बाल विवाह कर न बिगाड़े बच्चो का भविष्य


 


आगर-मालवा-'आपकी सरकार आपके द्वार'के तहत् बड़ौद विकास खण्ड के ग्राम पंचायत मदकोटा में गुरूवार को शिविर आयोजित कर अधिकारियों द्वारा ग्रामीणों की समस्या सुनी गई। ग्रामीणों द्वारा अपनी समस्याओं के निराकरण हेतु आवेदन विभागों के स्टाॅलों पर दिए गए। शिविर में 18 आवेदकों द्वारा अपनी समस्याओं से संबंधी आवेदन प्रस्तुत किए गए।


कार्यक्रम में कलेक्टर ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए आपकी सरकार आपके द्वार योजना की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आमजन अपनी समस्याओं को लेकर जिला मुख्यालय एवं संबंधित विभागों के आते है, किन्तु कार्य की व्यवस्तता के कारण कई बार अधिकारी उनसे नहीं मिल पाते हैं। जिससे उनकी समस्याओं का निराकरण नहीं हो पाता है। इसी को ध्यान में रखते हुए शासन द्वारा यह कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। जिसके तहत् अधिकारी आज आपके गांव में पहुंचे है। अपनी समस्याओं से अवगत कराकर उनका निराकरण करवाएं। कलेक्टर ने बाल विवाह के संबंध में उपस्थितजनों से कहा कि अपने बच्चों का बाल विवाह कर उनका भविष्य खराब न करें। इसकेे कई दुष्परिणाम है। जिनका सामना बाल विवाहित बच्चों को करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि लड़की की उम्र 18 वर्ष एवं लड़के की उम्र 21 वर्ष पूर्ण होने पर ही उनका विवाह करें।  बाल विवाह की रोकथाम हेतु जिले में बाबूल मोरा कच्ची कलिया न तोड़ अभियान के तहत् शपथ भी दिलाई। कलेक्टर ने इस दौरन कुपोषित बच्चों को सुपोषित करने हेतु '' मेरा बच्चा'' अभियान की जानकारी देते हुए कुपोषित बच्चों को गोद लेने हेतु जनप्रतिनिधियों से आव्हान् किया गया। उन्होंने बेटियों की सुरक्षा के लिये ''बेटी की पेटी'' अभियान का भी जिक्र करते हुए जानकारी दी।