विघुत कार्य के लिए 4 घंटे का था परमिट, मनमानी से साढे 5 घंटे बंद रही बिजली

सुसनेर। नगरीय क्षेत्र में उपखंड सुसनेर में चल रहे बिजली कार्य के चलते आज ठैका कम्पनी ने 4 घंटे का परमिट लिया था। जिसके तहत सुबह 10 बजे से बंद हुआ विघुत प्रदाय दोपहर 2 बजे शुरू किया जाना था। किन्तु बिजली कम्पनी की मनमानी के चलते पूरे साढे पांच घंटे तक विघुत प्रदाय बंद रहा। साढे 3 बजे के बाद ही विघुत प्रदाय शुरू हो सका। ऐसे में सुसनेर नगर के अलावा अन्य 6 फीडरो के उपभौक्ताओं को काफी परेशानीयों का सामना करना पडा। बिजली से जूडे कई सारे कार्य प्रभावित भी हुएं तो वही सुसनेर टाउन के अन्तर्गत आने वाले मैना, परसुलिया, धतुरिया, सालरिया, कडिया, मोडी फीडर पर भी बिजली बंद रही, इस बीच उपभौक्ताओं को काफी परेशानी हुई। रविवार को बिजली कम्पनी के ठैकेदार के द्वारा कार्यालय परिसर के ग्रीड में नई मशीने व तारों को लगाए जाने का कार्य किया गया तो वही मैना रोड व परसुलिया रोड पर भी बिजली कम्पनी के कर्मचारी दिन भर कार्य करते रहे। ऐसे में बिजली कटौती का खामीयाजा नगरवासियों को भुगतना पडा। बता दें कि विघुत वितरण कम्पनी की मनमानी के चलते उपभौक्ताओं को खपथ से ज्यादा बिजली बिल थमाए जा रहे है। भले ही सरकार 100 यूनिट तक 100 रूपये का बिजली बिल देने की बात कर रही हो, लेकिन आज भी क्षेत्र में बिजली बिलाे की समस्याएं खत्म नहीं हो रही है। अक्सर बिजली बिलों को लेकर किसानों, उपभौक्ताओं से बिजली कम्पनीयो का विवाद भी होता रहता है।