सफलता की कहानी: मुख्यमंत्री की ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर ऋण योजना के माध्यम से दस हजार का ऋण प्राप्त कर शहनाज बी करेगी फिर से व्यवसाय संचालित

आगर मालवा,शब्द संचार न्यूज- कोविड-19 की वजह से संपूर्ण विश्व का जनजीवन प्रभावित हुआ है। महामारी के प्रकोप से देश प्रदेश के जनजीवन पर गहरा असर पड़ा है। महामारी की वजह से संपूर्ण देश मैं लॉकडाउन हो जाने से सारे कामकाज बंद हो गए थे ऐसी स्थिति में लोगों का रोजगार बंद हो गया। इस स्थति में देश प्रदेश की सरकारो ने नागरिकों की हर संभव मदद कर उन्हें सहायता पहुंचाई है।


मध्य प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी कई योजनाएं लागू की है जिससे की अपना व्यवसाय बंद होने से जो नागरिक बेरोजगार हुए है। वे फिर से अपना व्यवसाय शुरू कर सके। ऐसी ही स्ट्रीट वेंडर ऋण योजना जिसका शुभारंभ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया और आज वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान जिले कि मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन आगर से स्वयं सहायता समूह की सदस्य शहनाज बी से चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्राम तनोडिया की रहने वाली शहनाज भी से कोविड-19 के समय आजीविका गतिविधि संचालित करने में आने वाली परेशानी पर बात की। शहनाज बी ने बताया कि वह तनोडिया की रहने वाली है एवं स्वयं सहायता समूह की सदस्य है। स्वयं सहायता समूह से जुड़ने से पहले वह मजदूरी करती थी समूह से जुड़ने के बाद उसने समूह से 20000 का ऋण लिया एवं एक समोसे कचोरी जा ठेला लगाकर अपना व्यवसाय चालू किया। उसने बताया कि व्यवसाय अच्छा चल रहा था कि महामारी के वजह से लॉक डाउन हो गया और व्यवसाय बंद हो गया जिससे की परिवार का खर्च चलाना भी मुश्किल हो गया था। ऐसे में जिला प्रशासन ने भी आम जनता की आवश्यक सामग्री पहुंचा कर मदद की। शहनाज कहती है कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने होटल व्यवसाय सुचारू रूप से चलाने के लिए मुझे स्ट्रीट वेंडर लोन 10 हजार रुपए बिना गारंटी के देने की बात कही जिससे कि मेरा व्यवसाय सुचारू रूप से चल सके। शहनाज कहती है कि मुख्यमंत्री जी द्वारा स्ट्रीट वेंडर ऋण योजना चालू कर मेरे जैसे अनेकों बेरोजगार हुए व्यक्तियों को रोजगार चालू करने में सहायता मिलेगी। इसके लिए मैं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आभार प्रकट करती हूं।