गांव-गांव जाकर रोजगार सहायक और पंचायत सचिव करेंगे ईज ऑफ लिविंग का सर्वे

सुसनेर। सुविधाजनक जीवन जीने के विभिन्न संकेतों को दृष्टिगत करते हुए शासन स्तर पर ग्रामों में निवास करने वाले परिवारों का 16 घटकों के 36 प्रश्नों पर ईज ऑफ लिविंग सर्वे किया जाना है। इस सर्वे कार्य की जिम्मैदारी ग्राम पंचायत स्तर पर पंचायत सचिव, ग्राम रोजगार सहायक को साेपी गई है, इनका सहयोग ग्रामीण आजीविका मिशन अंतर्गत आने वाली महिलाओं करेगी। उक्त कार्य के संपादन हेतु सर्वेक्षण दल का गठन किया गया है। शुक्रवार को जनपद पंचायत के सभाकक्ष में एनआरएलएम व जनपद पंचायत के द्वारा ईज ऑफ लिविंग मोबाइल आधारित एप्लीकेशन पर सर्वे किए जाने हेतु विकासखंड स्तरीय प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया गया। जिसमें राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन से जिला प्रबंधक व तकनीकी विशेषज्ञ नोडल अधिकारी हेमंत रामावत और जनपद पंचायत सीईओ पराग पंथी ने प्रोजेक्टर पर मोखिक रूप से प्रशिक्षण दिया। कार्यक्रम का संचालन एनआरएलएम के ब्लॉक प्रबंधक विष्णु मालवीय ने किया। इस अवसर पर पंचायत सचिव, रोजगार सहायक, स्वसहायता समूहो की महिलाएं व जनपद के तरुण सोनी, आशीष मंडलोई, सतीश पांडे, राजेंद्र लोधी, रूपनारायण त्रिपाठी भी मौजूद थे।