एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मंत्री पुत्र के बीच होगा द्वंद:आगर विधानसभा उपचुनाव का शंखनाद भाजपा ने मनोज ऊंटवाल को बनाया प्रत्याशी, कांग्रेस से विपिन वानखेडे मैदान में

आगर-मालवा। विधानसभा उपचुनाव की सरगर्मियां बढ गई है। मंगलवार तक भाजपा अपना प्रत्याशी घोषित नहीं कर सकी थी। देर रात भाजपा ने पूर्व विधायक व पूर्व मंत्री स्व. मनोहर ऊंटवाल के पुत्र मनोज (बंटी) ऊंटवाल को प्रत्याशी घोषित कर दिया है। बुधवार से ही चुनावी चहकलस में अचानक तेजी आ गई क्योंकि भाजपा अब तक बिना कप्तान के ही बल्लेबाजी कर रही थी। जबकि कांग्रेस पूरी टीम के साथ लंबे अरसे से मैदान संभाले हुए है। कांग्रेस ने एनएसयूआई के प्रदेशाध्यक्ष विपिन वानखेडे को अपना प्रत्याशी बनाया है। दोनों ही प्रत्याशी युवा होकर उच्च शिक्षित है। मनोज ऊंटवाल बीई पास है जबकि विपिन वानखेडे ने एमबीए किया हुआ है। 


आगर विधानसभा सीट विधायक मनोहर ऊंटवाल के कारण रिक्त हुई थी। प्रदेश में २८ विधानसभा के साथ आगर में भी उपचुनाव संपन्न होना है। दोनों ही दल सीट पर कब्जा करने के लिए जी-जान लगा रहे है। मतदाताओं को रिझाने का क्रम करीब एक पखवाडे से चल रहा है। बडौद मेँ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की सभाएं आयोजित हो चुकी है। यह विधानसभा सीट परंपरागत रूप से भाजपा की रही है। पिछले विधानसभा में विपिन वानखेडे ने जिस अंदाज में किला लडाया था उससे भाजपा का यह गढ ढहते-ढहते बच गया था। इस लिहाज से अब की बार मुकाबला बेहद रोचक होने की संभावना है। वर्ष २००३ से ही यह सीट भाजपा के कब्जे में है। इसके पहले रामलाल मालवीय, शंकुतला चौहान, मधुकर मरमट सहित अन्य कांग्रेस से विधायक रह चुके है। २०१८ विधानसभा चुनाव में भाजपा के मनोहर ऊंटवाल को ८२१४६ और कांग्रेस को विपिन वानखेडे को ७९६५३ मत मिले थे। इस तरह श्री ऊंटवाल २४९० मतों से विजय रहे थे। अब देखना दिलचस्प यह रहेगा कि मतदाताओं का मन अब की बार किसके साथ जाता है। 


विधानसभा के सदस्य 


१९५७- मदनलाल, भारतीय जनसंघ


१९६२- मदनलाल, भारतीय जनसंघ


१९६७- भूरेलाल फिरोजिया, भारतीय जनसंघ


१९७२- मधुकर मरमट, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस


१९७७- सत्यनारायण, जनता पार्टी


१९८०- भूरेलाल फिरोजिया, भारतीय जनता पार्टी


१९८५- शंकुतला बाई चौहान, भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस


१९९०- नारायण सिंह केशरी, भारतीय जनता पार्टी


१९९३- गोपाल परमार,भारतीय जनता पार्टी


१९९८- रामलाल मालवीय, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस


२००३- रेखा रत्नाकर, भारतीय जनता पार्टी


२००८- लालजीराम मालवीय, भारतीय जनता पार्टी


२०१३- मनोहर ऊंटवाल, भारतीय जनता पार्टी


२०१४- (उपचुनाव) गोपाल परमार, भारतीय जनता पार्टी


२०१८- मनोहर ऊंटवाल, 


 


जानिये विपिन वानखेडे को


नाम- विपिन वानखेडे


पिता का नाम- बसंतराव वानखेडे


जन्म दिनांक- २४/०२/१९८८


शैक्षणिक योग्यता- एमबीए


नेशनलिटी- इंडियन


वर्ग- अनुसूचित जाति


संगठन अनुभव का विवरण स्थिति सहित -.


१. प्रदेश अध्यक्ष मप्र एनएसयूआई द्वितीय बार से अब तक (सन २०१५-अब तक)


२. प्रदेश अध्यक्ष मप्र एनएसयूआई प्रथम बार (सन २०१२-२०१५)


३. प्रथम नव निर्वाचित जिला अध्यक्ष एनएसयूआई इंदौर (सन २०१०-२०१२)


४. जिला महासचिव एनएसयूआई इंदौर (सन २००७-२००९)


५. महाविद्यालय सचिव छात्र संगठन (सन २००६-२००७)


६. महाविद्यालय सांस्कृतिक अध्यक्ष छात्र संगठन (सन २००५-२००६)


जानिये मनोज ऊंटवाल को


नाम- ई. मनोज मनोहर ऊंटवाल


पिता का नाम- मनोहर ऊंटवाल


माता का नाम- श्रीमती मनु ऊंटवाल


जाति- वाल्मिकी


शैक्षणिक योग्यता- बीई


पिता का परिचय- रतलाम नगर विस्तारक एक वर्ष आलोट तहसील विस्तारक चार वर्ष पार्षद नगर पालिका बदनावर १९९४, आलोट विधायक १९९९, विधानसभा हारे २००३ में अजा आयोग के सदस्य, राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त २००८, विधायक आलोट २००९ में शिवराज मंत्रिमंडल में नगरीय प्रशासन राज्यमंत्री २०१३, विधायक आगर २०१४, सांसद देवास, शाजापुर लोकसभा २०१८, विधायक आगर २०१८ 


स्वयं का परिचय- 


१. आरएसएस की शाखाओं में स्वयंसेवक की दृष्टि से काम किया। 


२. मुख्य शिक्षक शाखा कार्यवाह से 


३. शिविर प्राथमिक वर्ग और प्रथम वर्ष शिक्षित


४. भाजपा में जिला कार्यकारिणी सदस्य, मंडल उपाध्यक्ष भाजपा बदनावर मंडल अध्यक्ष 


५. वाल्मिकी समाज में अखिल भारतीय वाल्मिकी महापंचायत में प्रदेश उपाध्यक्ष


६. वाल्मिकी युवा संगठन मध्यप्रदेश में प्रदेश महामंत्री। 


७. वर्तमान में आगर विधानसभा क्षेत्र में कार्यकर्ता के रूप में कार्यरत है।


यह विधानसभा की जानकारी 


विधानसभा-आगर १६६ (एससी)


पुरूष -१०९८१८


महिला-१०३२७०


अन्य-५


Popular posts
कोरोना से कब मिलेगी पृथ्वी को निजात.... 👏👏👏 ब्यावर के एस्ट्रोलॉजर दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी .... गुरु हस्ती कृपा से ग्रहों के अनुसार पृथ्वी पर आने वाले अगले लगभग 175 दिनों तक यानी 23 सितंबर 2020 तक विश्व के कई देशों में कोरोना जैसे वायरस या अन्य तरह के कई वायरसों से या प्राकृतिक आपदाओं से या युद्ध से तबाही होने के संकेत परंतु भारत को आने वाले लगभग 90 दिनों तक बेहद संभलकर चलने की जरूरत यानी लगभग 06 जुलाई 2020 तक भारत इस वायरस पर पूरी तरह से अंकुश लगाने में हो जाएगा कामयाब , इसके अलावा 29 अप्रैल 2020 को पृथ्वी के पास से गुजरने वाले एस्टरॉयड से नहीं होगा दुनिया का अंत , कहते हैं ब्रह्मांड में कोई ईश्वरीय शक्ति मौजूद है , यदि नाहटा के बताए गए मंत्रों को पूरे भारतवासी कर गए तो नाहटा का मानना है कि जल्दी ही आज से 40 दिनों के भीतर यानी 14 मई 2020 तक भारत इस वायरस पर काबू पाने में सफल हो जाएगा और इन मंत्रों को करने वालों को यह वायरस छू भी नहीं सकेगा , इसके अलावा देश सेवा हेतु लोक कल्याण की भावना के उद्देश्य से नाहटा पूरे देशभर की जनता को हिम्मत देने हेतु यानी देशभर की जनता का मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से 06 अप्रैल 2020 से ज्योतिष के माध्यम से नाहटा बिल्कुल निशुल्क रूप से प्रतिदिन लोक डाउन तक देशभर की जनता के द्वारा पूछे गए दो सवालों का जवाब देंगे एवं नाहटा ने भारत सरकार को दिए सात नए सुझाव , इस एप्स में जानिए पूरी डिटेल्स .....
Image
ऑरा ने इंदौर में नए स्टोर के साथ अपनी खुदरा उपस्थिति का विस्ताकर किया भारत की प्रमुख डायमंड ज्वैलरी रिटेल चेन ने इंदौर में अपना नया स्टोर लॉन्च किया
फीमेल एम्प्लॉयीज़ को मेंस्ट्रुअल लीव देने वाला मध्य भारत का पहला स्टार्टअप
Image
लाख तरक्की के बावजूद हम बुजुर्गों का ख्याल रखने में पीछे हैं- अतुल मलिकराम
Image
बाबा बैजनाथ महादेव का आज का संध्या श्रृंगार दर्शन
Image