एक हफ्ते में 3 मुट्ठी भर अखरोट खाने से रह सकते है चुस्त-दुरुस्त 

नई दिल्ली: कैलिफोर्निया वॉलनट्स कमीशन ने आज “पावर ऑफ 3” ग्लोबल मार्केटिंग पहल शुरू करने की घोषणा की। यह इतने बड़े पैमाने पर चलाया गया पहला कैंपेन है, जिसमें उपभोक्ताओं को अखरोट खाने से होने वाले फायदों के बारे में शिक्षित करने का लक्ष्य रखा गया है कि किस तरह साधारण तरीके से अखरोट खाकर वह अपने शरीर में पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ा सकते हैं। फरवरी के इस प्यार भरे मौसम में आप इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ भी शेयर कर सकते हैं। इस कैंपेन में मुख्य रूप से अखरोट में मौजूद और शारीरिक पोषण के लिए जरूरी फैटी एसिड ओमेगा-3 एएलए के बारे में लोगों को बताया जाएगा। एक मुट्ठी अखरोट का वजन 28 ग्राम होता है। हर हफ्ते तीन मुट्ठी अखरोट खाने से शरीर को नट्स की आवश्यक जरूरत की पूर्ति हो जाती है और इससे समग्र आहार की गुणवत्‍ता में भी सुधार आता है।



 
यह कैंपेन दुनिया भर के 9 देशों में चलाया जाएगा, जिसमें अमेरिका, जर्मनी, भारत, जापान, दक्षिण कोरिया, स्पेन, तुर्की, ब्रिटेन और संयुक्त अरब अमीरात शामिल हैं। इस कैंपेन का फोकस एक ग्लोबल लैंडिंग पेज है। इस पेज पर मौजूद कंटेंट से यह दिखाया जाएगा कि दुनिया भर के उपभोक्ता अखरोट को प्रति अपने प्यार को किस तरह साझा करते हैं।
 
‘पावर ऑफ 3’ क्यों?


अखरोट नट्स की कैटेगरी में इकलौता ऐसा ड्राईफूट है, जिसमें पौधों में मिलने वाला ओमेगा-3 एलए (अल्फा- लाइनोलेनिक एसिड।) भरपूर मात्रा में मिलता है। 28 ग्राम अखरोट में 2.5 ग्राम अल्फा- लाइनोलेनिक एसिड होता है, जिसकी हर इंसान को जरूरत होती है।


कम से कम 3 मुट्ठी अखरोट हर हफ्ते खाना ( एक मुट्ठी अखरोट 28 ग्राम के बराबर होता है) शरीर को मिलने वाले पोषण तत्वों में सुधार लाने का बेहद साधारण तरीका है।


वेंलेंटाइन डे और अमेरिकन हार्ट मंथ के दौरान अपनी फैमिली और फ्रेंड्स के साथ कम से कम 3 लोगों के साथ, जिनकी आप परवाह करते हैं, के साथ यह जानकारी शेयर कर उनके साथ अपने प्यार को बांट सकते हैं।


 
कैलिफोर्निया वॉलनट्स बोर्ड एंड कमीशन में सीनियर मार्केटिंग डायरेक्टर इंटरनेशनल, पामेला ग्रेविएट, इस कैंपेन को दुनिया भर के उपभोक्ताओं से सीधे जुड़ने का प्रभावी तरीका मानती हैं। पामेला ने कहा,  “हम “पावर ऑफ 3” को पेश कर काफी उत्साहित हैं। यह अपनी तरह का इकलौता वैश्विक अभियान है, जो पूरी तरह से अच्छी सेहत के लिए अखरोट की अहमियत को हमारे सामने फिर उभारता है। कंपनी अखरोट को केवल उपभोक्ताओं की जिंदगी का हिस्सा ही नहीं बनाना चाहती, वह यह भी चाहती है कि उपभोक्ता अखरोट के अच्छे गुणों को अपने दोस्तों या परिवार के साथ भी शेयर करें और उन्हें अखरोट खाने के लिए ही प्रोत्साहित न करें, बल्कि अखरोटों को हमेशा खाते रहने के लिए उन्हें प्रेरित करें। PR