धर्म की जगह सबको एक जुट हो जाना चाहिए- प. नागर


सुसनेर। व्यक्ति चाहे किसी भी जात का हो, किसी भी दल का का हो परंतु जब धर्म की बात आती है तो सभी को एकजुट हो जाना चाहिए। अगर धार्मिक आयोजन दुश्मन के घर पर भी हो तो वहां जाने से भी परहेज नहीं करना। उक्त विचार शुक्रवार को समीपस्थ ग्राम मोडी में चल रही सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा के समापन अवसर पर श्रद्धालुओं को सम्बोधित करते हुएं संत पंडित कमलकिशोर नागर ने व्यक्त किए। उन्होने युवाओं को हमेशा तीन बातों का ध्यान रखने की सीख दी। उन्हेाने कहां कि हमेशा अपने खानदान का, संयमित खानपान का और अपने संविधान का ध्यान रखो। शिव ही एकमात्र गुरुतत्व है, इसलिए शिवरात्रि के महान पर्व पर शिवालय में शिवलिंग के दर्शन करने अवश्य जाए। कथा के समापन अवसर पर मोकमपुरा के सिसोदिया परिवार द्वारा सभी श्रोतागण का आभार व्यक्त किया गया। सारथी युवा मंडल मोड़ी द्वारा श्री गोवर्धननाथ जी की स्मृति चिन्ह स्वरूप तस्वीर पंडित कमलकिशोरजी नागर को भेंट की गई।