मैंने इस शो से शिक्षा की अहमियत सीखी हैं‘‘ - आयुध भानुशालीं, भीमराव, एण्डटीवी के ‘एक महानायक डाॅ बी. आर. आम्बेडकर‘



एण्डटीवी के शो ‘एक महानायक डाॅ बी.आर. आम्बेडकर‘ को दिसंबर 2019 में लाॅन्च किया गया था और उस समय से ही इस शो ने दर्शकों का ध्यान आकर्षित किया है। इसकी जबरदस्त कहानी एवं दमदार किरदारों को दर्शकों ने खूब सराहा है। आयुध भानुशाली इस शो से जुड़े एक ऐसे ही कलाकार हैं, जिन्होंने अपनी अभिनय क्षमता और पर्दे पर मौजूदगी से दर्शकों का दिल चुराया है। आयुध इस शो में भीमराव के बचपन की भूमिका निभा रहे हैं। हमने हाल ही में आयुध से यह भूमिका मिलने, बेहद कम समय में दर्शकों की आंखों का तारा बनने और दूसरी कई चीजों पर बात की। प्रस्तुत है उसी बातचीत के कुछ अंश:  



1. एण्डटीवी के ‘एक महानायक डाॅ बी. आर. अम्बेडकर‘ के लिये शूटिंग का अनुभव आपके लिये कैसा रहा?


एण्डटीवी के ‘एक महानायक डाॅ बी. आर. अम्बेडकर‘ के लिये शूटिंग का अनुभव बेहतरीन रहा। यहाँ हर कोई मेरी बहुत अच्छी देखभाल करता है और सभी बहुत मदद करते हैं और सपोर्टिव हैं। सेट पर कोई भी पल उदासी भरा नहीं बीतता है। इस शो के कलाकारों समेत पूरी कास्ट और क्रू मेम्बर्स मेरी सारी कहानियाँ सुनते हैं, मेरे साथ खेलते हैं और मुझे बहुत प्यार करते हैं। ऐसा लगता है कि जैसे यह मेरा दूसरा घर है।  


2. इस शो के साथ आपका सफर कैसा रहा? इस शो से पहले आप बाबासाहेब के बारे में 

कितना जानते थे और इसमें काम करना शुरू करने के बाद उन्हें कितना जाना?


यह सफर बहुत अच्छा रहा और मैंने बहुत कुछ सीखा भी। सच कहूँ, तो इस शो में काम करने से पहले बाबासाहेब के बारे में मेरी समझ सीमित थी। मुझे केवल यह पता था कि उन्होंने भारत का संविधान लिखा है। शो को साइन करने के बाद क्रियेटिव टीम और रिसर्चर ने मुझे डिटेल में ब्रीफ दिया। और जैसे ही मैंने शूटिंग शुरू की, मुझे उनके बारे में और समुदाय तथा समाज में उन्होंने जो क्रांति की, उसके बारे में कई दिलचस्प कहानियाँ जानने को मिलीं।

 


3. आपका किरदार भीमराव कई लोगों को प्रेरित करने वाला रहा है। आपके फैंस आपको प्यार और सपोर्ट कैसे देते हैं?


मुझे सोशल मीडिया और निजी तौर पर फैंस के कई मेसेजेस मिलते रहते हैं। कई लोगों ने इस शो और छोटे भीमराव की मेरी भूमिका को पसंद किया है। उन्हें खासतौर से इस शो में भीमराव को स्थितियाँ समझाने के लिये अलग-अलग मौकों पर रामजी सकपाल (जगन्नाथ निवानगुणे) के सबक और उदाहरण पसंद हैं। मुझे बहुत खुशी होती है, जब लोग मुझे आयुध के बजाए भीमराव कहकर बुलाते हैं। यह मेरा दूसरा नाम बन गया है। इससे पता चलता है कि भीमराव के किरदार को दर्शक कितना पसंद करते हैं और प्यार देते हैं।


4. आप अपने काम और स्कूल के बीच बैलेंस कैसे करते हैं?


मैं इस शो की शूटिंग और पढ़ाई के बीच बैलेंस बनाये रखने की कोशिश करता हूँ। मुझे शाॅट्स के दौरान जब भी ब्रेक मिलता है, मेरी माँ पढ़ाई में मेरी मदद करती हैं। वह मेरे ज्यादातर ट्रेवल टाइम को रिविजन में लगाती हैं। इन दिनों क्लास जूम काॅल्स के जरिये इंटरनेट पर चल रही हैं, इसलिये मेरा स्कूल मिस नहीं होता है। इसके अलावा, मेरा शेड्यूल इस तरह से प्लान किया गया है कि उसमें शूटिंग, पढ़ाई और खेलने के बीच पूरा संतुलन रहता है। मुझे मेरा होमवर्क पूरा करने और टेस्ट की तैयारी करने में हर किसी से बहुत सहयोग मिलता है।


5. आपने इस शो से क्या सीखा है? 


मैंने इस शो से कई अच्छी बातें सीखी हैं। मैंने सीखा है कि शिक्षा कितनी महत्वपूर्ण है और बाबासाहेब ने किस तरह अपनी और दूसरों की जिंदगी को बदलने के लिये शिक्षा का इस्तेमाल किया। यह इकलौती ऐसी चीज है, जो हमारे भविष्य के लिये तैयार होने में हमारी मदद कर सकती है। 


6. अपने फुर्सत के पलों में आप कौन सी ऐक्टिविटीज करते हैं? 


शूटिंग के बीच में हमें जब भी समय मिलता है, डायरेक्टर सर और क्रू मेंबर्स सहित हम सभी लोग सेट पर फुटबाॅल, वाॅलीबाॅल, क्रिकेट, बैडमिंटन और म्यूजिकल चेयर जैसे गेम्स खेलते हैं। हालांकि, मैं अपने डे आॅफ यानी कि छुट्टी के दिनों का इस्तेमाल अपनी पढ़ाई पर ध्यान देने के लिये करता हूँ, लेकिन इसके साथ ही मैं क्रिकेट, छुप्पम छुपाई और ऐसे ही दूसरे खेल भी दोस्तों के साथ खेलता हूँ। लेकिन इस महामारी की वजह से, जिसने हमें घरों में कैद रहने के लिये मजबूर कर दिया है, मैं इन दिनों अपनी फैमिली के साथ कैरम, सांप-सीढ़ी जैसे इनडोर गेम्स खेलता हूँ। मुझे दूसरों के साथ प्रैंक करना भी अच्छा लगता है, जो मेरा सबसे पसंदीदा टाइम-पास है। 

 

7. दर्शकों के लिये कोई संदेश? 


मैं सभी दर्शकों का हमें प्यार एवं सपोर्ट करने के लिये शुक्रिया अदा करना चाहता हूँ। यह उनका प्यार ही है जिसकी वजह से घर-घर में लोग मुझे पहचानने लगे हैं। मैं आप सभी से अनुरोध करना चाहूँगा कि हमारे शो को ऐसे ही देखते रहिये और भीमराव को अपना प्यार देते रहिये।  



आयुध भानुशाली को भीमराव के रूप में देखिये ‘एक महानायक डाॅ बी.आर. आम्बेडकर‘ में, हर सोमवार से शुक्रवार, रात 8ः30 बजे सिर्फ एण्डटीवी पर