नृत्य करती नीलाजंना की मृत्यु से राजा आदिनाथ के मन में उत्पन्न हुआ वैराग्य

सुसनेर। आचार्य  दर्शन सागरजी महाराज के सानिध्य में सुसनेर में चल रहे पंचकल्याणक महोत्सव में पाषाण से परमात्मा बनने की विभिन्न क्रियाओं के नाटकीय मंचन की प्रक्रिया जारी है। इस महोतत्सव के तीसरे दिन कृषि उपज मण्डी परिसर में युवराज आदिनाथ का राज्याभिषेक हुआ।



 


राज्याभिषेक समारोह में 32 हजार राजाओं ने अपनी उपस्थिति देकर अपने-अपने राज्यों की तरफ से भेंट प्रदान की। उसके बाद आदिनाथ ने अपनी प्रजा को शस्त्र चलाना, लेखन करना और कृषि कार्यो से अपनी आजीविका चलाना सिखाया। इसके बाद स्वर्ग से नृत्य करने के लिए आई अफसरा नीलांजना की नृत्य करते-करते हुूई मृत्य से राजा आदिनाथ के मन में वैराग्य (सांसारिक मोह माया से मुक्ति) की भावना उत्पन्न हुई। जिसके बाद अपना राज पाट अपने बेटे भरत और बाहुबली को सोपकर मुनि दीक्षा लेकर तप के लिए वन की और प्रस्थान किया। त्रिमूर्ति मंदिर में चल रही है पाषाण को परमात्मा बनाने की क्रिया आचार्य श्री के सानिध्य में इंदौर-कोटा राजमार्ग स्थित त्रिमूर्ति मंदिर में 375 पाषणा की प्रतिमाओं को परमात्मा बनाने की क्रिया चल रही है। बाहर से पधारे चार्रो विधानाचार्यो के द्वारा इन प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा के लिए विधिविधान और मंत्रोच्चार के साथ क्रियाएं सम्पन्न कराई जा रही है। इसके लिए सभी प्रतिमाओं को वस्त्र पहनाए गए है। सोमवार को भक्तामर मंडल विधान की पूजा करके अर्ध्य चढाए गए। 


जन्म कल्याणक महोत्सव में पहुंचे प्रभारी मंत्री, समाजजनो ने दिया स्मृति चिन्ह


प्रभारी मंत्री और विधायक ने मंदिर जीर्णोद्धार के लिए की 11 लाख की घोषणा, जैन समाज के स्कूल के लिए 10 बीघा जमीन देने का भी दिया आश्वासन पंचकल्याणक महोत्सव में रविवार को आयोजित भगवान आदिनाथ के जन्मकल्याणक महोत्सव में बडा जीन में बनाई गई पांडुकशिला पर 1008 कलशो से आदिनाथ भगवान का जन्माभिषेक इंद्रो के द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम में जिला प्रभारी मंत्री जयवर्धनसिंह, विधायक राणा विक्रमसिंह, जिला कलेक्टर संजय कुमार और एसपी सविता सोहाने, एसडीएम मनीष जैन पहुंचे। यहां समाजजनो ने त्रिमूर्ति मंदिर का स्मृति चिन्ह भेंट किया। यहां आचार्य श्री के द्वारा समाज के स्कूल के लिए जमीन की मांग किये जाने पर 10 बीघा शासकीय जमीन दिये जाने का आश्वासन देते हुएं जिला कलेक्टर से कहां कि इस सम्बंध में सारी कारवाई जल्द पूरी कर फाइल भोपाल पहुंचाएं वहां में सारी मंजूरी दिलाऊंगा। आयोजन में मौजूद क्षेत्रिय विधायक राणा विक्रमसिंह ने नगर के इतवारीया बाजार में में स्थित सैकडो वर्ष प्राचीन दिगम्बर जैैन बडा मंदिर में अपनी निधी से 11 लाख रूपये की राशि देने की घोषणा करते हुएं जिला प्रभारी मंत्री से भी राशि देने का अनुरोध किया तो मंत्री ने भी अपनी निधी से 11 लाख रूपये देने की घोषणा की। जिसका समाजजनो ने स्वागत किया।   


भव्य चल समारोह निकालकर धूमधाम से मनायाज न्मकल्याणक उत्सव


रविवार को आदिनाथ भगवान के जन्म कल्याणक के अवसर पर चल समारोह निकाला गया जिसमें हाथी घोड़ा पालकी के साथ भगवान आदिनाथ ने गजराज पर सवार होकर नगर भ्रमण किया। चल समारोह में दर्जन भर बग्गिया 5 से भी अधिक बैंड चार घोड़े व दो हाथी शामिल हुए इसके अतिरिक्त विभिन्न महिला मंडल की महिलाएं अपने ड्रेस कोड में व युवतियों का मंडल भी अपने ड्रेस कोड में नृत्य की प्रस्तुति देते हुए शामिल था
चल समाराेह में दिखी साम्प्रदायिक सदभाव व की झलक
चल समारोह का क्षेत्रीय विधायक राणा विक्रम सिंह द्वारा पंचमेवा की प्रसाद वितरण कर स्वागत किया गया। इसमें साम्प्रदायिक सद्भव की झलक भी देखने को मिली पूरे नगर में 5 से भी अधिक जगहों पर मुस्लिम समाजजनो के द्वारा स्वागत किया गया इसके अतिरिक्त पूरे नगर में जगह-जगह विभिन्न समाजो के द्वारा भी मंच लगाकर के स्वागत किया गया।। चल समारोह की सारी व्यवस्था जैन नवयुवक मंडल के सदस्यों ने संभाली, इसमें पुलिस प्रशासन का भी पूरा-पूरा सहयोग रहा।


Popular posts from this blog

रविवार से लापता युवक का शव मिला:तहकीकात जारी

जंगल मे पड़ा हुवा था खून से सना हुवा शव: चरवाहे की हत्या की आशंका:पुलिस कप्तान ने किया घटना स्थल का निरीक्षण

दर्दनाक हादसा:बस नर्मदा नदी में गिरी:12 शव निकाले:धार जिले के खलघाट के नजदीक भीषण हादसा