भारती अक्सा लाइफ ने आर्मी डे मनाने के लिए ‘वेदर इट लाइक इंडियन आर्मी’ पहल प्रस्तुत की
मुंबई/नई दिल्ली: जनवरी, 2021: भारत के प्रमुख कारोबारी समूहों में शुमार भारती एंटरप्राइजेज का एक संयुक्त उद्यम भारती अक्सा लाइफ इंश्योरेंस तथा दुनिया की सबसे बड़ी बीमा कंपनियों में से एक अक्सा आर्मी डे के अवसर पर सैन्य कर्मियों की अदम्य भावना का जश्न मना रही हैं। इसके लिए दोनों ने मिलकर अपना अभियान ‘वेदर इट लाइक इंडियन आर्मी’ शुरू किया है, जो भारतीय सशस्त्र बलों के जांबाजों के लिए एक समर्पित पहल है। आज 73वां आर्मी डे मनाते हुए भारती अक्सा लाइफ इंश्योरेंस ने एक सोशल मीडिया अभियान शुरू किया है, जिसमें भारतीय सशस्त्र बलों के वास्तविक जीवन वाले अनुभव शामिल किए गए हैं। अपने अनुभव साझा करने वालों में सेना के वरिष्ठ अधिकारी [प्रोफाइल नीचे दी गई है] और बेहद मुश्किल भरे भारतीय इलाकों में सेवाएं देने वाले वीर सैनिक शामिल हैं। यह अभियान उनकी 'योध्दा' भावना को सलाम करता है और उनके अनुभवों को एक आकर्षक डिजिटल प्रारूप में सोशल मीडिया के नागरिकों के सामने प्रस्तुत कर रहा है। इस अभियान के सहारे कंपनी सैन्य अधिकारियों, उनके परिवारों तथा देश भर के करोड़ों नागरिकों के साथ ट्विटर और फेसबुक पर जुड़ने का लक्ष्य लेकर चल रही है। “आर्मी डे पर भारती अक्सा परिवार एक अरब से ज्यादा की जनसंख्या वाले राष्ट्र की रक्षा करने वालों, उनकी वीरता की भावना तथा उनके शौर्य को सलाम करता है। उनकी बेमिसाल और अतुलनीय सुरक्षा सेवाओं को ध्यान में रखते हुए हमने अपना ‘योध्दा’ चैनल पेश किया है, जिसमें पूर्व सैनिक शामिल हैं। यह चैनल सशस्त्र कर्मियों को उचित वित्तीय समाधान प्रदान करने और रक्षकों की सुरक्षा करने हेतु शुरू किया गया है,''- बता रहे हैं भारती अक्सा लाइफ इंश्योरेंस के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री पराग राजा। ट्विटर की मदद से भारती अक्सा लाइफ इंश्योरेंस दिन भर एक-एक घंटा हर कहानी को समर्पित करेगा, जो हमारी रक्षा करने के लिए बेहद मुश्किल भरे इलाकों में सेवाएं दे चुके और हर कठिनाई से पार पाने वाले सशस्त्र बलों का वास्तविक अनुभव सुनाएगी। वास्तविक जीवन के इन अनुभवों में ढेर सारे अनोखे किस्से शामिल हैं, जिन्हें सेना के दिग्गजों ने सुनाया है। इन दिग्गजों में 98 वर्षीय लेफ्टिनेंट जनरल एस.एन. शर्मा का नाम शामिल है, जो चरम क्षेत्रों में तैनात युवा सैनिकों तक अभी भी अपनी पहुंच बनाए रखते हैं। इरादा यह है कि दर्शकों को ‘वेदर इट लाइक इंडियन आर्मी’ का वास्तविक अर्थ समझाया जाए। भारती अक्सा लाइफ ने अलग-अलग सीमा स्थलों पर मौसम की स्थिति को उजागर करने के लिए इस अभियान की शुरुआत की है, जहां देश की रक्षा के लिए भारतीय सैनिक तमाम बाधाओं और विषम परिस्थितियों से जूझते हैं और उनको पार करते हैं। कंपनी दिन भर सियाचिन, कारगिल, लोंगेवाल जैसे विभिन्न सीमा स्थलों के मौसम की स्थिति अपडेट करेगी और मौसम की उन चरम स्थितियों को रेखांकित करेगी, जिसमें हमारे वास्तविक नायक कभी हार न मानने वाला अदम्य रवैया अपनाते हुए राष्ट्र की रक्षा करते हैं। कंपनी देश और इसके नागरिकों को बचाने और सुरक्षित रखने के लिए अथक परिश्रम करने वाले सैनिकों के साथ अपने दिल की बात साझा करने के लिए सशस्त्र बलों के परिवारों की भागीदारी भी सुनिश्चित करेगी। सार्वजनिक सूचना के अतिरिक्त महानिदेशालय के साथ साझा करते हुए ये वीडियो/ऑडियो संदेश सैनिकों तक पहुंचेंगे। राष्ट्र के लिए सशस्त्र बलों के मूल्यवान योगदान का महत्व स्वीकार करते हुए भारती अक्सा लाइफ इंश्योरेंस उनके लिए एक समर्पित चैनल- भारती अक्सा योध्दा भी लेकर आई है। सैनिकों को नैतिक, पारदर्शी और किफायती सेवाएं प्रदान करना इस चैनल का एकमात्र उद्देश्य है, ताकि उनकी सुरक्षा और बचत की जरूरतों को पूरा किया जा सके। ‘योद्धा’ की सेल्स टीम में सशस्त्र बलों के पूर्व अधिकारी भी शामिल हैं जो सेना और अर्धसैनिक बलों से जुड़े लोगों की वित्तीय जरूरतों को समझते हैं और उन्हें उपयुक्त वित्तीय समाधान प्रदान करते हैं। अपने वास्तविक जीवन के अनुभवों को साझा करने वाले सेना के दिग्गजों में लेफ्टिनेंट जनरल राज (कदियान(सेवानिवृत्त) और मेजर जनरल वासुदेव (सेवानिवृत्त) जैसे कई सैन्य अधिकारी शामिल हैं। लेफ्टिनेंट जनरल राज कदियान (सेवानिवृत्त) ने भारतीय सेना में चार दशकों से अधिक सेवा की है। अपने सैन्यकाल में उन्होंने लद्दाख में भी सेवाएं प्रदान की हैं, जहां तापमान -11.8 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है। मेजर जनरल सतनाम वासुदेव (सेवानिवृत्त) ने अपने जीवन के लगभग 40 वर्ष भारतीय सेना को समर्पित किए हैं। एक भव्य और शानदार करियर के बाद वह 1997 में सेवानिवृत्त हुए। अभी 98 वर्ष की उम्र में भी बेहद सक्रिय लेफ्टिनेंट जनरल एस.एन. शर्मा (सेवानिवृत्त) ने भारतीय सशस्त्र बलों में 38 वर्षों तक सेवा की। अपनी सेवानिवृत्ति के बाद लगभग 39 वर्षों के कार्यकाल के दौरान, जो उनके सेवा में रहने के वर्षों से भी अधिक है, उन्होंने 80 की उम्र पार करने बाद अपनी पैरा जम्प पूरी की थी और आज भी वह अनगिनत लोगों के प्रेरणास्रोत बने हुए हैं।