ग्रामीण आजीविका मिशन की सामर्थ किसान कम्पनी द्वारा रवि फसल की खरीदी शुरू

आगर-मालवा- प्रत्येक वर्ष की तरह इस बार भी 23 अप्रैल से समर्थ किसान प्रोड्यूसर कंपनी जिला आगर  द्वारा सीड प्रोडक्शन प्रोग्राम के तहत गेंहू, चना, मसूर फसल के उपार्जन का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया हैं।कम्पनी द्वारा आज 1847 क्विंटल गेंहू की खरीदारी की गई है। इस दौरान जिला प्रबन्धक हेमंत रामावत द्वारा  प्रोड्यूसर कम्पनी के इस कार्य का निरीक्षण करते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को दृष्टिगत रखते हुए जिला प्रशासन से अनुमति उपरान्त तथा शासन द्वारा कोरोना वायरस की रोकथाम हेतु जारी निर्देश अनुसार विशेष उपार्जन प्रक्रिया का पालन करते रहने हेतु निर्देशित किया गया ।
 इस उपार्जन कार्य हेतु जिला प्रशासन द्वारा कम्पनी में कार्यरत सभी कर्मचारियों को पास जारी किए हैं। इस कार्य के तहत किसानों से गेंहू, चना, मसूर खरीदारी हेतु अल्फाबेट क्रमानुसार  अक्षर तक शुरू हो रहे ग्रामो को चिन्हित कर क्रमानुसार किसान को निर्धारित समय के पूर्व में एसएमएस के माध्यम से सूचित किया जा रहा है, ताकि सोशल डिस्टेंस व हाइजिन का पालन हो सके। प्रतिदिवस 10 किसानों को ही बुलाया जा रहा हैं। प्रत्येक ट्राली अथवा लोडिंग वाहन के साथ सिर्फ 1-2 व्यक्ति को ही कम्पनी प्रांगण में आने की अनुमति दी जा रही है। इस बार रबि सीजन में कम्पनी के माध्यम से 299 किसान बीज उत्पादन कार्यक्रम अंतर्गत पंजीकृत है जिसमे से 284 कृषको ने 515 हेक्टेयर में गेहूं की विभिन्न 7 अनुसंशित किस्मो का बीज उत्पादन कार्यक्रम लिया है जिससे 21040 क्विंटल गेंहू का उपार्जन होना है, 10 कृषको ने चना फसल अंतर्गत 2 किस्मो का बीज उत्पादन कार्यक्रम लिया है जिससे 600 क्विंटल का उपार्जन होना है तथा 5 कृषकों ने मसूर की एक अनुसंशित किस्म का बीज उत्पादन कार्यक्रम लिया है जिससे 100 क्विंटल का उपार्जन होना है।
   प्रोड्यूसर कम्पनी द्वारा बीज उत्पादन कार्यक्रम से जुड़े कृषकों से शासन द्वारा जारी अधिकतम समर्थन मूल्य (डैच) पर उनकी उपज खरीदी जाती हैं साथ ही साथ कम्पनी अपनी और से इस बार इन किसानों को गेंहू पर 150/- रुपये प्रति क्विंटल, चना व मसूर पर 200/- रुपये प्रति क्विंटल की दर से अतिरिक्त बोनस भी देने का  निर्णय भी लिया है। इतना ही नही कम्पनी अपने इन शेयर होल्डर से उपज खरीदी के समय लगने वाले लेबर व हम्माली शुल्क भी किसानों से नही लेते हुए स्वयं वहन करती हैं। किसान द्वारा कम्पनी को बेची गई उपज का मूल्य किसान के खाते में निर्धारित समय पर भुगतान कर दिया जाता हैं। इन सब सुविधाओं व समय-समय पर कम्पनी प्रदाय तकनीकि के कारण आज यह ग्रामीण आजीविका मिशन के समूह सदस्य सह कम्पनी शेयर होल्डर जिले के उन्नत व प्रगतिशील किसानों की श्रेणी में आ गए हैं।जिसके कारण यह किसान अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।
समर्थ किसान प्रोड्यूसर कम्पनी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रामसिंह ठाकुर का कहना है कि उपार्जन प्रक्रिया प्रारंभ होने से पूर्व खरीदारी स्थल पर संलग्न सभी हम्मालों, मजदूरों, कर्मचारियों का स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जा चुका है तथा प्रतिदिन इन सभी कर्मचारियों व उपस्थित किसानों की स्वास्थ्य सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए कम्पनी द्वारा उपार्जन प्रक्रिया जारी रहने तक खरीदी स्थल पर मास्क, सेनिटाइजर, हैंडवाश, साबुन आदि स्वच्छता सामग्री की व्यवस्था भी सुनिश्चित की गई है साथ ही प्रतिदिन कम्पनी अंतर्गत आने वाले कर्मचारियों व किसानों की स्वास्थ्य सर्वे सम्बन्धी जानकारी भी संधारित की जा रही हैं तथा समय- समय पर शासन स्तर से प्राप्त निर्देशों का पालन किया जा रहा हैं।


Popular posts
अजय झंजी जिला प्रेस क्लब के निर्विरोध अध्यक्ष बने
Image
👹 *तिरिभिन्नाट एक्सप्रेस* 👹 *जानू मेरी जानेमन,दिल तुझे दिया है..बचपन का प्यार मेरा भूल नही जाना रे- आपका कोरोना*
Koo (कू) बना सार्वजनिक क्षेत्र में एमिनेंस मानदंड शेयर करने वाला पहला भारतीय सोशल नेटवर्क
Image
लाख तरक्की के बावजूद हम बुजुर्गों का ख्याल रखने में पीछे हैं- अतुल मलिकराम
Image
ऑरा ने इंदौर में नए स्टोर के साथ अपनी खुदरा उपस्थिति का विस्ताकर किया भारत की प्रमुख डायमंड ज्वैलरी रिटेल चेन ने इंदौर में अपना नया स्टोर लॉन्च किया