कोरोना वायरस से आमजनता को सुरक्षित रखने के लिए  पुलिस, प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग को और अधिक कड़ी मेहनत से कार्य करना होगा

आगर-मालवा- जिले में वर्तमान में एक भी पॉजिटिव मरीज नहीं है, जिले की सीमाओं से लगे अन्य जिलों में संक्रमित मरीज पाए गए हैं। लेकिन आगर जिला अभी तक सुरक्षित है। इसे आगे भी सुरक्षित रखने के लिऐ और अधिक एहतियाती बरतनी होगी। पुलिस, प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग को और अधिक कड़ी मेहनत से कार्य करना होगा, ताकि जिले की आमजनता का जीवन सुरक्षित रह सके।


 उक्त बात कलेक्टर संजय कुमार ने मंगलवार को जिला चिकित्सालय में चिकित्सकों से चर्चा करते हुए कही। कलेक्टर ने आगे कहा कि चिकित्सक अपने दायित्वों के प्रति गंभीर रहकर अधिक रूचि अपने कार्य में लेंगे तो जिला इस कोरोना रूपी जंग में निश्चित ही विजय प्राप्त करेगा। चिकित्सकों की भूमिका अहम हैं। अतः स्वयं को सुरक्षित रखते हुए, अपना कार्य करें। 
कलेक्टर ने कहा कि जो चिकित्सक एवं कर्मचारी वर्तमान में इस कार्य में रूची नहीं लेगा वह बाद मे निश्चित ही पछताएगा। सभी के सहयोग से ही इस संकट को टाला जा सकता है। विपदा की इस घड़ी में कई संगठनों एवं समाजसेवी संस्थाएं मदद के लिए आगे आए है, दानदाता भी अपनी ओर से अंशदान देकर जनता की मदद कर रहें है। ऐसे में शासकीय सेवक होने के नाते हमारा कर्तव्य है कि हम ऐसे समय में पूरी जिम्मेदारी से अपनी सेवा देकर हमारी सोसायटी को सुरक्षित रखें। समाज सुरक्षित रहेगा तो हम लोग भी अपने आप को सुरिक्षत महसूस करेंगे। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण के दौरान कई जगह देखने में आया हे कि आगर जिले की सीमा एवं अन्य जिलों से लगी सीमाओं के ग्रामीण लोगों द्वारा बांस, बलिया बांधकर अन्य स्थानों से लोगों की आवाजाही रोक दी है। जिससे गांव के लोग अपने आप का सुरक्षित रख पाएंगे।
कलेक्टर ने कहा कि सर्विलेंस टीम द्वारा घर-घर सर्वे किया जाकर बुखार, सर्दी, खांसी के मरीजों के चिन्हित किया जा रहा है। इसके बाद चिन्हित लोगों के सैम्पल लेने का कार्य किया जाएगा। जो कि चुनौतीपूर्ण कार्य होगा। कलेक्टर सभी चिकित्सकों को हौसला बढ़ाते हुए कहा कि इस संकट की घड़ी में अपना पूर्ण सहयोग मानव सेवा में दें। जिला प्रशासन आपके साथ है।