वर्ष 2021 होगा 14 महीनों का: अतुल मलिकराम, फाउंडर, PR 24x7 (पीआर 24x7)
जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हमारा जीवन कालचक्र के इर्द-गिर्द घूमता रहता है, जो सदियों से अपना कार्य करता आ रहा है। कालचक्र का अर्थ समय का चक्र होता है, जहाँ समय को परिवर्तन के माप के रूप में देखा जाता है। बाहरी तौर पर इसे ग्रहों की कक्षाओं के चक्र, महीने और वर्ष की ऋतुओं, चन्द्रमा की कलाओं, दिन के घंटों आदि के रूप में मापा जा सकता है। जबकि आतंरिक तौर पर इसे जीवन की अवधियों के रूप में देखा जाता है, जैसे: शैशव, बाल्यावस्था, युवावस्था, प्रौढ़ता और वृद्धावस्था। ये बाहरी और आन्तरिक चक्र एक-दूसरे के समानान्तर चलते रहते हैं। यदि हम बाहरी कालचक्र की बात करें, तो सेकंड, मिनट, घंटे, दिन, सप्ताह, महीने और साल इसमें पूर्णतः समाहित होते हैं। इतिहास गवाह है कि एक दिन के 24 घंटों और एक साल के 12 महीनों में कभी फेर-बदल नहीं हुआ है। लेकिन इतिहास के पन्नों पर स्वर्ण अक्षरों से एक वर्ष के लिए 12 नहीं, बल्कि 14 महीने लिखा गया है, यह वर्ष और कोई नई, 2021 है। इसलिए वर्ष 2021, 12 महीनों का नहीं, बल्कि 14 महीनों का होगा। जी हाँ, 14 महीनों का। कैसे?? जानना चाहेंगे?? तो सुनिए। आम आदमी को सोने के लिए मानक समय कम से कम 8 घंटों का चाहिए होता है। यदि हम अपने जीवन का मोल जानकर अपनी नींद में से 2 घंटे प्रतिदिन कम कर दें, तो हम अपने 30 दिनों के महीने से सीधे तौर पर 60 घंटे बचा लेंगे। अब यदि हम 12 महीनों तक ऐसा करने में समर्थ हो पाए, तो समझो कि हमने पूरे साल में से 720 घंटों पर जीत हासिल कर ली है। एक दिन के 24 घंटे से इसे विभाजित करने पर हम सीधे-सीधे 30 दिन यानि 1 महीना अपने नाम कर लेंगे, जिसका नाम है नाईट हसलरी। हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में अपने गंतव्य पर आने-जाने, तैयार होने में लगा समय प्रतिदिन लगभग 2 घंटे व्यर्थ करता है। यदि हम वर्ष 2020 से मिले वर्क फ्रॉम होम को कल्चर की तरह फॉलो करें, तो अपनी निजी जिंदगी से प्रतिदिन के 2 घंटे और उपरोक्त सूत्रों के अनुसार 1 और महीना सिर्फ हमारा होगा, जिसका नाम है होमवरी। इस प्रकार आपका आने वाला वर्ष 2021, 12+2=14 महीनों का होगा। तो सूत्र कंठस्थ कर लें: 2x30=60x12=720/24=30 दिन। इन दो महीनों में वो काम करें, जिन्हें करने के लिए आपको 12 महीने कम पड़ जाते हैं, क्योंकि इन पर सिर्फ और सिर्फ आपका अधिकार है। वर्ष 2020 में कोरोना के कारण न हो सके कामों को पूरा करने का अवसर आपके लिए वर्ष 2021 लेकर आ रहा है, तो खुली बाँहों से स्वागत कीजिए इस अद्भुत वर्ष तथा दो नए महीने नाईट हसलरी और होमवरी का।
Popular posts
कोरोना से कब मिलेगी पृथ्वी को निजात.... 👏👏👏 ब्यावर के एस्ट्रोलॉजर दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी .... गुरु हस्ती कृपा से ग्रहों के अनुसार पृथ्वी पर आने वाले अगले लगभग 175 दिनों तक यानी 23 सितंबर 2020 तक विश्व के कई देशों में कोरोना जैसे वायरस या अन्य तरह के कई वायरसों से या प्राकृतिक आपदाओं से या युद्ध से तबाही होने के संकेत परंतु भारत को आने वाले लगभग 90 दिनों तक बेहद संभलकर चलने की जरूरत यानी लगभग 06 जुलाई 2020 तक भारत इस वायरस पर पूरी तरह से अंकुश लगाने में हो जाएगा कामयाब , इसके अलावा 29 अप्रैल 2020 को पृथ्वी के पास से गुजरने वाले एस्टरॉयड से नहीं होगा दुनिया का अंत , कहते हैं ब्रह्मांड में कोई ईश्वरीय शक्ति मौजूद है , यदि नाहटा के बताए गए मंत्रों को पूरे भारतवासी कर गए तो नाहटा का मानना है कि जल्दी ही आज से 40 दिनों के भीतर यानी 14 मई 2020 तक भारत इस वायरस पर काबू पाने में सफल हो जाएगा और इन मंत्रों को करने वालों को यह वायरस छू भी नहीं सकेगा , इसके अलावा देश सेवा हेतु लोक कल्याण की भावना के उद्देश्य से नाहटा पूरे देशभर की जनता को हिम्मत देने हेतु यानी देशभर की जनता का मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से 06 अप्रैल 2020 से ज्योतिष के माध्यम से नाहटा बिल्कुल निशुल्क रूप से प्रतिदिन लोक डाउन तक देशभर की जनता के द्वारा पूछे गए दो सवालों का जवाब देंगे एवं नाहटा ने भारत सरकार को दिए सात नए सुझाव , इस एप्स में जानिए पूरी डिटेल्स .....
Image
Prediction of Beawar's Astrologer Dilip Nahta on 04 May
Image
आगर पुलिस को मिली बड़ी सफलता:चार पहिया वाहन चोर गिरोह पकड़ाया:यूपी में बेचते थे चोरी की गाड़िया
Image
धरती पर अब एक नया हीरो आ गया है और आपको हीरो के बारे में यह चीज़ें ज़रूर जाननी चाहिए
Image
काटेलाल एंड संस’ की जिया शंकर ने कहा, फैशन रोजमर्रा की जिन्दरगी की हकीकत से बचने का एक हथियार है
Image