खुशियोंकीदास्ताँ:किसान के बेटे शिवराज ने समझा किसानो का दर्द:विपरित पररिस्थतियो मे प्रदेश मे गेहुं का उपार्जन कर लाए किसानो के चेहरो पर मुस्कान

आगर-मालवा- प्रदेश के साथ ही आगर जिले में गेहूं का उपार्जन 15 अप्रैल से 39 उपार्जन केन्द्रो पर आवश्यक तैयारी पूर्ण कर उपार्जन किया जा रहा है। इन केन्द्रो पर कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु प्रतिदिन एसएमएस के माध्यम से सूचना देकर किसानों को बुलाया जाता हैं, ताकि एसएमएस प्राप्त किसान ही केन्द्र पर आने से सोशल डिस्टेसिंग के मापदण्डों को पूरा किया जा सकें। 
  आज शनिवार को उपार्जन केन्द्र में किसान कैलाश चन्द्र पिता रोडमल ग्राम नरवल ने 11 क्विंटल,गेहूं का उपार्जन करवाया गया। कैलाशचन्द्र कहते है कि वर्तमान में पूरा विश्व इस कोरोना रूपी संक्रमण काल से लड़ रहा है। देश में भी कोरोना वायरस के संक्रमण के बचाव हेतु टोटल लाॅकडाउन कर, कई तरह के प्रतिबंध लागू किए गए है। इसके बावजूद भी प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चैहान द्वारा प्रदेश के किसानों मेहनत और तकलीफ को समझकर पूरे राज्य मे सरकार द्वारा गेहूं के उपार्जन की सभी व्यवस्थायें की गई है जो सराहनीय है। एसएमएस से सूचना मिल जाने से हमे तैयारी का अवसर मिल जाता है और उपार्जन केन्द्र में इन्तजार भी नहीं करना पड़ा।  साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने हेतु चिन्ह बनाए गए हैं। केन्द्र मे हाथ धोने के लिए साबुन एवं पानी की व्यवस्था रखी गई है। किसान एवं हम्मालों के लिए पेयजल तथा बैठक व्यवस्थायें भी की गई है। प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के द्वारा नियमित मानीटरिंग की जा रही है। 
  कैलाशचंद्र कहते है कि लाॅकडाउन के दौरान गेहूं के उपार्जन से मिलने वाली राशि हमारे परिवार के लिए बहुत उपयोगी है। प्रदेश के मुख्यमंत्री तथा जिला प्रशासन एवं इस कार्य में लगे सभी लोग बधाई के पात्र हैं। मैं उन्हें धन्यवाद देता हूॅं।