जिला स्तरीय तकनीकी समूह की बैठक में हुई उन्नत खेती पर चर्चा


आगर-मालवा-जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित शाजापुर के कार्यक्षेत्र आगर जिले के जिला स्तरीय तकनीकी समूह की बैठक शुक्रवार को कलेक्टर संजय कुमार की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में जिला कांग्रेस अध्यक्ष  बाबूलाल यादव, जिला पंचायत उपाध्यक्ष देवकरण गुर्जर, सहकारी बैंक के प्रशासक  वीरेन्द्र सिंह गोहिल, नाबार्ड के हेमन्त लेम्बे, उप संचालक कृषि  आरपी कनेरिया, सहकारी बैंक प्रबंधक के.के.नागर, एनके गुप्ता, नोडल अधिकारी सहकारिता बैंक द्वय राजेन्द्र शर्मा, सुरेश शर्मा प्रगतिशील किसान  रामनारायण तेजरा, राधेश्याम परिहार, महेन्द्र सिंह, दूलेसिंह, एवं अन्य कृषक एवं बैंक अधिकारी मौजूद रहें। 
बैठक में आगर-मालवा जिले में उगाई जाने वाली खरीफ, रबी की मुख्य फसलों का प्रति हेक्टर के लिए ऋणमान निर्धारण किया गया। साथ ही इस वर्ष से गाय, भैंस, बकरी पालन, मुर्गी पालन-बायलर, मुर्गी पालन लेयर तथा मत्स्य पालन में ग्रामीण तालाबों में मछली तालाब, तलाब में मत्स्य संवर्धन (फिश फिड सहित) के लिए कार्यशील पूंजी हेतु साख सीमा सर्व सम्मति से स्वीकृत की गई है। 
बैठक को सम्बोधित करते हुए पूर्व मंडी अध्यक्ष श्री यादव ने कहा कि संबंधित विभाग किसानों से प्राप्त सुझाव को अमल में लाकर किसान हित में फैसले लें। कृषि विभाग जिले के किसानों को खेती की नई-नई तकनीकी अपनाने हेतु प्रेरित कर, उन्हें प्रशिक्षित करें। कृषकों को आधुनिक खेती करने हेतु भरपूर सहयोग प्रदान करें। उन्होंने उन्नत कृषक राधेश्याम परिहार को उन्नत खेती के लिए बधाई  दी। 
सहकारिता बैंक प्रशासक श्री गोहिल ने कहा कि बैंक एंवं संस्थाएं किसानों की आवश्यकता के अनुरूप कार्य करें। शासन स्तर से जो दायित्व सौंपे गए है, उनका निर्वहन करते हुए बैंक अधिकारी-कर्मचारी किसानबन्धुओ का सहयोग करते हुए उनकी समस्याओं का त्वरित निराकरण करते हुए एक-दूसरे के मध्य मधुर संबंध बनाए रखें। उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में गेहूं उपार्जन एवं परिवहन हेतु सभी आवश्यक कार्यवाहियां पूर्ण कर लेेवें।


Popular posts from this blog

आगर से भाजपा प्रत्याशी मधु गेहलोत 13002 मतों से व सुसनेर से कांग्रेस प्रत्याशी भैरूसिंह बापू 12645 मतों से जीते

ग्राम झालरा में गिरी आकाशीय बिजली:एक की मौत:एक घायल:नाना बाजार में मंदिर के शिखर का कलश गिरा

तवा भी बिगाड़ सकता है घर का वास्तु, जानिए रसोई में तवे का महत्व