पेंशनर सरकार और समाज की धरोहर हैं, इनके अनुभवों का लाभ लेना चाहिए:जिलाधीश



आगर-मालवा-एक शासकीय सेवक पदों पर रहकर सरकार तथा सेवानिवृत्ति के बाद समाज को अपनी सेवा प्रदान करता है। पेंशनर्स सरकार और समाज की धरोहर होती है। इन्हें काफी लम्बे जीवन का अनुभव होता है, इनके अनुभवों का हमें लाभ लेना चाहिए। 
यह बार कलेक्टर  संजय कुमार ने सोमवार को जिला पेंशनर्स एसोसिएशन के सम्मान समारोह में कही। कलेक्टर ने सम्मान समारोह में सभी पेंशनरों को नववर्ष की शुभकमनाएं दी तथा 75 वर्ष की उम्र पूरी कर चुके पेंशनर्स को शाॅल-श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया।कलेक्टर ने कहा कि शासकीय सेवा से निवृत्त होने के बाद व्यक्ति बेकार नहीं होता है, बल्कि वह निरन्तर सक्रिय रहकर समाज के अच्छे कार्याें में निःस्वार्थ भावना से अपने अनुभवों का उपयोग करता है और एक अच्छी छवि समाज में अपनी बनाता है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति अपने संघर्षाें से ही जीवन अच्छा मुकाम हासिल करता है और सुखी-सुखी अपना जीवन व्यतीत करता है। कलेक्टर ने पेंशनरों से कहा कि अपने बाकी शेष जीवन को खुशी-खुशी जीए तथा समाज के अच्छे कार्याें में अपने अनुभवों को साझा करते रहे। 
कार्यक्रम को पत्रकार बसंत गुप्ता ने सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में कई जगह पेंशनर्स संघ है, किन्तु आगर में पेंशनर्स संघ की अपनी अलग विशेषताएं है। जिले में लगभग 600 पेंशनर्स है। प्रतिमाह पेंशनरो का सामूहिक जन्मदिन मनाया जाता है। यह एक अनूठी पहल  है। उन्होंने कहा कि पेंशनर्स आर्थिक रूप से सुखी है, बस उन्हें सम्मान की आवश्यकता होती है। उन्होंने सेवानिवृत्त होने पर शासकीय सेवक सम्मान समारोह आयोजित करने तथा पेंशनरों के लिए डे-केयर सेंटर के लिए उपयुक्त स्थान उपलब्ध करवाने हेतु कलेक्टर से आग्रह किया। इस पर कलेक्टर श्री कुमार ने जिला कोषालय अधिकारी को निर्देश दिए कि जिले में शासकीय सेवकों के सेवानिवृत्त होने पर सम्मान समारोह आयोजित कर उनका सम्मान कर जीपीओ एवं पीपीओ को वितरण किया जाए। साथ डे-केयर सेंटर के लिए उपयुक्त स्थान उपलब्ध कराने हेतु भी कलेक्टर द्वारा आश्वासन दिया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ अवसर पर माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलन किया गया। जिला पेंशनर्स संघ के जिलाध्यक्ष राधारमण पंडया ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की गई। कार्यक्रम को जिला कोषालय अधिकारी तरूण त्रिपाठी ने भी सम्बोधित किया। 
कार्यक्रम में पेंशनर्स प्रहलाद सिंह चैहान, राधाकिशन जैन एवं समस्त पेंशनर्स एवं बैंकर्स उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन  प्रहलासिंह चैहान ने किया तथा आभार राधाकिशन जैन ने माना।