विशेष है माघ माह में आने वाली मौनी अमावस्या

माघ मास की अमावस्या को मौनीअमावस्या भी कहते है। इस साल यह अमावस्या 24 जनवरी 2020 शुक्रवार को पड़ रही है।
यूं तो हर माह अमावस्या की तिथि आती है लेकिन सोमवती अमावस्या, शनैश्चरी अमावस्या और माघ माह में आने वाली मौनी अमावस्या का विशेष महत्व है।मौनी अमावस्या को सबसे बड़ी अमावस्या माना गया है। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान और दान कर अक्षय पुण्यफल की प्राप्त की जा सकती है।जो मनुष्य इस दिन गंगा, यमुना आदि नदियों में स्नान करके सच्चे मन से दान करता है उस पर समस्त ग्रह-नक्षत्रों की कृपा बनी रहती है। इस दिन मौन रहने से इंसान को पुण्य लौक की प्राप्ति होती है। इस दिन भगवान शिव और भगवान विष्णु की विशेष रूप से पूजा की जाती है। पीपल वृक्ष को आर्घ्य देकर परिक्रमा करने और दीप दान करना शुभ माना गया है।जो भी व्यक्ति इस दिन अगर व्रत नहीं रख सकते वह मीठे भोजन का सेवन करें।मौनी अमावस्या जैसे की नाम से ही स्पष्ट होता है, इस दिन मौन रहकर स्नान,दान, व्रत रखना चाहिए। केवल इतना ही नहीं, मौनी अमावस्या पर पितरों का तर्पण करने से पितरों की आत्मा की शांति और उनसे आशीर्वाद भी मिलता है।


Popular posts
छिंदवाड़ा की सरज़मीं पर हुआ अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन नगर निगम छिन्दवाड़ा द्वारा नगर गौरव दिवस पर हास्य कवि संदीप शर्मा के संचालन में जाने-माने कवियों ने छिंदवाड़ा में छेड़ी कविताओं की तान
Image
शैक्षणिक संस्थाओं में विद्यार्थियों के लिए कल 23 अगस्त का अवकाश घोषित ‌
Image
जरूरी समाचार: बारिश के कारण आज स्कुलो का रहेगा अवकाश
Image
बच्चों की बीमारी के लिये उज्जैन के निजी शिशु रोग विशेषज्ञों से दूरभाष पर ले सलाह
संगम पर विराजे बाबा मंगलनाथ के दरबार मे 41 वर्षो से गूंज रही है रामायण की चौपाईयां
Image