कोविड टीकाकरण लक्ष्य प्राप्ति में आगर जिला प्रदेश में नंबर वन: सीएमएचओ ने की प्रेसवार्ता

 आगर-मालवा- आगर जिले में 16 जनवरी 2021 से कोविड टीकाकरण अभियान कलेक्टर अवधेश शर्मा के नेतृत्व में शुरू किया गया था। जिसमें शासन से प्राप्त लक्ष्य अनुसार जिला आगर ने प्रथम डोज में मध्यप्रदेश में तीसरा स्थान एवं द्वितीय डोज में प्रथम स्थान प्राप्त कर लिया है। जिले ने द्वितीय डोज लगाने में शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर लिया है। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एसएस मालवीय ने बुधवार को मोन्टो होटल मे आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान दी। उन्होंने टीकाकरण के लक्ष्य को हॉसिल करने पर जिले के समस्त नागरिक, अधिकारी-कर्मचारी, जनप्रतिनिधि के साथ ही पत्रकारों द्वारा किए गए सकारात्मक सहयोग पर धन्यवाद ज्ञापित किया। 

प्रेस कान्फ्रेंस में जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. राजेश गुप्ता ने जानकारी दी कि जिले में द्वितीय डोज 441792 लगाए गए है। जिले में प्रथम एवं द्वितीय डोज कुल 883781 लगाये है। प्रथम डोज में आगर मालवा जिला तीसरे स्थान पर एवं द्वितीय डोज में प्रथम स्थान प्रदेश में हॉसिल किया है। अब राज्य स्तर से इसकी घोषणा होना बाकी है। टीकाकरण अधिकारी ने इस उपलब्धि पर सभी विभागो के अधिकारी एवं कर्मचारियों का सहयोग पर धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने बताया कि इस लक्ष्य प्राप्ति के लिये जिले में नवाचार के रूप में रोको-टोको अभियान, टीका टेक्सी, स्कूल अभियान, नुक्कड नाटक, चौपाल पर चर्चा, क्राईसेस मेंनेजमेंट समूह द्वारा प्रयास, टैली कान्फ्रेंसिग एवं एसएमएस के माध्यम सूचना इत्यादि किए गए। जिसके परिणामस्वरूप जिला लक्ष्य प्राप्त करने में प्रदेश में अव्वल रहा। 


03 जनवरी से 15 से 18 वर्ष के विद्यार्थियों को लगेंगे टीके


जिला टीकाकरण अधिकारी ने प्रेसवार्ता में जानकारी दी कि 03 जनवरी से 15 वर्ष से 18 वर्ष के स्कूली बच्चों को स्कूलों में टीकाकरण शुरू होगा। इस लक्ष्य को प्राप्त करने में पत्रकारों का सहयोग महत्वपूर्ण है। उन्होंने अपेक्षित सहयोग उपलब्ध कराने हेतु पत्रकारों से आग्रह किया। 


दो सप्ताह की खांसी होने पर खंखार की जॉच करायें


       प्रेस वार्ता के दौरान जिला टीकाकरण अधिकारी एवं जिला क्षय अधिकारी डॉ राजेश गुप्ता ने प्रजेन्टेंशन के माध्यम से पत्रकारां को जिले में चल रहे टीबी उन्मूलन अभियान की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि टीबी एक खतरनाक बीमारी है। लेकिन इसका ईलाज संभव है। प्रतिदिन 6666 लोग देश भर में टीबी से मरते है। जिले में 6 सेंटर है जहाँ टीबी के मरीजों की जांच होती है। 4 जगह दवाइयों का वितरण होता है।आगर जिले में 1196 टीबी मरीज है।जिनमे से 2 की बीमारी गंभीर स्तर पर समय पर दवाइयां न लेने के कारण पहुँच गई है।प्रारंभिक स्तर पर टीबी के मरीजों की पहचान कर उन्हें उपचार प्रदान करने पर जल्द इस रोग को हरा सकते है। टी.बी. रोग के प्रति जन-जागृति लाने में मीडिया अपनी महत्ती भूमिका अदा करें। जिला क्षय अधिकारी ने बताया की जिला आगर टीबी नोटिफिकेशन अभियान में मध्यप्रदेश में नंबर 10 पर है। 

प्रेस वार्ता में जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ राजीव बरसेना, शहरी नेडल अधिकारी डॉ अविनाश रॉय, जिला मिडिया अधिकारी आर सी ईरवार , जिला वैक्सीन कोल्ड चेन मेनेजर अविनाश गेहलोत, डीपीसी  राजेश चतुर्वेदी एवं समस्त प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रानीक मिडिया मीडिया के पत्रकारगण उपस्थित रहे।