कोहरे और शीतलहर के चपेट में रहा जिला,दिनभर नही हुवे सूर्यदेव के दर्शन

आगर मालवा,सुसनेर-


कंडकडाती ठंड एवं घने कोहरे ने शहर की फिजा बदलदी। दिनभर सूर्यदेव के दर्शन नही हो सके।दिन भर बादलों की ओट में छुपे सूरज और लगातार चल रही ठंडी हवाओं ने गुरूवार को आमजन को झकझोर कर रख दिया। 
लोग घर से निकले तो मुहं से पांव तक गर्म कपडो से लिपटे हुुएं निकले। लेकिन उसके बाद भी ठंड का असर कम होता नजर नहीं आ रहा था। ऐसे में लोगो को दिन भर अलाव जलाना पडा। लेकिन उससे कभी ज्यादा राहत लोगो को नहीं मिल सकी। पारा अन्य दिनों की अपेक्षा काफी गिर चुका था। सुबह से ही मौसम में ठंडक घुली रही, पूरा शहर कोहरे के आगोश में रहने के साथ-साथ शीतलहर की चपेट में भी रहा। पूरे दिन भर हल्की धुंध के साथ बुंदाबांदी भी थोडी-थोडी देर में होती रही। कोहरा छाया रहने के कारण लोगो को काफी परेशानीयों का सामना करना पडा। वहीं दिन भर लोग ठंड से बचने के लिए जतन करते हुएं नजर आए। शहर की मुख्य सड़को और राजमार्ग से गुजरने वाले वाहन चालको को अपने वाहनो की लाईटों को उपयोग करना पडा। वही तापमान में भी गिरावट होने के कारण कडाके की सर्दी से लोगो को राहत नहीं मिल सकी। इस दौरान सड़को पर भी लोगो की आवाजाही कम रही। दिन भर जगह-जगह लोग अलाव तापते हुएं नजर आए।


बार बार बदलता रहा मौसम
सुबह से लेकर शाम तक मौसम ने कई बार करवट ली।सुबह 12 बजे तक तेज कोहरा था। 1:30 बजे के आसपास अचानक से सावन की तरह रिमझिम फुहारे शुरू हो गई। शाम को भी 5 से ही कोहरा फिर से घना होने लगा। ठंड के बढ़ते प्रकोप के कारण बाजार भी शाम को जल्द ही बंद हो गया।