जिला प्रशासन की अभिनव पहल:राशन, सब्जी, दूध, दवाई। अब मिलेगी, घर-घर भाई।। आप तो बस एक फ़ोन लगाओ। घर बैठे ही सुविधा पाओ।।           

आगर मालवा- सभी व्यापारी साथियों से सुव्यवस्थित कार्य के लिए सुझाव है कि ग्रामीण व्यापारी से एक दिन पूर्व व्हाट्सएप्प या एसएमएस के रूप में आर्डर लेकर  सभी आर्डर अनुसार माल पैक हो जाने पर एक-एक कर उनको फोन लगाकर या व्हाट्सएप्प पर सूचना कर माल दे सकते है। इस मैं ध्यान ये रखना है कि दुकान का शटर बंद रहे। बिना आर्डर लिया किसी भी व्यापारी या ग्राहक को दुकान पर बुलाकर बैठा कर माल नही दे। जो थोक व्यापारी अपनी गाड़ी से माल की दुकान या घर पर होम डिलीवरी देना कहते है। वे गाड़ी पर आवश्यक वस्तु की सप्लाई स्टिकर लगा ले, गाड़ी में गाड़ी के आवश्यक दस्तावेज के साथ सामग्री का बिल, अपना खाद्य लाइसेंस पहचान पत्र आदि अवश्य ले जावे। किसी भी स्थति में गाड़ी में 2 से अधिक कर्मचारी न जाये। गाड़ी में कर्मचारी मास्क सेनेटाइजर या साबुन अवश्य ले जाए। थोक व्यापारी ग्रामीण दुकान दार को या होम डिलीवरी के अलावा काउंटर से आम उपभोक्ता को माल नही दे। शासन के सभी निर्देश का पालन अनिवार्य रूप से करें।
अगर कोई दिक्कत/ समस्या हो तो स्थानीय नगर पालिका, तहसील कार्यालय या पुलिस प्रशासन एवम ग्रामीण क्षेत्र के लिये पंचायत से संपर्क कर सकते है। ग्रामीण व्यापारी को माल की सप्लाई देने का समय सुबह 10 से शाम 4 बजे तक रख सकते है।  जब तक एक व्यापारी के माल की डिलेवरी पूरी नहीं हो तब तक दूसरे व्यापारी को नही बुलाया जाए। विशेष रूप से प्रशासन ने यह छुट आवश्यक खाद्यान्न सामग्री की आपूर्ति के लिए दी है, इस दौरान तंबाकू उत्पाद, पान मसाला, शीतल पेय, बीड़ी, जर्दा, का विक्रय न करे।


होम डिलीवरी में जो माल आपके पास दुकान में उपलब्ध है उसी का ऑर्डर ले जो माल नही है उसके लिए मना कर सकते है या आर्डर दूसरे दुकानदार को हस्तनान्तरित कर सकते है। किसी भी सामग्री का मूल्य अनावश्यक रूप से बढकर न लगाये।पैक वस्तु एम आर पी से अधिक में किसी भी विक्रय न करे। नगद लेनदेन में कोरोना संक्रमण का खतरा अधिक संभावित है इसलिए अधिक से अधिक ऑनलाइन या डिजिटल पेमेंट जैसे वॉलेट( paytm, pay phone, google pay) का उपयोग करे।नगद लेनदेन के बाद तब तक चेहरे, आंख, नाक, एवम मुँह पर न लगाये जब तक हाथ साबुन से न धोले। बाहर से आने, किसी भी वस्तु व्यक्ति के छूने के बाद बार बार साबुन से हाथ धोना ही सबसे बड़ा उपाय है।हो सके तो प्रतिदिन अपने संपर्क में आने वाले व्यक्ति की डेली डायरी बनाये। कोरोना से बचने के लिए व्यक्तिगत संपर्क से बचाव का विशेष ध्यान रखे।