कोरोना से बचना है तो सजग सतर्क रहना होगा।

देश के ताजा हालात पर रचित रचना~


चीन से चलकर धीरे-धीरे भारत आया कोरोना।
भारत मां के हर प्रदेश में अब है छाया कोरोना।
सावधानी के सिवा ना कोई समाधान बीमारी का।
भीड़-भाड़ से बचे रहो ना लेगी रुप महामारी का।
तीसरा सप्ताह वायरस का ज्यादा घातक होता है।
बम से ज्यादा कोरोना का वायरस मारक होता है।
पालन करना होगा सबको शासन के निर्देशों का।
जरूरी हो तो बाहर निकले सम्मान करें आदेशों का।
प्रधानमंत्री के संबोधन को लेना सब गंभीरता से।
बाईस मार्च को जनता कर्फ्यू सफल करें सब दृढ़ता से।
डरे नहीं बस सजग रहें और करें जागरूक लोगों को।
दोएं हाथ व मास्क भी पहने रखे दूर इन रोगों को।
कोरोना से बचना है तो सजग सतर्क रहना होगा।
अपने आसपास के लोगों से भी यह कहना होगा।


कवि-शानदार शरद 
मोड़ी , आगर
9165415900


Popular posts from this blog

रविवार से लापता युवक का शव मिला:तहकीकात जारी

फिल्मी स्टाईल में सनसनीखेज वारदात:सराफा बाजार में बंदुकधारी बदमाशों ने सब्बल से ताले तोड़े और बोरो में भरकर ले गए जेवरात

जंगल मे पड़ा हुवा था खून से सना हुवा शव: चरवाहे की हत्या की आशंका:पुलिस कप्तान ने किया घटना स्थल का निरीक्षण