हनुमान अष्टमी पर दिनभर गूंजता रहा जय हनुमान ज्ञान गुण सागर...!

आगर-मालवा, निप्र। पौष कृष्ण अष्टमी कल हनुमान अष्टमी के रूप में धूमधाम के साथ मनाई गई। लंबे अरसे के बाद नगर में धार्मिक आयोजन पूरे उत्साह के साथ आयोजित हुआ। हनुमान मंदिरों में अल सुबह से ही सुंदरकांड, हनुमान चालीसा एवं रामायण की चौपाईयां गूंजने लगी थी। वीर हनुमान मंदिर से विशाल नगर भ्रमण यात्रा शुरू हुई जो प्रमुख मार्गो से होते हुए पुन: हनुमान मंदिर पहुंची। तहसील कार्यालय के सामने स्थित वीर हनुमान मंदिर में बाबा का आकर्षक श्रृंगार किया गया। हनुमान अष्टमी के पावन पर्व पर नगर भ्रमण यात्रा का यह २५वां वर्ष था। शाम को महाआरती के बाद प्रसाद वितरित की गई। रात को संगीतमय सुंदरकांड का आयोजन किया गया। प्राचीन हनुमानगढी मंदिर में भी बाबा का गर्भगृह फूलों से सजाकर श्रृंगार किया गया। पं. जगदीश शर्मा ने बताया कि इस अवसर पर विभिन्न आयोजन किये गये। भाटपुरा स्थित बाल वीर हनुमान मंदिर में महाआरती के पश्चात सुंदरकांड का आयोजन किया गया। श्री बजरंग मित्र मंडल द्वारा भोजन प्रसादी का आयोजन भी किया गया। रणछोड मंदिर स्थित पंचमुखी हनुमानजी महाराज का आकर्षक श्रृंगार कर भक्त मंडल द्वारा प्रसादी वितरित की गई। गोपाल मंदिर स्थित बालाजी महाराज का आकर्षक श्रृंगार कर सुंदरकांड, हनुमान चालीसा, महाआरती एवं भंडारे का आयोजन हनुमान भक्त सेवा समिति एवं श्रीराम सेना गोपाल मंदिर द्वारा किया गया। यहां आयोजन का २०वां वर्ष था। विवेकानंद नगर स्थित संकटमोचन वीर हनुमान मंदिर विश्वेश्वर महादेव एवं संकटमोचन हनुमान सोमेश्वर महादेव पर भी बाबा का आकर्षक श्रृंगार किया गया। केवडा स्वामी, अचलेश्वर महादेव, बावडी वाले बाबा, तालाब किनारे स्थित चमत्कारिक हनुमान, अस्तल के मंदिर में भी हनुमान जी महाराज का आकर्षक श्रृंगार किया गया। जनपद पंचायत स्थित पंचमुखी हनुमानजी महाराज का आकर्षक श्रृंगार किया गया व अनुष्ठान भी संपन्न हुए। शंकरकुईया स्थित प्राचीन बालाजी महाराज का आकर्षक श्रृंगार कर रामायण पाठ, सुंदरकांड, हनुमान चालीसा सहित यज्ञ-हवन का आयोजन संपन्न हुआ।जनपद पंचायत स्थित पंचमुखी हनुमानजी का प.गोपाल शर्मा बापचा द्वारा श्रंगार किया गया।

Popular posts from this blog

रविवार से लापता युवक का शव मिला:तहकीकात जारी

फिल्मी स्टाईल में सनसनीखेज वारदात:सराफा बाजार में बंदुकधारी बदमाशों ने सब्बल से ताले तोड़े और बोरो में भरकर ले गए जेवरात

सनसनीखेज अंधे कत्ल का पर्दाफाश:प्रेम संबंध के कारण पत्नी के जियाजी को उतारा था मौत के घाट:सुहागरात के दिन ही मृतक ने आरोपी से कहा था उससे दूर रहना