मुक्ति का कोई तो जतन कर ले, थोडा-थोडा हरि का भजन कर ले- पंडित पंचोली

सुसनेर। मन  बच्चे के समान बहुत चंचल है, हर थोडी-थोडी देर में इधर-उधर भटक जाता है, जिस प्रकार वायु को वश में नहीं किया जा सकता है, उसी प्रकार मन को वश में करना बहुत कठिन होता है, इसलिए कथा के दौरान भजन करते रहना चाहिए ताकि जो भटका हुआ मन है वह फिर वापस लोट कर आ जाये। उक्त विचार शनिवार से आफिसर कॉलोनी में शुरू की गई सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा में पहले दिन पंडित कैलाशनारायण पंचोली कजलास वाले ने उपस्थित श्रद्धालुओं को सम्बोंधित करते हुएं व्यक्त किये।



 


उन्होने भजन के माध्यम से बताया कि मुक्ति का कोई तो जतन कर ले, थोडा-थोडा हरि का भजन कर ले संगत कर अच्छे लोगों की दवा मिलेगी फकीरों की, जिन्दगी का अपने जतन कर ले, थोडा-थोडा हरि का भजन कर ले। नगर के डाक बंगला रोड पर सिंचाई विभाग स्थित श्री मनकामनेश्वर महादेव मंदिर से बैंड बाजे के साथ की कलश यात्रा निकालकर के कथा की शुरूआत की गई। कलश यात्रा में महिलाएं सिर पर कलश लिये शामिल थी। शनिवार से शुरू हुई यह कथा 7 फरवरी तक आयोजित होगी। अंतिम दिन पूर्णाहुति के साथ कथा का समापन किया जाएगा। प्रतिदिन दोपहर 12 से 4 बजे पंडित कैलाशनारायण पंचोली के मुखारबिंद से कथा का वाचन किया जा रहा है। जिसमें बडी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित होकर धर्मलाभ ले रहे है।


Popular posts
भाजपा नेताओं की आपसी फूट के चलते गरीबों की आवास योजना चढ़ी राजनीति की भेंट: मामला प्रधानमंत्री आवास योजना का: अपात्र हितग्राहियो द्वारा सौंपा गया ज्ञापन
Image
पेन स्टूडियोज़ की जया जानकी नायक/खूँखार यूट्यूब पर 500 मिलियन से अधिक व्यूज़ पार करने वाली पहली भारतीय फिल्म
Image
एसबीआई जनरल इंश्योरेंस:डिजिटल हेल्थ कैम्पेन के साथ 80 लाख लोगों तक पहुँचने और उनके शरीर और दिमाग में बदलाव लाने का लक्ष्य
Image
"मेरा पहला विश्व खिताब मेरे करियर में सबसे खास रहा है क्योंकि मैं वहां बिना कुछ बने गया था": पंकज आडवाणी
Image
विशेष संपादकीय- सामाजिक दायित्वों का सजग प्रहरी शब्द संचार
Image