गायो की सेवा के लिए आगे आये युवा,खिला रहे है गुड़


सुसनेर। कंडाके की ठंड में गायों की सुध लेने वाला कोई नहीं है। ऐसे में शहर के कुछ गोसेवक एक बार फिर से गायों की सेवा के लिए आगे आए है। ठंड से गायों को राहत पहुंचाने के लिए इनके द्वारा जनसहयोग से राशि एकत्रित करके रात्रि के समय गायों को गुड खिलाय जा रहा है। इस कार्य की शुरूआत शहर के युवा गोसेवको के द्वारा शनिवार से ही की गई है। शनिवार को पहले ही दिन इन युवाओं ने इतवारीया बाजार से लेकर हनुमान छत्री तक सम्पर्क किया इस दोरान 2300 रूपये की राशि एकत्रित हुई जिससे 69 किलो गुड खरीदकर के नगरीय क्षेत्र की सड़को पर भूख की तलाश में भटक रही गायों को खिलाया गया। शहर के गोसेवक पवन सोनी के अनुसार कडकडाती ठंड के कारण प्रतिदिन आधा दर्जन के लगभग गायों की मौत हो रही है। गायों को बचाने के उदे्श्य से जनसहयोग से राशि एकत्रित करके रात-रात में गायो को खिलाया जा रहा है। इस कार्य में नगरवासियों का अच्छा खासा सहयोग भी इन गोसेवको को मिल रहा है। इनके द्वारा बीमार गायो की सेवा भी की जाती है। बता दें कि शहर में 15 के लगभग गो सेवक ऐसे है जो अपने-अपने रहवासी इलाके व नगर में गायो की देखभाल के लिए समय-समय पर कार्य करते रहते है, हर बार एक नई पहल का शुभारंभ किया जाकर गायों की सुरक्षा करने का प्रयास इन गोसेवको के द्वारा किया जा रहा है। बता दें कि दिसम्बर 2017 में सालरिया गो अभ्यारण में जब गायो की मौतो का मुद्दा गर्माया था, तब शहर के 15 से भी अधिक इन युवा गोसेवको ने अलसुबह गो अभ्यारण पहुंचकर बीमार गायों की सेवा की थी साथ ही नगरवासियों से गुड एकत्रित कर क्वींटलों से गायों को खिलाया भी था। इनके इस प्रयास से अभयारण में गायों की मोतो के ग्राफ में कमी भी आई थी।