रंगों से सराबोर होगा नगर,रंग गुलाल व पिचकारियों से सजा बाजार:कल त्यौहारी हाट में जमकर होगी बिक्री

अगर मालवा- रंगो के त्यौहार से बाजार रंगीन होने लगा है। जगह-जगह रंग गुलाल और पिचकारी की दुकाने सज गई है।इस बार होलिका दहन 9 मार्च सोमवार को किया जाएगा जबकि 10 मार्च मंगलवार को रंगोत्सव का आयोजन होगा।मालवा में इसे धुलेंडी के नाम पर जाना जाता है। यहां धुलेंडी से ज्यादा रंग पंचमी का महत्व रहता है।
बाजार में नगर पालिका के सामने से लेकर अस्पताल चौराहे तक और दूसरी दिशा में नई सब्जी मंडी तक कई स्थानों पर होली के सामान की दुकानें लगी हुई है। रंग गुलाल के अलावा शक्कर से बनी हुई मालाएं लकड़ी की खांडिया इत्यादि भी बड़ी संख्या में बिक रही है। कल रविवार को हाट बाजार होने से होली की ग्राहकी का जोर रहेगा। परंपरागत रूप से नगर में कई स्थानों पर होलिका का दहन होगा। अगले दिन धुलंडी  मनाई जाएगी।बच्चों में होली को लेकर खासा उत्साह है हालांकि कोरोना वायरस को लेकर सजगता भी बरती जा रही है।  ग्रामीण क्षेत्र में होली की अपनी परंपरा है यहां धुलेंडी और रंग पंचमी दोनों ही हर्षोल्लास के साथ मनाई जाती है।जले हुए आईल,गोबर और कीचड़ होली का आयोजन भी कई गांव में होता है।


मंदिरों में जारी है फाग उत्सव
 


नगर के मंदिरों में फाग उत्सव का सिलसिला जारी है बाबा बैजनाथ महादेव मंदिर में भी फाग गीत गाए जा रहे हैं।भक्त मंडल के सदस्य गण सुबह से पहुंचकर बाबा को फाग गीत सुना रहे हैं। अन्य मंदिरों में भी महिला मंडलों द्वारा फाग गीत गाकर रंग गुलाल उड़ाया जा रहा है।


घर घर जाकर रंग डालेगी गैर


मालवा में लंबे समय से होली के दिन रंग डालने की परंपरा चली आ रही है। जिन घरों में मय्यत होती है वहां पहली होली के दिन रंग डाला जाता है सामूहिक रूप से गैर घर घर जाकर रंग डालने का कार्य करती है।