जिस घर में मेहमान का स्वागत हो वहा भगवान आते है, वह घर बैकुंठ बन जाता है



सुसनेर। मोडी में चल रही सात दिवसीय संगीतयम श्रीमद् भागवत कथा में छटे दिन संत पंडित कमलकिशाेर नागर ने श्रद्धालुओं को सम्बोधित करते हुए कहां की परिवार में भले ही भाईयों में अलग रोटी बनती हो, लेकिन जब भी कोई मेहमान अाए तो एक हो जाओ। कोशिश करों कि घर का कोई राग-द्वेष बाहर न जाने पाए। ईश्वर के लिए अपना अंतकरण शुद्ध कर लो। आगे उन्होने कहां कि जिस घर में मेहमान का स्वागत होता है वहां भगवान आते है वह घर बैकुंठ बन जाता है। गांवो में यह परम्परा आज भी है इसलिए गांव को गांव रहने दो, उसमें संस्कृति की खुशबू महकती है। उन्होने सीख दी की कभी भी दान-पुण्य, अतिथि सत्कार या अच्छे आयोजनो से मुहं मत बिगाडो,वरना आपका घर बिगड जाएगा। उन्होने श्रृद्धालुओं से कहां कि जिस प्रकार बाजार में बिना भाव के कोई वस्तु नहीं खरीद सकते उसी प्रकार बिना भाव के हमें भगवान नहीं मिल सकता। यदि कोर्इ छात्र पढ़ाई करने बैठे और उसका ध्यान भटकाकर पढना छोड़ दें तो वह कभी सफल नहीं होता है। यदि मन लगाकर  लगन से पड़ेगा तो अच्छे अंकों से पास होगा।ठीक उसी तरह यदि मनुष्य लगन से भक्ति करेगा तो ईश्वर अवश्य ही मिलेगा। मनुष्य हमैशा लक्ष्य बनाकर अपना प्रयास करते रहना चाहिए। मोडी में आयोजित की जा रही इस सात दिवसीय कथा का समापन महायज्ञ की पूर्णाहुति के साथ किया जाएगा। 
प्रतिदिन पंडित नागर की कथा श्रवण करने के लिए 15 से 20 हजार श्रद्धालु मोडी पहुंच रहे है। 2 लाख वर्गफीट के पंडाल को और बडा दिया गया है उसके बाद भी वह श्रद्धालुओं की आस्था के आगे बोना साबित हो रहा है। गुरूवार को दिन के समय भी कडाके की ठंड होने के बावजूद भी कथा के छटे दिन भी हजारो की संख्या में श्रद्धालु अपने निजी वाहनो के जरीए कथा सुनने के लिए मोडी पहुंचे थे। और पंडाल के बाहर खुले में ही बैठकर कथा सुनी। श्रद्धालुओं की इतनी संख्या के कारण मोडी में मेले जैसा नजारा पिछले कुछ दिनों बना हुआ है।


Popular posts
लाख तरक्की के बावजूद हम बुजुर्गों का ख्याल रखने में पीछे हैं- अतुल मलिकराम
Image
कोरोना से कब मिलेगी पृथ्वी को निजात.... 👏👏👏 ब्यावर के एस्ट्रोलॉजर दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी .... गुरु हस्ती कृपा से ग्रहों के अनुसार पृथ्वी पर आने वाले अगले लगभग 175 दिनों तक यानी 23 सितंबर 2020 तक विश्व के कई देशों में कोरोना जैसे वायरस या अन्य तरह के कई वायरसों से या प्राकृतिक आपदाओं से या युद्ध से तबाही होने के संकेत परंतु भारत को आने वाले लगभग 90 दिनों तक बेहद संभलकर चलने की जरूरत यानी लगभग 06 जुलाई 2020 तक भारत इस वायरस पर पूरी तरह से अंकुश लगाने में हो जाएगा कामयाब , इसके अलावा 29 अप्रैल 2020 को पृथ्वी के पास से गुजरने वाले एस्टरॉयड से नहीं होगा दुनिया का अंत , कहते हैं ब्रह्मांड में कोई ईश्वरीय शक्ति मौजूद है , यदि नाहटा के बताए गए मंत्रों को पूरे भारतवासी कर गए तो नाहटा का मानना है कि जल्दी ही आज से 40 दिनों के भीतर यानी 14 मई 2020 तक भारत इस वायरस पर काबू पाने में सफल हो जाएगा और इन मंत्रों को करने वालों को यह वायरस छू भी नहीं सकेगा , इसके अलावा देश सेवा हेतु लोक कल्याण की भावना के उद्देश्य से नाहटा पूरे देशभर की जनता को हिम्मत देने हेतु यानी देशभर की जनता का मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से 06 अप्रैल 2020 से ज्योतिष के माध्यम से नाहटा बिल्कुल निशुल्क रूप से प्रतिदिन लोक डाउन तक देशभर की जनता के द्वारा पूछे गए दो सवालों का जवाब देंगे एवं नाहटा ने भारत सरकार को दिए सात नए सुझाव , इस एप्स में जानिए पूरी डिटेल्स .....
Image
ऑरा ने इंदौर में नए स्टोर के साथ अपनी खुदरा उपस्थिति का विस्ताकर किया भारत की प्रमुख डायमंड ज्वैलरी रिटेल चेन ने इंदौर में अपना नया स्टोर लॉन्च किया
Koo (कू) बना सार्वजनिक क्षेत्र में एमिनेंस मानदंड शेयर करने वाला पहला भारतीय सोशल नेटवर्क
Image
फीमेल एम्प्लॉयीज़ को मेंस्ट्रुअल लीव देने वाला मध्य भारत का पहला स्टार्टअप
Image