जिला चिकित्सालय उज्जैन के जाबांज चिकित्सा विशेषज्ञ डॉ.एच.पी.सोनानिया:पहले स्वाईन फ्लू और अब कोरोना के नोडल अधिकारी के रूप में दे रहे है सेवा

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, जिला उज्जैन डॉ.अनुसुईया गवली सिन्हा ने बताया कि कोरोना वायरस के नोडल अधिकारी चिकित्सा विशेषज्ञ डॉ.एच.पी.सोनानिया का नाम आज संपूर्ण शहर के लिये जाना-पहचाना हो गया है। लगभग 10-12 वर्षों से जिला चिकित्सालय उज्जैन अपनी विशेषज्ञ सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। मृदुभाषी, हंसमुख व सरल स्वभाव के डॉ.एच.पी.सोनानिया लम्बे समय से जिले में संक्रामक बीमारियों की रोकथाम के लिये नोडल अधिकारी का दायित्व निभा रहे है। पूर्व में वर्ष 2009-10 में वे स्वाईन फ्लू डीजीस कन्ट्रोल में भी नोडल अधिकारी के रूप मे सेवाएं प्रदान कर चुके है। डॉ.सोनानिया कोरोना वायरस के प्रति बेहद गंभीर एवं संवेदनशीलता से कार्य कर रहे हैं। चौबीस घंटे सेवाओं के लिये उपलब्ध रहते हैं। संदिग्ध प्रकरण की जानकारी प्राप्त होते ही वे तुरन्त मरीज का सामान्य परीक्षण करते है एवं पैथालॉजी स्टाफ की मदद से उसका सेम्पल एकत्रित कर जांच के लिये भिजवाते हैं। डॉ.सोनानिया हमेशा सकरात्मक ऊर्जा के साथ शासकीय माधव नगर चिकित्सालय में स्थापित कोविड-19 आइसोलेशन युनिट में रोगियों के बीच पीपीई किट पहनकर प्रोटोकाल का पूर्ण पालन कर उचित उपचार प्रदान करते हैं। यदि कोई मरीज पॉजीटिव आ जाता है तो उसकी पूरी हिस्ट्री फौरन तैयार करना होती है। कई बार तो रातभर कार्य करने बाद भी दिन में पूर्ण तत्परता के साथ पुनः कार्य में लग जाते है। उज्जैन में कोरोना वायरस के पॉजीटिव मरीजों के बीच सजगता व सुरक्षा से कार्य करने वाले कोरोना योद्धा के समर्पण का ही यह परिणाम है कि डॉ.सोनानिया की भी कोरोना की जांच रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है, जो इस बात का सूचक है कि शासन द्वारा दिये गये दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए एवं विभाग द्वारा समय-समय पर बताई गई सावधानियों का पालन करते है तो इस बीमारी से बच सकते है।