ऐसा रहेगा तुला राशि का वर्ष 2020

 


 


उज्जैन के पंडित दयानंद शास्त्री के अनुसार तुला राशि का स्वामी शुक्र ग्रह है। राशिचक्र में इस राशि का स्थान सातवां हैं। इस राशि व्यक्ति मनमौजी होते हैं। सभी के साथ व्यवहार बनाकर चलते हैं। ये योजनाएं बनाने में माहिर होते हैं। परंतु दूसरों को हानि न पहुंचे इसका पूरा ध्यान रखते हैं। कोई भी कार्य स्वयं के विवेक से करना पसंद करते हैं। ये लोग न्यायप्रिय होते हैं। झूठ इन्हें बर्दाश्त नहीं होता है। दूसरों की भलाई करने के लिए ये सदैव तैयार रहते हैं। अपने कार्यों के प्रति जिम्मेदार होते हैं। इस राशि की स्त्री को पति तथा पुरुष को पत्नी भाग्यशाली मिलती है।यह राशि  चित्रा नक्षत्र का तीसरे तथा चौथे चरण तथा स्वाति के चारों चरण  तथा विशाखा का प्रथम, द्वितीय और तृतीय चरण से मिलकर बनी है । इस प्रकार कुल नवांश के-9 चरण तथा प्रत्येक चरण 3 अंश  20 कला का होता है ।यह वर्ष आपकी राशि वालों के लिए आंशिक तौर पर उतार-चढ़ाव कारी स्थिति निर्मित करने वाला रह सकता है ढैय्या शनि का प्रभाव आप पर 24 जनवरी 2020 तक रहेगा जिसके परिणाम स्वरूप आप आलस्य का त्याग करेंगे, और आत्मविश्वास के साथ परिश्रम पूर्वक कार्य करते हुए आगे बढ़ेंगे ,तो निश्चित लाभ  प्राप्ति के योग बनेंगे। वैसे  तुला राशि  के स्वामी शुक्र का मित्र ग्रह शनि है। अतः चिंता की कोई बात नहीं  घबराए नहीं । अति महत्वाकांक्षा के चलते आप  पार्टनर से कार्यस्थल पर  अथवा  कार्यक्षेत्र में बदलाव   का मानस रख सकते हैं ।दिनांक 29 मार्च 2020 से 16 मई 2020 तक का समय  मानसिक दृष्टि से उतार-चढ़ाव कारी बन रहा है । क्रोध की अधिकता , कार्य में आंशिक  बाधा  धन हानि , कार्यक्षेत्र में बदनामी , पार्टनर की मनमानी,  नए व्यवसाय एवं नए रोजगार की प्राप्ति,  तकनीकी संसाधनों से लाभ,  शेयर मार्केट से लाभ, संपत्ति के मामलों में भाइयों से विरोध एवं उलझन पूर्ण स्थिति का सामना करना , मन में भय,  संशय  ,  दुविधा के साथ कारोबार में  बाधाएं और अवरोध की स्थिति का निर्मित होना । अपने तथा परायो के द्वारा ब्लैक मेल की स्थिति का निर्मित होना , प्रेम प्रसंगों में दरार अथवा मनमुटाव, अशांति व क्लेश रह सकता है । संतान को पीड़ा , कारोबार व राज पक्ष में अनुकूलता रहेगी । इस वर्ष दिनांक 16 मई 2020 से 22 जून 2020 तक 6 ग्रहों का वक्री काल आपके लिए शुभ फल देने वाला रहेगा । इस वर्ष  8 जुलाई 2020 से  3 अगस्त 2020 तक  का समय आपके लिए  शल्य चिकित्सा के योग निर्मित कर सकता है,  स्नायविक विकार, अपच से परेशानी, हैं, अपनी महत्वाकांक्षाओं पर लगाम लगाएं ,  गलत निर्णय लेने से तनाव की संभावनाएं  बनती है।


दिनाक 21 जून 2020 को घटित सूर्य ग्रहण का मध्यम परिणाम  प्राप्त होने से आपके कार्य में बाधाएं आ  सकती है ।  राजनीति से जुड़ी व्यक्ति पद प्रतिष्ठा एवं  ऊंचा पद प्राप्त कर सकते हैं । 27 सितंबर 2020 से  17 दिसंबर 2020 तक का समय आपके पक्षधर बन रहा है  इस अवधि में आपके कार्यों में प्रगति संभव है  सभी इच्छित कार्य में लाभ की संभावना बनेगी नवीन प्रोजेक्ट अथवा  नित नई नई जिम्मेदारियों से  आपका प्रभाव समाज पर गहरी छाप रखने वाला रहेगा  सामाजिक प्रतिष्ठा एवं आर्थिक उन्नति के योग बन रहे हैं। वर्ष में  मंगल  और शनि की आराधना आपको समय समय पर उपस्थित होने वाले संकटों से बचाने में सार्थक सिद्ध होगी। अथवा दुर्गा सप्तशती के सिद्ध कुंजिका स्त्रोत का पाठ करने से शांति एवं आर्थिक लाभ प्राप्त की संभावना बनेगी।



आर्थिक जीवन:


नए साल में तुला राशि वालों का आर्थिक पक्ष सामान्य रहेगा। अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने के लिए लगातार आपको प्रयास करने होंगे। कार्यक्षेत्र में आप इस साल अपनी सैलरी बढ़वाना चाहते हैं तो आपको अधिक मेहनत करने की आवश्यकता है। आपको अन्य स्रोतों से भी धन कमाने की कोशिश करनी होगी।


करियर-व्यापार:


करियर राशिफल के अनुसार तुला राशि के जातकों को इस वर्ष अच्छे परिणाम पाने के लिए जमकर मेहनत करना होगा। इस साल आपको अपनी कम्यूनिकेशन स्किल्स पर अधिक ध्यान देना होगा। इससे आप कार्यक्षेत्र में अच्छे संबंध बनाने में कामयाब होंगे और बेबाकी के साथ अपने नए विचारों को सीनियर अधिकारियों के सामने रख सकेंगे।


पारिवारिक जीवन:


साल के शुरुआत में माता-पिता की सेहत बिगड़ सकती है। इस समय आप अपने परिजनों के साथ किसी वैवाहिक समारोह में जा सकते हैं। संतान की शिक्षा एवं उसके भविष्य को लेकर थोड़े चिंतित दिखाई देंगे। हालांकि मई में संतान की ओर से कोई शुभ समाचार सुनने को मिल सकता है। साल के मध्य में रिश्तेदारों से संबंध सुधरेंगे। इस समय घर पर कोई धार्मिक आयोजन हो सकता है। साल के अंत में प्रोपर्टी को लेकर घर पर अशांति का वातावरण छा सकता है। 


स्वास्थ्य जीवन:


नया आपकी सेहत के लिए मिलाजुला रहने वाला है। इस वर्ष आपको किसी लंबी बीमारी से छुटकारा मिल सकता है। लेकिन साल के शुरुआत में आपको स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं होंगी। इस समय शारीरिक दर्द एवं पेट से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं।


उपाय:


गाय को चारा खिलाएं और अपनी कुल देवी की पूजा करें।