मैरिको लिमिटेड ने भारत में 2,000 से अधिक महिलाओं का कौशल बढ़ाने और उन्हेंम सशक्त करने के लिये आईसीटी एकेडमी के साथ भागीदारी की

भारत की प्रमुख एफएमसीजी कंपनियों में से एक, मैरिको लिमिटेड ने आईसीटी एकेडमी के साथ साझीदारी की है ताकि अपनी डिजिटल महिला आर्थिक पहल को आगे बढ़ाया जा सके। इस पहल का लक्ष्य स्नातक कर रही महिलाओं को उद्योग-संबंधी कौशल सिखाना और उन्हें रोजगार के लिये तैयार करना है। इस साझीदारी के साथ, मैरिको लिमिटेड और आईसीटी एकेडमी ने 25 कॉलेजों में सेंटर फॉर वुमन एम्पावरमेंट की स्थापना की है। यह  सेंटर्स दिल्ली, हरियाणा, चंडीगढ़, उत्तरप्रदेश और राजस्थान के कॉलेजों में पढ़ रहीं 2000 महिलाओं को प्रशिक्षित करने के लिए तैयार हैं। 


समुदायों में समावेशी और सतत विकास की अपनी प्रतिबद्धता के अनुरूप, मैरिको लिमिटेड, आईसीटी एकेडमी के साथ साझेदारी में उच्च शिक्षा संस्थानों से स्नातक होने वाली महिलाओं को आईटी और बीएफएसआई क्षेत्रों के लिये नौकरी-विशिष्ट कौशल हासिल करने में सक्षम बना रहा है। विद्यार्थियों को डेटा एनालिटिक्स, पायथन प्रोग्रामिंग, क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर और सेवाओं और बैंकिंग और वित्तीय साक्षरता जैसे कौशल पर प्रशिक्षित किया जायेगा। यह प्रशिक्षण वर्चुअल मोड के जरिये 75 घंटे के लिये दिया जाएगा, इसके बाद प्रमाणित उम्मीदवारों के लिये विशेषज्ञ सलाह और प्लेसमेंट की सुविधा होगी। भविष्य में कार्यक्रम की स्थिरता बनाये रखने के लिये, मेजबान संस्थानों के फैकल्टी मेंबर्स को प्रशिक्षित किया जाएगा। इस अपस्किलिंग पहल से महिलाओं को सुरक्षित नौकरियों में मदद कर इंक्रीमेंटल इनकम में लगभग 12 करोड़ रुपये जुड़ने की उम्मीद है।


इस साझेदारी का उद्घाटन 25 सितंबर 2021 को एक वेबिनार के माध्यम से किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में भारत सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सचिव श्री इंदेवर पांडे और एसोसिएशन ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटीज (एआईयू) के महासचिव डॉ. पंकज मित्तल, विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल हुए। वेबिनार में वक्ताओं में श्री प्रबोध हल्दे, प्रमुख - तकनीकी नियामक मामले, मैरिको लिमिटेड और डॉ. बी अंबुथांबी, प्रेसिडेंट, आईसीटी एकेडमी, श्री बी. राघव श्रीनिवासन, प्रमुख- कॉर्पोरेट और सरकारी पहल, आईसीटी एकेडमी मॉडरेटिंग, शामिल थे।


आईसीटी एकेडमी के साथ साझीदारी के बारे में, उदयराज प्रभु, एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट बिजनेस प्रोसेस, ट्रांसफॉर्मेशन, आईटी एवं हेड सीएसआर, मैरिको लिमिटेड ने कहा, “मैरिको लिमिटेड में हमने हमेशा इससे जुड़े लोगों के जीवन में बदलाव लाने का प्रयास किया है, जैसा कि हमारे मूल सिद्धांतों में परिभाषित है। यह हमारे ईएसजी ढाँचे के सिद्धांतों का मार्गदर्शन करता है। इस वजह से हम ऐसे अभियान चलाते हैं जो समाज पर सकारात्मक प्रभाव के साथ ही समुदाय पर व्यापक प्रभाव डाल सके। आईसीटी एकेडमी के साथ इस साझीदारी का हमारा मकसद हमारी डिजिटल महिला आर्थिक सशक्तिकरण पहल को आगे ले जाना है ताकि पूरे भारत भर में 2000 महिलाओं को उन स्किल्स के साथ सशक्त बनाया जा सके, ताकि वे अपने पेशेवर जरूरतों को समझ सकें।”


डॉ. बी अंबुथांबी, प्रेसिडेंट, आईसीटी एकेडमी का कहना है, “इस दुनिया में आर्थिक विभाजन हर विकासशील देश के लिये एक बड़ी चुनौती है। बढ़ती प्रौद्योगिकी और विनाशकारी घटनाएं ध्रुवीकरण का और विस्तार करती हैं और सभी के लिये शिक्षा, लैंगिक समानता, टेक्नोनलॉजी तक पहुँच आदि के मामले में सामाजिक मुद्दे पैदा करती हैं। समय पर मदद देने से, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करके, भविष्य के कार्यबल के कौशल को बढ़ाकर और नागरिकों के डिजिटल कौशल में सुधार करके विभाजन को संतुलित करने में मदद मिलेगी। छात्राओं को लक्षित करने वाले महत्वपूर्ण कार्यक्रम को लागू करने में सहयोग देने के लिये हम मैरिको लिमिटेड को धन्यवाद देते हैं। आईसीटी एकेडमी का ध्यान मुख्य रूप से संकाय विकास और विद्यार्थी कौशल विकास पर केंद्रित है। मेरा मानना है कि इससे समाज में हजारों वंचित महिलाओं के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।”


मैरिको लिमिटेड की डिजिटल महिला आर्थिक सशक्तिकरण पहल की घोषणा जुलाई 2021 में विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर की गयी थी। संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) के साथ-साथ अन्य कार्यान्वयन भागीदारों के साथ मिलकर देश भर में 12,000 से अधिक महिलाओं और युवाओं को डिजिटल रूप से प्रशिक्षित करने के साथ ऐसा किया गया है। इसे प्रभावशाली अपस्किलिंग पहलों के माध्यम से अंजाम दिया गया। यह व्यापक परियोजना व्यक्तियों को कौशल-आधारित नौकरियों को सुरक्षित करने के लिये सशक्त बनायेगी। साथ ही महिलाओं और युवाओं को 7,000 नौकरियों को सुरक्षित करने में मदद करके वृद्धिशील आय (इंक्रीमेंटल इनकम) में लगभग 31 करोड़ रुपये जोड़ने की उम्मीद है। आईसीटी एकेडमी के साथ साझीदारी में, मैरिको लिमिटेड का लक्ष्य इस पहल को और आगे ले जाना है।


मैरिको लिमिटेड के बारे में

मैरिको (BSE: 531642, NSE: “MARICO”) वैश्विक सौंदर्य एवं स्वा स्य्रय  के क्षेत्र में भारत की अग्रणी उपभोक्ताि उत्पा6द कंपनियों में से एक है। वित्तीैय वर्ष 2020-21 के दौरान मैरिको ने भारत में और एशिया तथा अफ्रीका के चुनिंदा बाजारों में बेचे गये अपने उत्पाेदों से लगभग 80.5 बिलियन रूपये (1.1 बिलियन अमेरिकी डॉलर) का टर्नओवर दर्ज किया था।


प्रत्ये क 3 में से 1 भारतीय मैरिको के ब्रैंड पोर्टफोलियो, जैसे कि पैराशूट, सफोला, सफोला फिटिफाय गौरमेट, सफोला इम्युचनिवेदा, सफोला आरोग्यभम, सफोला मीलमेकर,  हेयर एंड केयर,  पैराशूट एडवांस्डस, निहार नैचुरल्स , मेडिकर, कोको सोल, रिवाइव, सेट वेट, लिवॉन, और बीयरडो के माध्यम से इसके साथ जुड़ा है। अंतर्राष्ट्रीेय उपभोक्ता् उत्पा दों का पोर्टफोलियो इस समूह के राजस्व  में लगभग 23% योगदान देता है। इस पोर्टफोलियो के ब्राण्डा हैं पैराशूट, पैराशूट एडवांस्ड , हेयरकोड, फियांसी, काइविल, हरक्यूललिस, ब्लै।क चिक, कोड 10, इंगवे, एक्सण-मेन, मेडिकर सेफलाइफ, थुआन फाट और आइसोप्ललस।


आईसीटी एकेडमी के विषय में 

आईसीटी एकेडमी उच्च शिक्षा प्रदान करने वाले शिक्षकों और विद्यार्थियों को प्रशिक्षित करने के लिये राज्य सरकारों और उद्योगों के सहयोग से भारत सरकार की एक पहल है। इससे अगली पीढ़ी के शिक्षकों और उद्योग के लिये तैयार विद्यार्थियों का विकास होता है। आईसीटी एकेडमी को उद्योग की कौशल आवश्यकताओं को पूरा करने और विशेष रूप से देश के ग्रामीण हिस्सों में टियर 2 और 3 शहरों में अधिक रोजगार पैदा करने के लिये शुरू किया गया था। पिछले 12 वर्षों में, आईसीटी एकेडमी ने भारत में टैलेंट पूल की अगली पीढ़ी विकसित करने के लिये शिक्षा पारिस्थितिकी तंत्र के प्रत्येक हितधारक को हर पहलू पर एक संपूर्ण सेवा प्रदान की, ताकि उन्हें उद्योग के लिये तैयार कर्मचारी, इनोवे, उद्यमी और लीडर बनाया जा सके।

Popular posts from this blog

रविवार से लापता युवक का शव मिला:तहकीकात जारी

फिल्मी स्टाईल में सनसनीखेज वारदात:सराफा बाजार में बंदुकधारी बदमाशों ने सब्बल से ताले तोड़े और बोरो में भरकर ले गए जेवरात

सनसनीखेज अंधे कत्ल का पर्दाफाश:प्रेम संबंध के कारण पत्नी के जियाजी को उतारा था मौत के घाट:सुहागरात के दिन ही मृतक ने आरोपी से कहा था उससे दूर रहना