बिना मैसेज के आने वाले किसानों की फसल का तौल किसी भी स्थिति में नहीं होगा: 15 अप्रैल से उपार्जन केन्द्रों पर समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी होगी प्रारंभ

आगर-मालवा- राज्य शासन के निर्देशानुसार रबी विपणन वर्ष 2019-20 ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी का कार्य जिले में 15 अप्रैल से प्रारंभ किया जा रहा है।


जिले के प्रत्येक उपार्जन केंद्र पर प्रारंभ में प्रतिदिन 6 किसानों को एनआईसी भोपाल द्वारा एसएमएस भेजकर बुलाया जाएगा। जिनसे दो पाली में गेहूं का उपार्जन किया जाएगा। प्रथम पाली में समय प्रातः 10 से 1ः30 बजे तक तथा द्वितीय पाली में समय 2 से 5ः30 बजे तक तीन-तीन किसानों की फसल का तौल किया जाएगा। उपार्जन केंद्र पर कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने एवं बचाव हेतु पूरी सावधानी एवं सतर्कता बरती जाएगी। कलेक्टर  संजय कुमार द्वारा प्रत्येक केन्द्रों पर व्यवस्थाओं के लेकर नोडल एवं सहायक नोडल अधिकारी की भी नियुक्ति की जा चुकी है। जिला आपूर्ति अधिकारी ने बताया कि यदि एसएमएस भेजें किसान किसी कारण से निर्धारित तिथि को पहुंच नहीं पाते हैं, तो उन्हें पुनः शीघ्र एसएमएस भेजकर बुलाया जाएगा। उपार्जन केंद्र पर वहीं किसान अपनी फसल लेकर आएंगे जिन्हें एसएमएस प्राप्त होगा। बिना मैसेज के आने वाले किसानों की फसल का तौल उपार्जन केन्द्र पर किसी भी स्थिति में नहीं किया जाएगा। जिला आपूर्ति अधिकारी ने जिलें के किसानों से अपील की है कि एसएमएस प्राप्त होने पर ही खरीदी केन्द्रों पर फसल लेकर तौल कराने जाए।साथ ही खरीदी केन्द्रों पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन कोरोना वायरस से बचने के लिए जरूर करें। एक-दूसरे से दूरी बनाए तथा समय-समय पर अपने हाथ साबुन से धोए एवं सेनेटाईज करें। उपार्जन केन्द्रों पर व्यवस्था बनाए रखने में जिला प्रशासन का सहयोग करें।