मजदूरों को लाने के दौरान बसों में सोशल डिस्टेंस का पालन अनिवार्य हो

आगर-मालवा- राज्य शासन द्वारा राज्य के बाहर विभिन्न राज्यों में मजदूरी के लिए गए मजदूर जो लाॅकडाउन में फंसे है, उन्हें वापस लाने का निर्णय लेकर कार्यवाही भी शुरू कर दी है। साथ ही जिला प्रशासन को अपने जिले के निवासी मजदूरों को लाने के निर्देश भी जारी किए गए है।  कलेक्टर संजय कुमार ने प्रदेश के सीमा में आने वाले मजदूरों को लाने के लिए 14 बसों को इंतजाम किया गया है। इसके लिऐ प्रभारी भी नियुक्त कर दिए गए है। जैसे-जैसे मजदूर आएंगे, आवश्यकतानुसार उन्हें लाने के लिए बसों को रवाना किया जाएगा। 
कलेक्टर  संजय कुमार ने  रविवार को बसों के लिए नियुक्त प्रभारियों की बैठक लेकर निर्देश दिए कि मजदूरों को वापस लाने के दौरान बसों में कोरोना वायरस को लेकर पूरी सतर्कता एवं सावधानी बरती जाए। बसों को पूरी तरह सैनेटाईज्ड किया जाए। हाथ धोने के लिए साबुन एवं सैनेटाईज की उपलब्धता रखें। साथ ही बसों में भी मजदूरों से सोशल डिस्टेंस मेंटेन करवाई जाए। मजदूरों के भोजन, पानी की व्यवस्था करें । उन्हें किसी प्रकार की परेषानी न हो। बसों में वायरस की रोकथाम के समुचित प्रबंध किए जाए। 
बैठक में सीईओ जिला पंचायत अंजली जोसेफ, अपर कलेक्टर एनएस राजावत, एसडीएम महेन्द्र सिंह कवचे, एसडीएम मनीष जैन सहित बसों के लिए नियुक्त प्रभारी उपस्थित रहे। 


Popular posts from this blog

आगर से भाजपा प्रत्याशी मधु गेहलोत 13002 मतों से व सुसनेर से कांग्रेस प्रत्याशी भैरूसिंह बापू 12645 मतों से जीते

ग्राम झालरा में गिरी आकाशीय बिजली:एक की मौत:एक घायल:नाना बाजार में मंदिर के शिखर का कलश गिरा

तवा भी बिगाड़ सकता है घर का वास्तु, जानिए रसोई में तवे का महत्व