महाशिवरात्रि पर विशेष :पीपल के वृक्ष में से प्रकट हुएं थे पीपलेश्वर महादेव

सुसनेर। अभी तक आपने शिव और उनके मंदिरो के बारे में अनेक किस्से सुने होंगे। लेकिन आगर जिलें के सुसनेर में एक शिवलिंग ऐसा भी है। जो पीपल के वृक्ष में से प्रकट हुआ था। यह शिवलिंग सुसनेर के खेडापति हनुमान मठ मंदिर में विराजित है। जिसे श्रद्धालु पीपलेश्वर महादेव के नाम से पूजते आ रहे है। कहां जाता है कि सालों पहले खेडापति हनुमानजी की प्रतिमा एक विशाल पीपल के वृक्ष के नीचे विराजित थी, वृक्ष की आयु पूर्ण हुई और जब उसे यहां से हटाया गया तो उसमें से शिवलिंग को बाहर निकाल कर हनुमानजी की प्रतिमा के सामने ही एक छोटा सा मंदिर बनाया गया। जिसमें बीते वर्षो ही प्राण प्रतिष्ठा करके शिवलिंग की स्थापिना की गई। इस मंदिर में आने वाले श्रद्धालु हनुमानजी के साथ पीपलेश्वर महादेव की पूजा-अर्चना करके धर्मलाभ ले रहे है। 


तिल-तिल बढता है शिवलिंग


खेडापति के दरबार में विराजित पीपलेश्वर महादेव का यह शिवलिंग साल दर साल तिल-तिल बढता है। इस शिवलिंग की लम्बाई 3 फीट से भी ज्यादा है, जब यह शिवलिंग पीपल के वृक्ष में था। तब से श्रद्धालुओं की द्वारा इसकी पूजा की जाती आ रही है। शिवलिंग काले पत्थर का होकर बडे आकार का है। प्राण प्रतिष्ठा कर चारो ओर जलाधारी लगाई गई है।


पीपल के वृक्ष में से यह शिवलिंग निकला था। जिसे बीते वर्षो ही विधिविधान से प्राण प्रतिष्ठा कर मंदिर में ही विराजमान किया गया है। श्रद्धालु इसे पीपलेश्वर महादेव के नाम से पूजते है। महाशिवरात्रि पर इनका महारूद्राभिषेक कर श्रृंगार किया जाएगा।  
                                   रामसिंह कावल 
                    अध्यक्ष, खेडापति हनुमान मठ मंदिर सुसनेर।


Popular posts
कोरोना से कब मिलेगी पृथ्वी को निजात.... 👏👏👏 ब्यावर के एस्ट्रोलॉजर दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी .... गुरु हस्ती कृपा से ग्रहों के अनुसार पृथ्वी पर आने वाले अगले लगभग 175 दिनों तक यानी 23 सितंबर 2020 तक विश्व के कई देशों में कोरोना जैसे वायरस या अन्य तरह के कई वायरसों से या प्राकृतिक आपदाओं से या युद्ध से तबाही होने के संकेत परंतु भारत को आने वाले लगभग 90 दिनों तक बेहद संभलकर चलने की जरूरत यानी लगभग 06 जुलाई 2020 तक भारत इस वायरस पर पूरी तरह से अंकुश लगाने में हो जाएगा कामयाब , इसके अलावा 29 अप्रैल 2020 को पृथ्वी के पास से गुजरने वाले एस्टरॉयड से नहीं होगा दुनिया का अंत , कहते हैं ब्रह्मांड में कोई ईश्वरीय शक्ति मौजूद है , यदि नाहटा के बताए गए मंत्रों को पूरे भारतवासी कर गए तो नाहटा का मानना है कि जल्दी ही आज से 40 दिनों के भीतर यानी 14 मई 2020 तक भारत इस वायरस पर काबू पाने में सफल हो जाएगा और इन मंत्रों को करने वालों को यह वायरस छू भी नहीं सकेगा , इसके अलावा देश सेवा हेतु लोक कल्याण की भावना के उद्देश्य से नाहटा पूरे देशभर की जनता को हिम्मत देने हेतु यानी देशभर की जनता का मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से 06 अप्रैल 2020 से ज्योतिष के माध्यम से नाहटा बिल्कुल निशुल्क रूप से प्रतिदिन लोक डाउन तक देशभर की जनता के द्वारा पूछे गए दो सवालों का जवाब देंगे एवं नाहटा ने भारत सरकार को दिए सात नए सुझाव , इस एप्स में जानिए पूरी डिटेल्स .....
Image
ऑरा ने इंदौर में नए स्टोर के साथ अपनी खुदरा उपस्थिति का विस्ताकर किया भारत की प्रमुख डायमंड ज्वैलरी रिटेल चेन ने इंदौर में अपना नया स्टोर लॉन्च किया
फीमेल एम्प्लॉयीज़ को मेंस्ट्रुअल लीव देने वाला मध्य भारत का पहला स्टार्टअप
Image
लाख तरक्की के बावजूद हम बुजुर्गों का ख्याल रखने में पीछे हैं- अतुल मलिकराम
Image
बाबा बैजनाथ महादेव का आज का संध्या श्रृंगार दर्शन
Image