खाद्य प्रतिष्ठान एवं मेडिकल की आपूर्ति एवं कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुये की जांच

आगर-मालवा- खाद्य सुरक्षा अधिकारी के एल कुम्भकार द्वारा खाद्य सुरक्षा जांच दल के साथ बुधवार को नलखेड़ा नगर के लक्की किराना, दयाल ट्रेडर्स, सुनील इंटरप्राइज, गोयल ट्रेडर्स, गुलाम अली फिदा हुसैन, एच अब्दुल हुसेन, सेठी किराना, देवनारायण किराना, सैफी किराना एवं सब्जी फल के ठेलो की जांच की गई।


इस दौरान फल एवं सब्जी के ठेलो को  दुकानों की व्यवस्था मेडिकल एवं किराना दूकान से दूर तथा 2 ठेलो के मध्य कम से कम 50 फीट की दूरी की व्यवस्था हेतु नगर पालिका एवं पुलिस प्रशासन के कर्मचारी को व्यवस्था करवाने को कहा गया, सामाजिक दूरी के प्रोटोकाल का पालन हो सके। उन्होंने आवश्यक खाद्य सामग्री एवं दवाई, मॉस्क, सेनेटाइजर  का भंडारण बनाये रखने, रेटलिस्ट दुकानों पर चस्पा करने, निर्धारित एमआरपी या इससे कम में ही विक्रय करने, पंक्तिबन्द कम से कम 1 मीटर की दूरी पर ही ग्राहकों को खड़े रहने, दुकान के काउंटर, गेट, रेलिंग को ग्राहकों से न छूने की अपील करने, पैसे के लेनदेन के बाद दुकानदारो से तब तक चेहरे, आंख, नाक, मुँह पर हाथ न लगने की अपील की है जब तक हाथ साबुन या सेनेटाइजर से साफ न कर लिए हो।
खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने दुकान मालिक एवं ग्राहकों के स्वस्थ को ध्यान में रखते हुए, परस्पर दूरी बनाये रखने  के निर्देश दिए। खाद्य सामग्री एवं दवाई की सप्लाई में आ रही समस्या की जानकारी दुकानदारों से ली गई। उन्होंने दुकानदारों से कहा कि समस्या का निराकरण कराने प्रयास शासन स्तर पर किया जा रहा है। किन्तु मूल्य में कोई बढ़ोतरी न की जाए। उन्होंने कहा कि देश एवम प्रदेश में किसी भी सामग्री की कोई कमी नही है। बेवजह आवश्यक सामग्री के अभाव की अपवाह फैला कर रेट बढ़ाने पर कानूनी कार्यवाही की जाएगी। इसलिए सभी किराना एवं मेडिकल संचालक आवश्यक वस्तु के भाव मे एकरूपता लाने के लिए इनकी रेट लिस्ट दुकान पर प्रदर्शित करे। किसी भी दुकान दार को सामग्री के परिवहन हेतु पास की आवश्यकता है तो जिले के अंदर परिवहन हेतु एसडीएम या तहसील कार्यालय एवं अन्तर जिले या राज्य में परिवहन हेतु अपर कलेक्टर कार्यालय से आवश्यक दस्तावेज के साथ आवेदन कर सकते है।  जांच दल में नायब तहसीलदार प्रियंक श्रीवास्तव, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी योगेश राणावत, खाद्य सुरक्षा अधिकारी के एल कुम्भकार, राजेंद्र शर्मा मंडी निरीक्षक, राहुल बैरागी स्वछता निरीक्षक नगर पालिका एवं स्थानीय पुलिस बल शामिल रहा।
जांच दल द्वारा नगर के आनंद एवम फाफरिया मेडिकल पर ग्राहकों की भीड़ को देखते हुए, ग्राहक को पंक्ति बंद दूरी से ही खड़े रहने की व्यवस्था करने की हिदायत दी। 11 बजे दुकाने बंद हो जाने पर टीम के सदस्यों ने मंसूरी मेडिकल से सेनेटाइजर एवम मॉस्क के रेट एवम स्टॉक की जानकारी लेने पर पाया गया कि 2 एवम 3 लेयर, मॉस्क उपलब्ध न होना तथा 6 बोतल 50 एमएल जर्मी क्लीन बॉटल 40 रुपये में विक्रय करना बताया। जो नंद मेडिकल से क्रय करना बताया। जब नंद मेडिकल पहुच कर जांच की गई तो स्टॉक निरंक होना बताया। मालिक चतुर्भुज माहेश्वरी से पूछताछ में बिल उपलब्ध न होना पाया। साथ ही सेंटीजर का रेट 35 रुपये में क्रय कर 40 रुपये में विक्रय करना बताया। जबकि शहर के ही अन्य श्री कृष्णा मेडिकल पर यही सेनेटाइजर 25 रुपये में बेचना पाया गया। रेट में भिन्नता, स्टॉक पंजी एवं लाइसेंस प्रदर्शित नही पाये जाने से दोनो मेडिकल से जांच दल ने पंचनामा बनाया। मेडिकल संचालक को मुनाफाखोरी न करने की चेतावनी दी।


Popular posts from this blog

रविवार से लापता युवक का शव मिला:तहकीकात जारी

फिल्मी स्टाईल में सनसनीखेज वारदात:सराफा बाजार में बंदुकधारी बदमाशों ने सब्बल से ताले तोड़े और बोरो में भरकर ले गए जेवरात

सनसनीखेज अंधे कत्ल का पर्दाफाश:प्रेम संबंध के कारण पत्नी के जियाजी को उतारा था मौत के घाट:सुहागरात के दिन ही मृतक ने आरोपी से कहा था उससे दूर रहना