ऐसा रहेगा वृषभ राशि के लिए वर्ष 2020

 


उज्जैन के पंडित दयानंद शास्त्री के अनुसार वृषभ


राशि के जातक शांत और कोमल हृदय वाले होते हैं। राशिचक्र में इस राशि का दूसरा स्थान है। इस राशि का स्वामी शुक्र है। इस राशि वाले स्वभाव से अंतर्मुखी और विश्वसनीय होते हैं। ये किसी न किसी कार्य में व्यस्त रहते हैं। इन्हें परिश्रम से भय नहीं रहता है। इन्हें नृत्य गायन खेलकूल, अच्छी चीजों का संग्रह करना व पुस्तकें पढ़ना अच्छा लगता है। इस राशि वाले व्यक्ति चतुराई से अपना काम निकलवा लेते हैं। महत्वपूर्ण बातों को गुप्त रखना पसंद करते हैं। दूसरों के प्रति उदार भाव व दया भाव बना रहता है। प्रयत्न व परिश्रम को महत्व देना पसंद करते हैं। इन्हें शांति का वातावरण अच्छा लगता है। इस राशि के जातक योजनाएं बनाने में माहिर होते हैं।
वर्ष 2020 की शुरुआत के समय भाग्य के कारक शनि अपने से 12वें स्थान में होने से आपके भाग्य को थोड़ा कमजोर कर रहे हैं जिससे कि हो सकता है पिछले कुछ समय से आपके कार्य बनते-बनते अटक रहे हों। इस समय आप पर शनि की ढ़ैय्या भी चल रही है। ऐसे में आपको थोड़ा धैर्य, थोड़े विवेक से काम लेने की आवश्यकता रहेगी। क्योंकि 24 जनवरी से शनिदेव भाग्य स्थान में ही विराजमान होंगे जो कि आपके भाग्योद्य का कार्य करेंगें साथ ही आपको शनि की ढ़ैय्या से मुक्ति इस समय मिल जायेगी। इस तरह आगामी समय आपके लिये काफी सुखद रहने की उम्मीद कर सकते हैं।सितंबर के आखिर में शनि मार्गी हो जाएंगें जिससे भाग्य का फिर से  आपको साथ मिलने लगेगा। कामकाज में तेजी आएगी। अपनी कामकाजी व्यस्तता के चलते हो सकता है आप अपनी पर्सनल लाइफ की ओर थोड़ा कम ध्यान दे पाएं। हमारी सलाह है कि पर्सनल व प्रोफेशनल लाइफ में जितना हो सके संतुलन बनाकर चलें। नवंबर के उतर्राध में गुरु के मकर राशि में आते ही पुन; नीच भंग राजयोग का लाभ आपको मिलने लगेगा।


आर्थिक जीवन:


वर्ष 2020 के शुरुआत महीनों में आपकी आर्थिक योजनाएं फलीभूत होंगी। कामकाज से आमदनी में वृद्धि होगी। हालांकि उच्च शिक्षा हेतु धन ख़र्च होने की संभावना है। फरवरी में धन के मामले में सावधानी बरतें अन्यथा आपको धन हानि हो सकती है। अगर मार्च में शेयर बाजार में निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं तो सोच-समझकर करें। इस वर्ष साल के मध्य में आपको पैतृक संपत्ति मिल सकती है। सिंतबर में आपकी सैलरी में वृद्धि हो सकती है। अगर आप निवेश करना चाहते हैं तो अनुभवी व्यक्ति की सलाह लें, लाभ मिलेगा। साल के अंत में आपकी आर्थिक स्थिति बेहतर रहेगी। भौतिक सुख-संसाधनों को जुटाने में आप धन खर्च कर सकते हैं।


करियर-व्यापार:


करियर की दृष्टि से देखें तो आपके लिए नया साल बदलाव लेकर आएगा। नौकरी के अवसर आएंगे लेकिन आपको उन अवसरों के लिए तैयार रहना होगा। किसी प्रतिष्ठित संस्था से जुड़ने का मौका मिल सकता है। इस साल आपको अपने करियर में अचानक बदलाव के लिए तैयार रहना होगा। 
मार्च 2020 के महीने में आपको एक ऐसी नौकरी का ऑफर आएगा जो आपकी जिंदगी बदल सकता है। इस वर्ष आप काम के सिलसिले में विदेश भी जा सकते हैं। निसंतान दंपत्तियों को इस वर्ष संतान का सुख मिलने के पूरे योग हैं। सिंतबर महीना आपके लिए थोड़ा चुनौतीपूर्ण रहेगा। इस दौरान न ही कहीं निवेश करें और न ही कोई नई चीज खरीदें। 
अगर आप व्यापार से जुड़े हैं तो मार्च के महीने में आपके समक्ष चुनौतियां आ सकती हैं। अपने प्रतिद्वंद्वियों की चाल से बचकर रहें। अप्रैल में लंबे समय से रुके हुए कार्य गति पकड़ेंगे। इस समय आप अपने व्यापार में कोई नई डील कर सकते हैं। ध्यान रहे, कार्यक्षेत्र में उच्चाधिकारियों के समक्ष अविश्वास की स्थिति बनी रह सकती है। रचनात्मक कार्यों में मन लगेगा। साल के अंत में व्यापार में नई योजनाएं सफल होंगी। आप अपने कार्यक्षेत्र में पूरी ईमानदारी के साथ कार्य करेंगे।


पारिवारिक जीवन:


इस वर्ष आपका मधुर व्यवहार लोगों को अपनी ओर आकर्षित करेगा। आप अपनी मधुर बातों से लोगों को अपने पक्ष में करने में सफल होंगे। कामकाज में व्यस्त रहने के कारण आप अपने परिजनों को पर्याप्त समय नहीं दे पाएंगे। हो सकता है आपके परिजन आपसे इस बात की शिकायत करें। मन में माता-पिता की सेवा का भाव सदा रहेगा। उनका आशीर्वाद भी प्राप्त होगा। ससुराल पक्ष से मान-सम्मान प्राप्त होगा। परिजनों के साथ कटु शब्दों का प्रयोग न करें, इससे आपके रिश्तों में खटास आ सकती है। अप्रैल में परिजनों के साथ किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर बात हो सकती है। इस दौरान परिजनों के साथ आप अपना कीमती समय बिताएंगे। इस वर्ष आप सामाजिक कार्यों में बढ़कर हिस्सा लेंगे। इससे समाज में आपका और आपके परिवार का रुतबा बढ़ेगा। इस वर्ष आप अपने परिजनों के साथ किसी तीर्थ यात्रा पर जा सकते हैं।वैवाहिक जीवन खुशनुमा रहेगा और कोई बड़ी समस्या नहीं आएगी। ससुराल पक्ष में आपका औहदा बढ़ेगा और हर बड़े काम में आपकी राय ली जाएगी।


स्वास्थ्य:


इस वर्ष सेहत के प्रति किसी तरह की लापरवाही बिल्कुल भी न बरतें। क्योंकि आपको इसका बड़ा नुकसान हो सकता है। सेहत में उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी रहेगी। इससे आपका मन किसी एक चीज़ पर एकाग्र नहीं हो पाएगा। शरीर में नवीन ऊर्जा का संचार बना रहे इसके लिए योग व ध्यान की क्रिया अपनाएं। साल के शुरुआती महीनों में किसी के साथ फिजूल की बहस में न पड़ें। असंतुलित खानपान के चलते आपकी सेहत गड़बड़ हो सकती है। मित्रों के साथ दुख-दर्द बांटने से मन हल्का होगा। साल के मध्य में आप अपने कार्य में बिजी रहेंगे, जिसके चलते आप अपनी सेहत पर कम ध्यान दे पाएंगे। अगस्त में कोई पुराना रोग आपको परेशान कर सकता है। साल के अंत में अपनी सेहत पर ध्यान दें। इस दौरान आपको थकान महसूस हो सकती है।


उपाय:


बृहस्पति मंत्र का नियमित जाप करें व घर के बड़ों का आशीर्वाद लें।