दो बसों से 57 प्रवासी मजदूरों को अपने गंतव्य की ओर रवाना

 आगर-मालवा-काॅरोना वायरस के कारण जारी लाॅकडाउन में प्रवासी मजदूरों को हर संभव सहयोग जिला प्रशासन द्वारा मुहैया करवाया जा रहा है। जिले की सीमा में अन्य जिले एवं राज्यों से प्रवेश करने पर मजदूरों को सम्मानपूर्वक राहत स्थलों पर रोककर उनका स्वास्थ्य परीक्षण करवाकर उनके रहने व भोजन, पानी की व्यवस्था की जा रही है। मजदूरों को उनके गंतव्य स्थल तक जाने में परेशानी न हो, इसके दृृष्टिगत जिला प्रशासन द्वारा उन्हें छोड़ने के लिए वाहन व्यवस्था भी की जा रही है। 
शुक्रवार की रात्रि 12ः30 बजे आगर जिले की सीमा में अन्य स्थानों से 57 मजदूर आए। जिन्हें कलेक्टर  संजय कुमार के निर्देशानुसार एसडीएम महेन्द्र सिंह कवचे द्वारा राहत शिविर में रूकवाकर भोजन व रहने की व्यवस्था की गई। अगले दिन शनिवार को सभी मजदूरों को स्वास्थ्य परीक्षण करवाया गया। साथ ही कलेक्टर के निर्देश पर मजदूरों को अपने गंतव्य स्थान पर छोड़ने के लिए दो बसों की व्यवस्था कर रवाना किया गया। जिसमें एक बस में तराना एवं उज्जैन के मजदूर तथा एक बस से कटनी एवं विदिषा जिले के मजदूरों को भेजा गया है।