एजीईएल ने उत्तर प्रदेश में 100 मेगावाट सोलर पॉवर प्लांट्स को निर्धारित समय से पहले चालू किया
कोविड-19 के बीच प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद अपनी मजबूत कार्यान्वयन क्षमता का प्रदर्शन करते हुए, अदाणी सोलर एनर्जी फोर प्राइवेट लिमिटेड (‘एएसई4पीएल’) ने प्लांट को कमीशन करने की निर्धारित तिथि से पहले ही, 2x50 मेगावाट सोलर पावर प्लांट्स का परिचालन शुरू किया। · इन प्लांट्स के लिए उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (“यूपीपीसीएल”) के साथ 25वर्षों का पावर परचेज अग्रीमेंट (“पीपीए”) किया गया है, और प्रत्येक एग्रीमेंट 3.22 रुपये/किलोवाट आवर और 3.19 रुपये/किलोवाट आवर की दर से किया गया है। · इसके साथ ही, अदाणी ग्रीन एनर्जी की कुल परिचालन रिन्यूएबल क्षमता 3,245 मेगावाट तक हो गई है, जो कंपनी को 2025 तक 25 गीगावाट क्षमता के उनके दृष्टिकोण के और करीब ले जाता है। अहमदाबाद, 1 फरवरी, 2021: अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (‘एजीईएल’) की सहायक कंपनी एएसईए4पीएल ने उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले के जलालाबाद और बदायूं जिले के सहसवान में 100 मेगावाट (2x50 MW) सोलर पावर प्लांट्स चालू किया। विशेषज्ञों की हमारी टीम ने प्लांट्स के चालू होने की निर्धारित तारीख से लगभग 1 महीने पहले इसे चालू कर दिया है। दोनों प्लांट्स के लिए उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (‘यूपीपीसीएल’) के साथ 25 साल की अवधि के लिए 3.22रुपये/किलोवाट आवर और 3.19रुपये/किलोवाट आवर की दर से पावर पर्चेज अग्रीमेंट (पीपीए) हुआ है। एजीईएल का एनर्जी नेटवर्क ऑपरेशन सेंटर ('ईएनओसी') प्लेटफॉर्म, जिसने भारत में विभिन्न स्थानों पर स्थापित हमारे पूरे सोलर और विंड प्लांट्स के बेहतर ऑपरेशनल परफॉरमेंस को हासिल करने में सहायता प्रदान की है, लगातार परफॉरमेंस देने के लिए इन दो कमीशन किये गये सोलर पावर के लिए भी सहायता प्रदान करेगा। इसके साथ, हमने चुनौतीपूर्ण वैश्विक महामारी कोविड-19का संकट के शुरुआत में ही 700 मेगावाट क्षमता की क्षमता हासिल कर लिया था। यह2025 तक 25 गीगावॉट क्षमता के अपने दृष्टिकोण को साकार करने की दिशा में, एजीईएल की14,815 मेगावाट के कुल रिन्यूएबल पोर्टफोलियो की संतोषजनक उपलब्धि को दर्शाता है। इस प्रगति पर बात करते हुए, अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड के एमडी और सीईओ, श्री विनीत एस. जैन ने कहा कि “हमारी टीम की प्रतिबद्धता और काफी ध्यानपूर्वक आपूर्ति करने की क्षमता के साथ, कंपनी की 3 साल की एडवांस्ड साइट रिसोर्स एस्टिमेशन, डिजाइन प्लानिंग, सप्लाई चेन एश्योरेंस, ने हमारे लिए निर्धारित समय से पहले ही परियोजनाओं के कार्यान्वयन को संभव बना दिया। यह प्लांट्स के कार्यान्वयन और संचालन में हमारी विशेषज्ञता की भी पुष्टि करता है। इसके साथ ही, हम रणनीतिक दृष्टिकोण और परिचालन उत्कृष्टता के जरिये 2025 तक 25 गीगावॉट की रिन्यूएबल क्षमता हासिल करने के लिए अपनी दीर्घकालिक सोच के प्रति अपनी प्रगति को मजबूती से जारी रखे हुए हैं।” अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड के बारे में अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) भारत स्थित अदाणी ग्रुप का एक हिस्सा है, जिसके पास निवेश-ग्रेड के समकक्षों की जरूरतों को पूरा करने वाले ऑपरेटिंग, निर्माणाधीन और अवार्डेड प्रोजेक्ट के 14,815 गीगावाट से अधिक वाले बड़े वैश्विक रिन्यूएबल पोर्टफोलियो में से एक है। कंपनी यूटिलिटी-पैमाने पर ग्रिड से जुड़े सौर और पवन कृषि परियोजनाओं का विकास, निर्माण, स्वामित्व, संचालन और रखरखाव करती है। एजीईएल के प्रमुख ग्राहकों में नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) और सोलर एनर्जी कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया (एसईसीआई) और विभिन्न राज्यों के डिस्कॉम शामिल हैं। 2018 में सूचीबद्ध, एजीईएल आज 21.53 बिलियन अमेरिकी डॉलर की मार्केट कैप कंपनी है, जो भारत को इसके सीओपी21 लक्ष्यों को पूरा करने में मदद करती है। इस वर्षअमेरिका स्थित थिंक टैंक, मेरकॉम कैपिटल, ने अदाणी ग्रुप को #1वैश्विक सौर ऊर्जा उत्पादन परिसंपत्ति का स्वामित्व रखने वाली कंपनी का दर्जा दिया है।अधिक जानकारी के लिए वेबसाइट www.adanigreenenergy.com देखें।
Popular posts
नलखेड़ा की मस्जिद में छुपे थे दिल्ली के 1 दर्जन लोग:पुलिस ने छापा मारकर पकड़ा:FIR दर्ज
कोरोना से कब मिलेगी पृथ्वी को निजात.... 👏👏👏 ब्यावर के एस्ट्रोलॉजर दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी .... गुरु हस्ती कृपा से ग्रहों के अनुसार पृथ्वी पर आने वाले अगले लगभग 175 दिनों तक यानी 23 सितंबर 2020 तक विश्व के कई देशों में कोरोना जैसे वायरस या अन्य तरह के कई वायरसों से या प्राकृतिक आपदाओं से या युद्ध से तबाही होने के संकेत परंतु भारत को आने वाले लगभग 90 दिनों तक बेहद संभलकर चलने की जरूरत यानी लगभग 06 जुलाई 2020 तक भारत इस वायरस पर पूरी तरह से अंकुश लगाने में हो जाएगा कामयाब , इसके अलावा 29 अप्रैल 2020 को पृथ्वी के पास से गुजरने वाले एस्टरॉयड से नहीं होगा दुनिया का अंत , कहते हैं ब्रह्मांड में कोई ईश्वरीय शक्ति मौजूद है , यदि नाहटा के बताए गए मंत्रों को पूरे भारतवासी कर गए तो नाहटा का मानना है कि जल्दी ही आज से 40 दिनों के भीतर यानी 14 मई 2020 तक भारत इस वायरस पर काबू पाने में सफल हो जाएगा और इन मंत्रों को करने वालों को यह वायरस छू भी नहीं सकेगा , इसके अलावा देश सेवा हेतु लोक कल्याण की भावना के उद्देश्य से नाहटा पूरे देशभर की जनता को हिम्मत देने हेतु यानी देशभर की जनता का मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से 06 अप्रैल 2020 से ज्योतिष के माध्यम से नाहटा बिल्कुल निशुल्क रूप से प्रतिदिन लोक डाउन तक देशभर की जनता के द्वारा पूछे गए दो सवालों का जवाब देंगे एवं नाहटा ने भारत सरकार को दिए सात नए सुझाव , इस एप्स में जानिए पूरी डिटेल्स .....
Image
पहले बैठक कर बनाई घेराव की रणनीति ,बाद में फूंका पुतला
Image
अहिरबर्डिया के बाद लोटियाकिशना में पड़ा छापा: 510 लीटर शराब व 2 हजार 500 किग्रा महुआ लहान बरामद
Image
हाई स्कूल बापचा बडौद की कक्षा 10वी के छात्र- छात्राओं का दिक्षांत समारोह आयोजित
Image