जानिए 2020 में कन्या राशि का भविष्यफल


 


 


उज्जैन के पंडित दयानंद शास्त्री के अनुसार कन्या राशि उत्तरा फाल्गुन नक्षत्र के दूसरे तीसरे और चौथे चरण तथा हस्त नक्षत्र के चारों चरण और चित्रा नक्षत्र का प्रथम तथा दूसरे चरण से मिलकर बनी है । इस प्रकार कुल नवांश के-9 चरण तथा प्रत्येक चरण 3 अंश  20 कला का होता है । कन्या राशि का स्वामी बुध होता है। राशिचक्र में इस राशि का छठा स्थान होता है। इस राशि के व्यक्ति परिवार की भलाई हेतु हमेशा प्रयासरत रहते हैं। फिर भी इनका सम्मान कुछ कमजोर रहता है। लेकिन ये हमेशा अपने कर्तव्य को भलीभांति निभाते हैं। ये स्वाभिमानी होते हैं। ये बुद्धिमानी से काम निकलवाना जानते हैं। ये भावुक होते हैं और अपने कार्य को अच्छे तरीके से करना जानते हैं। राजनीति में भाग लेने का अवसर भी प्राप्त होता है। अध्यात्म में इनकी रुचि रहती है। इस राशि वालों को गुरु का फल अच्छा प्राप्त होता है।यह वर्ष आपकी राशि वालों के लिए ढैय्या शनि का प्रभाव आप पर 24 जनवरी 2020 तक रहेगा जिसके परिणाम स्वरूप आप आलस्य का त्याग करेंगे, और आत्मविश्वास के साथ परिश्रम पूर्वक कार्य करते हुए आगे बढ़ेंगे तो निश्चित लाभ  प्राप्ति के योग बनेंगे। वैसे कन्या राशि के स्वामी का मित्र ग्रह शनि है। अतः चिंता की कोई बात नहीं  घबराए नहीं ।दिनांक 21 जून 2020 के सूर्य ग्रहण का  आपकी राशि पर अशुभ प्रभाव परिलक्षित हो सकता है । तथा  6 ग्रहों की युति योग बनने से चिड़चिड़ा एवं जिद्दी स्वभाव   पार्टनर से कार्यस्थल पर  अथवा  कार्यक्षेत्र में बदलाव के योग  देख सकते हैं ।धार्मिक अभिरुचि के साथ यात्राओं की संभावनाएं बनती है।भूमि ,भवन, वाहन आदि के क्रय विक्रय के योग बनेंगे । किंतु मन में भय,  संशय  , मन का कमजोर होना , दुविधा के साथ कारोबार में  बाधाएं और अवरोध की स्थिति का निर्मित होना , माता पिता के स्वास्थ्य की चिंता,   स्वयं को गले  एवं पेट के रोग,  आर्थिक तंगाई,  अशांति व क्लेश रह सकता है , संतान को पीड़ा , कारोबार व राज पक्ष में अनुकूलता रहेगी । दिनांक 16 मई 2020 से 22 जून 2020 तक 6 ग्रहों का वक्री काल आपके लिए शुभ फल देने वाला हो रहेगा । एवं  8 जुलाई 2020 से  3 अगस्त 2020 तक  का समय आपके लिए  शल्य चिकित्सा के योग,  स्नायविक विकार, अपच से परेशानी, गैस्ट्रिक ट्रबल , पार्टनर से विरोध,    तकनीकी संसाधनों से हानि ,शेयर मार्केट से हानि एवं विद्युत उपकरणों से हानि के योग बन सकते हैं ।अति महत्वाकांक्षी , और अहमता के कारण गलत निर्णय लेने से   तनाव की संभावनाएं  बनती है। दूसरी सूर्य ग्रहण का अनुकूल परिणाम  प्राप्त होने से आपके कार्य में प्रगति हो सकती है । वर्ष में  शनि की आराधना आपको समय समय पर उपस्थित होने वाले संकटों से बचाने में सार्थक सिद्ध होगी। इस साल स्वास्थ्य के मामले में भाग्य आपके साथ रहेगा। सारे साल आप खुद को ऊर्जावान महसूस करेंगे। इस साल आपका प्रेम जीवन भी बहुत अच्छा रहने की संभावना है क्योंकि अपने प्रेमी के प्रति इस साल आप ईमानदार रहेंगे। इस साल आपके पार्टनर को उसके कार्यक्षेत्र में पदोन्नति मिल सकती है जिससे घर में खुशियां आएंगी। आपके बच्चे भी इस साल पढ़ाई में अच्छा प्रदर्शन करेंगे।


आर्थिक जीवन:


साल 2020 में आपका वित्तीय पक्ष मजबूत होगा। इस वर्ष आप धन की बचत कर पाने में सफल होंगे। आप नया वाहन, घर या कोई अन्य प्रोपर्टी खरीद सकते हैं। रिश्तेदार आपसे आर्थिक सहायता की उम्मीद करें और आप उनकी उम्मीदों पर खरा उतरेंगे। 


करियर-व्यापार:


फलादेश के मुताबिक कन्या राशि वालों का करियर जीवन वर्ष 2020 में चमक सकता है। इस वर्ष नौकरी में स्थानांतरण भी हो सकता है। ऑफिस में सीनियरों के सहयोग से आप सफलता की सीढ़ियों पर चढ़ेंगे। लेकिन ऑफिस अथवा कार्य स्थल पर अपने विरोधियों से बचकर रहें। क्योंकि वे आपकी छवि को नुकसान पहुंचा सकते हैं। 


पारिवारिक जीवन:


इस वर्ष आपका पारिवारिक जीवन मिलाजुला रहेगा। साल के शुरुआती महीनों में परिजनों का सहयोग प्राप्त होगा। हालांकि व्यस्तता के कारण अपने परिजनों को समय कम दे पाएंगे। मार्च में संतान की गतिविधियों पर नज़र रखें। क्योंकि उनका ध्यान पढ़ाई से भटक सकता है। अगर पैतृक संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा है तो वह दूर होगा। जुलाई में संतान की ओर से आपको कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। साल के अंत में माता-पिता की सेवा करने से मन को सुकून मिलेगा। इस वर्ष आपके घर में कोई मांगलिक कार्य हो सकता है।


स्वास्थ्य जीवन:


वर्ष 2020 आपकी सेहत के लिए अच्छा रहेगा। अच्छे स्वास्थ्य के कारण आपका मनोबल भी ऊंचा रहेगा। मौसम परिवर्तन के समय छोटी-मोटी स्वास्थ्य तकलीफ हो सकती है। काम में व्यस्तता से मानसिक दबाव रह सकता है।


उपाय:


शुभ फलों की प्राप्ति के लिए कन्या राशि वालों को सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए और साथ ही कन्याओं को कपड़े भेंट देने चाहिए।