60 सालों में पहली बार नए शिक्षा सत्र से खुद के भवन में संचालित होगा उत्कृष्ट स्कूल

सुसनेर। डग रोड पर पौने 2 करोड की लागत से उत्कृष्ट स्कूल का खुद का दो मंजिला भवन बनकर तैयार हो गया है। 60 सालों में पहली बार नए शिक्षा सत्र से सुसनेर का शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय अपने खुद के भवन में संचालित हो सकेगा। उत्कृष्ट स्कूल को खुद का भवन मिल जाने से यहां विद्यार्थीयों के साथ ही स्कूल प्रबंधन को भी काफी सुविधाएं मिल सकेगी। बता दें कि बीते 60 सालों से उत्कृष्ट के पास स्वयं का भवन नहीं था। सालों से यह स्कूल पुराना बस स्टेंड के समीप प्राथमिक विद्यालय के भवन में संचालित हो रहा है। फिलहाल इसी उधार के भवन में बच्चों की प्री-बोर्ड व वार्षिक परीक्षाएं आयोजित कि जा रही है।


2 हैक्टैयर जमीन में तैयार हुआ है भवन व खैल मैदान
शासन ने डग रोड पर उपजेल के पीछे 2 हैक्टेयर जमीन स्कूल प्रबंधन को आंवटित की है। जिसमें स्कूल का भवन व खैल मैदान भी शामिल है, इस दो मंजिला भवन में पेयजल से लेकर टॉयलेट्स तक की उचित व्यवस्था है। भवन में छात्रो के प्रवेश करने के लिए सिढीयों के अलावा रेम्प का भी निर्माण किया गया है। विद्यार्थीयों की सुरक्षा के लिए तारफेसिंग की बाउन्ड्रीवाल भी की गई है। पुराने जर्जर भवन में छात्रों को पीने का साफ पानी भी नसीब नहीं होता था, जो कि अब नए भवन में स्वच्छ पेयजल मिलेगा।
इस वर्ष काफी दिक्कतो भरा बीता स्कूल प्रबंधन के लिए साल
सुसनेर का यह उत्कृष्ट विद्यालय जीर्णशीर्ण भवन में संचालित हो रहा है। पढने वाले विद्यार्थीयों के प्रेक्टीकल की सुविधाएं अभी नाममात्र की है। जिससे अध्ययन करने वाले बच्चों को कई तरह की परेशानीयां होती है। खेल मैदान नहीं होने के कारण क्रीडा प्रतियोगिताएं भी यहां आयोजित नहीं हो पाती है। 15 अगस्त 2019 में जर्जर भवन का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त होकर गिर गया था। ऐसे में काफी परेशानीयों के बीच स्कूल प्रबंधन को पूरे साल ही स्कूल संचालन करना पडा। किन्तु अब नवीन भवन बन जाने से सारी सुविधाएं एक ही जगह उपलब्ध हो सकेगी। अप्रैल या जुलाई माह से शुरू होने वाले नवीन शिक्षण सत्र से उत्कृष्ट स्कूल को इस भवन की सौगात मिलेगी और 60 सालो में पहली बार स्कूल अपने खुद के भवन में संचालित भी हो सकेगा।  


"60 सालो से हम भवन के इंतजार में थे आखिरकार शासन ने हमारी मांग पुरी की है। आज भवन बनकर भी तैयार हो गया है जिसमें सम्पूर्ण सुविधा है। नए शिक्षण सत्र से इस भवन में उत्कृष्ट स्कूल का संचालन किया जाएगा। हमें 60 सालो में पहली बार खुद का भवन मिलेगा। इसको लेकर पूरे स्कूल के बच्चो व स्टाफ में हर्ष की लहर है"।
                                        नरेन्द्र कुमार लोहार 
                         प्राचार्य, शासकीय उत्कृष्ट स्कूल सुसनेर


Popular posts
लाख तरक्की के बावजूद हम बुजुर्गों का ख्याल रखने में पीछे हैं- अतुल मलिकराम
Image
कोरोना से कब मिलेगी पृथ्वी को निजात.... 👏👏👏 ब्यावर के एस्ट्रोलॉजर दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी .... गुरु हस्ती कृपा से ग्रहों के अनुसार पृथ्वी पर आने वाले अगले लगभग 175 दिनों तक यानी 23 सितंबर 2020 तक विश्व के कई देशों में कोरोना जैसे वायरस या अन्य तरह के कई वायरसों से या प्राकृतिक आपदाओं से या युद्ध से तबाही होने के संकेत परंतु भारत को आने वाले लगभग 90 दिनों तक बेहद संभलकर चलने की जरूरत यानी लगभग 06 जुलाई 2020 तक भारत इस वायरस पर पूरी तरह से अंकुश लगाने में हो जाएगा कामयाब , इसके अलावा 29 अप्रैल 2020 को पृथ्वी के पास से गुजरने वाले एस्टरॉयड से नहीं होगा दुनिया का अंत , कहते हैं ब्रह्मांड में कोई ईश्वरीय शक्ति मौजूद है , यदि नाहटा के बताए गए मंत्रों को पूरे भारतवासी कर गए तो नाहटा का मानना है कि जल्दी ही आज से 40 दिनों के भीतर यानी 14 मई 2020 तक भारत इस वायरस पर काबू पाने में सफल हो जाएगा और इन मंत्रों को करने वालों को यह वायरस छू भी नहीं सकेगा , इसके अलावा देश सेवा हेतु लोक कल्याण की भावना के उद्देश्य से नाहटा पूरे देशभर की जनता को हिम्मत देने हेतु यानी देशभर की जनता का मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से 06 अप्रैल 2020 से ज्योतिष के माध्यम से नाहटा बिल्कुल निशुल्क रूप से प्रतिदिन लोक डाउन तक देशभर की जनता के द्वारा पूछे गए दो सवालों का जवाब देंगे एवं नाहटा ने भारत सरकार को दिए सात नए सुझाव , इस एप्स में जानिए पूरी डिटेल्स .....
Image
ऑरा ने इंदौर में नए स्टोर के साथ अपनी खुदरा उपस्थिति का विस्ताकर किया भारत की प्रमुख डायमंड ज्वैलरी रिटेल चेन ने इंदौर में अपना नया स्टोर लॉन्च किया
Koo (कू) बना सार्वजनिक क्षेत्र में एमिनेंस मानदंड शेयर करने वाला पहला भारतीय सोशल नेटवर्क
Image
फीमेल एम्प्लॉयीज़ को मेंस्ट्रुअल लीव देने वाला मध्य भारत का पहला स्टार्टअप
Image