक्ष्यों की पूर्ति करें। विभाग द्वारा जो भर्ती आवेदन आमंत्रित किए गए है। उनके लिए छानबीन समिति का गठन कर योग्य उम्मीदवारों का चयन की प्रक्रिया पूरी की जाए। 


 


सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भी देखी व्यवस्था


 क्षेत्रीय संचालक ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नलखेड़ा का भी निरीक्षण किया। उन्होंने नलखेड़ा में कोरोना वायरस के नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु की गई पूर्व तैयारियों का जायजा लेकर वायरस से निपटने के लिए चिकित्सालय में सभी पुख्ता इंतजाम रखने के निर्देश बीएमओ को दिए। 


 


Popular posts
अजय झंजी जिला प्रेस क्लब के निर्विरोध अध्यक्ष बने
Image
👹 *तिरिभिन्नाट एक्सप्रेस* 👹 *जानू मेरी जानेमन,दिल तुझे दिया है..बचपन का प्यार मेरा भूल नही जाना रे- आपका कोरोना*
Koo (कू) बना सार्वजनिक क्षेत्र में एमिनेंस मानदंड शेयर करने वाला पहला भारतीय सोशल नेटवर्क
Image
लाख तरक्की के बावजूद हम बुजुर्गों का ख्याल रखने में पीछे हैं- अतुल मलिकराम
Image
ऑरा ने इंदौर में नए स्टोर के साथ अपनी खुदरा उपस्थिति का विस्ताकर किया भारत की प्रमुख डायमंड ज्वैलरी रिटेल चेन ने इंदौर में अपना नया स्टोर लॉन्च किया