डिजिटल अपस्किलिंग वाले कई प्रोजेक्ट्सय के माध्यकम से भारत में 12,000 से ज्याोदा महिलाओं और युवाओं को आर्थिक रूप से सशक्तय करने का लक्ष्य‍

मुंबई,जुलाई, 2021 : मैरिको लिमिटेड भारत की अग्रणी एफएमसीजी कंपनियों में से एक है। उसने यूनाइटेड नेशंस डेवलपमेंट प्रोग्राम (यूएनडीपी) और अन्यण कार्यान्व यन सहयोगियों के साथ एक साझेदारी की है। इस साझेदारी के अंतर्गत, मौजूदा वित्तीरय वर्ष में अपस्किलिंग की प्रभावशाली पहलों के माध्य म से देशभर में 12,000 से ज्यानदा महिलाओं और युवाओं को डिजिटली प्रशिक्षित किया जाएगा। बड़े पैमाने का यह प्रोजेक्टस इन लोगों को कुशलता-आधारित रोजगार पाने के के योग्य बनाएगा। उम्मीाद है कि यह महिलाओं और युवाओं को कुल मिलाकर 7,000 नौकरियाँ पाने में सहायता देकर वार्धिक आय (इंक्रीमेंटल इनकम) में लगभग 31 करोड़ रूपये जोड़ेगा। यह उपक्रम विभिन्नस समुदायों की समावेशी और स्थाीयी उन्नयति के लिये मैरिको की प्रतिबद्धता की पुनर्पुष्टि है।


‘डिजिटल वुमन इकोनॉमिक एम्पाुवरमेंट’ नामक इस पहल के माध्यीम से मैरिको ने एक लक्ष्य‍ निर्धारित किया है। वह लक्ष्यि है मिलकर काम करने के लिये प्रोत्सानहन देने वाले मंचों के माध्य म से महिलाओं और युवाओं की जरूरतों और आकांक्षाओं को संभावित नियोक्तानओं की आवश्यपकताओं से मिलाकर समाज को फायदा पहुँचाना। यह वे मंच हैं, जो कुशलता-आधारित, पेशेवर और प्रौद्योगिकीय प्रशिक्षण प्रदान करते हैं। यह डिजिटल प्रशिक्षण ज्ञान के विभिन्नन क्षेत्रों में 21वीं सदी की कुशलताओं, आईटीईएस और बीएफएसआई से जुड़ी कुशलताओं पर केन्द्रित होकर प्रदान किये जाएंगे। यह कुशलताएँ हैं क्लासउड आर्किटेक्चबर, डेटा अनालीटिक्सं, पाइथन प्रोग्रामिंग, बीपीओ परिचालन  बैंकिंग एवं वित्तीटय साक्षरता और व्यववहार कौशल । इस पहल का एक अन्य  महत्वरपूर्ण पहलू होगा प्रशिक्षित लाभार्थियों के लिये रोजगार के अवसर सुनिश्चित करना। इसके लिये नियोक्ता के साथ प्रभावी संपर्क किया जाएगा और मासिक रोजगार मेले और भर्ती अभियान जैसे नियमित मध्यवर्तन भी किए जायेंगे।



यूएनडीपी की साझेदारी में नियोजित इस प्रोजेक्ट मध्यवर्तन से जागरूकता और रोजगार-योग्यिता बढ़ेगी, संभावित नियोक्तााओं से संपर्क करना आसान होगा, मेंटरशिप सपोर्ट मिलेगा और युवाओं की नवाचार करने की क्षमता पोषित होगी। इससे खासतौर पर आर्थिक रूप से वंचित पृष्ठटभूमि वाले लोगों को सहायता मिलेगी। इस पहल के माध्यसम से भोपाल और इंदौर में लगभग 5000 लोगों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लाभार्थियों को नियुक्ति के अवसर मिलेंगे और इस क्षेत्र में लंबी अवधि का बदलाव होगा।


इस पहल का उद्घाटन मध्ययप्रदेश स्टेकट स्किल डेवलपमेंट ऐंड एम्लॉधि  यमेंट जनरेशन बोर्ड की सीईओ, सुश्री षन्मुगा प्रिया मिश्रा, आईएएस ने किया। इस अवसर पर दोनों संस्थाध के प्रोजेक्टश हेड - मारिको लिमिटेड के एग्जीक्यूटिव वाईस प्रेसिडेंट बिजनेस प्रोसेस ट्रांसफॉर्मेशन, आईटी और हेड सीएसआर श्री उदयराज प्रभु तथा  यूएनडीपी इंडिया के हेड, इनक्लूरसिव ग्रोथ श्री अमित कुमार उपस्थित थे।


मैरिको लिमिटेड के एक्जीसक्यूकटिव वाइस प्रेसिडेंट बिजनेस प्रोसेस ट्रांसफॉर्मेशन, आईटी और हेड सीएसआर, श्री उदयराज प्रभु ने कहा कि, “एक जिम्मे्दार कॉर्पोरेट नागरिक के नाते मैरिको ने हमेशा अपने संपर्क में आने वाले सभी लोगों के जीवन में सकारात्माक बदलाव लाने की कोशिश की है। समाज को कुछ लौटाने पर हमारा यकीन हमारे ईएसजी फ्रेमवर्क का मुख्यम स्तंकभ है और हमें सामाजिक तथा सामुदायिक जुड़ाव वाली पहलों के लिये प्रेरित करता है। इस उद्देश्यम के अनुसार, हमने अपस्किलिंग की पहलकदमियाँ आरम्भ करने के लिये यूएनडीपी और विभिन्नद कार्यान्व यन भागीदारों के साथ गठजोड़ किया है। ये पहलकदमियाँ भारत में महिलाओं और युवाओं के लिये समावेशी विकास और आर्थिक आत्मीनिर्भरता को बढ़ावा देने वाली हैं। इन भागीदारियों के माध्यंम से हमारा लक्ष्या है अपने समुदायों के लोगों का जीवन बदलना। इसके लिये उन्हेंन अपनी पसंद की आजीविका के लिए ज़रूरी ज्ञान और साधन तो दिये ही जाएंगे. उन्हें अपनी आकांक्षाएँ पूरी करने के लिये गतिशील होने का एक मंच भी मिलेगा।”


अमित कुमार, टीम लीड, समावेशी विकास, यूएनडीपी ने इस अवसर पर कहा कि, आर्थिक विकास को बढ़ावा देने,वेतन और नौकरियों के निर्माण, गरीबी और असमानता को कम करने, और उन सभी क्षेत्रों में नींवऔर जीवन स्तर को मजबूत करने के लिए यूएनडीपी केंद्रों में  सामाजिक विकास और स्थिरता रखता है।  इस उद्देश्य के लिए, हम मध्य प्रदेश में महिला और युवाओं को अवसर प्रदान करके समावेशी सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए मैरिको के साथ अपने नए बने सहयोग का लाभ उठाने के लिए  तैयार हैं।“


सुश्री शनमुगा प्रिया मिश्रा, आईएएस, और मध्यूप्रदेश स्टे ट स्किल डेवलपमेंट एंड एम्लॉहिल यमेंट जनरेशन बोर्ड की सीईओ, ‘‘आज वर्ल्डे यूथ स्किल्से डे के अवसर पर व्यिवसायिक पढ़ाई और कुशलता सीखने के महत्वी को समझना और उस पर जोर देना जरूरी है। यूएनडीपी दुनियाभर में शिक्षा, महिला सशक्तिकरण, बेहतर आजीविका, आदि के लिये एक उदाहरण प्रस्तुनत कर रहा है। यह देखकर मुझे खुशी है कि मैरिको ऐसे महान सामाजिक कार्य के लिये अपनी सीएसआर फंडिंग का निवेश कर रहा है। इसके विपरीत, कई लोग अपने आंतरिक परिचालन को मजबूत करने या कर्मचारियों के फायदे के लिये अपनी कंपनी में निवेश करते हैं। मैरिको का योगदान सबसे जरूरतमंद लोगों, खासकर कमजोर आर्थिक पृष्ठ भूमि वालों, को एक मंच देने की दिशा में एक बड़ा कदम है। निजी और पेशेवर, दोनों कुशलताओं पर उसके केन्द्रित होने से भी आज के युवा भविष्य  के श्रमिकबल (वर्कफोर्स) के रूप में तैयार होंगे।’’


मैरिको लिमिटेड के बारे में

मैरिको (BSE: 531642, NSE: “MARICO”) वैश्विक सौंदर्य एवं स्वाूस्य्ों  के क्षेत्र में भारत की अग्रणी उपभोक्ताि उत्पा6द कंपनियों में से एक है। वित्तीरय वर्ष 2020-21 के दौरान मैरिको ने भारत में और एशिया तथा अफ्रीका के चुनिंदा बाजारों में बेचे गये अपने उत्पा दों से लगभग 80.5 बिलियन रूपये (1.1 बिलियन अमेरिकी डॉलर) का टर्नओवर दर्ज किया था।


प्रत्ये क 3 में से 1 भारतीय मैरिको के ब्रैंड पोर्टफोलियो, जैसे कि पैराशूट, सफोला, सफोला फिटिफाय गौरमेट, सफोला इम्युरनिवेदा, सफोला आरोग्यभम, सफोला मीलमेकरम,  हेयर एंड केयर,  पैराशूट एडवांस्डस, निहार नैचुरल्स्, मेडिकर, काया यूथ ओ2, कोको सोल, रिवाइव, सेट वेट, लिवॉन, वेजी क्लीिन, कीपसेफ, ट्रैवल प्रोटेक्टय, हाउस प्रोटेक्टआ, बीयरडो के माध्यम से इसके साथ जुड़ा है। अंतर्राष्ट्री य उपभोक्ताफ उत्पा,दों का पोर्टफोलियो इस समूह के राजस्वा में लगभग 23% योगदान देता है। इस पोर्टफोलियो के ब्राण्डे हैं पैराशूट, पैराशूट एडवांस्डम, हेयरकोड, फियांसी, काइविल, हरक्यूबलिस, ब्लैटक चिक, कोड 10, इंगवे, एक्सल-मेन, मेडिकर सेफलाइफ, थुआन फाट और आइसोप्लयस।


यूएनडीपी के बारे में

यूएनडीपी हमारे ग्रह की सुरक्षा और निर्धनता-उन्मूोलन के लिये 170 देशों और क्षेत्रों में काम करता है। हम ठोस नीतियाँ, कुशलताएँ, भागीदारियाँ और संस्थाोन विकसित करने में देशों की सहायता करते हैं, ताकि उनकी प्रगति यथावत रहे। यूएनडीपी भारत में वर्ष 1951 से काम कर रहा है और उसने मानव विकास के लगभग सभी क्षेत्रों में काम किया है, जिनमें प्रणालियों को मजबूत बनाने से लेकर समावेशी वृद्धि और स्थाेयी आजीविका तक के क्षेत्रों के अलावा स्थापयी ऊर्जा, पर्यावरण, और रेसिलिएंस सम्मिलित हैं। यूएनडीपी के कार्यक्रम भारत की राष्ट्रीय प्राथमिकताओं के साथ उत्प्रेरक बदलाव के लिए एक वैश्विक दूरदृष्टि को लगातार एकीकृत कर रहा है। यूएनडीपी के 30 से ज्याउदा प्रोजेक्ट्स  आज भारत के लगभग हर राज्यग में फैले हैं, जिनके साथ वह अलग तरीके से विकास करने के लिये पारंपरिक ढाँचोंको बदलकर स्थाेयी विकास के लक्ष्योंफ की पूर्ति हेतु काम करता है।

कृपया https://www.in.undp.org/ को विजिट करें।


ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाकग्राम,और लिंक्ड इन पर यूएनडीपी इंडिया को फॉलो करें।

Popular posts
भाजपा नेताओं की आपसी फूट के चलते गरीबों की आवास योजना चढ़ी राजनीति की भेंट: मामला प्रधानमंत्री आवास योजना का: अपात्र हितग्राहियो द्वारा सौंपा गया ज्ञापन
Image
पेन स्टूडियोज़ की जया जानकी नायक/खूँखार यूट्यूब पर 500 मिलियन से अधिक व्यूज़ पार करने वाली पहली भारतीय फिल्म
Image
एसबीआई जनरल इंश्योरेंस:डिजिटल हेल्थ कैम्पेन के साथ 80 लाख लोगों तक पहुँचने और उनके शरीर और दिमाग में बदलाव लाने का लक्ष्य
Image
"मेरा पहला विश्व खिताब मेरे करियर में सबसे खास रहा है क्योंकि मैं वहां बिना कुछ बने गया था": पंकज आडवाणी
Image
विशेष संपादकीय- सामाजिक दायित्वों का सजग प्रहरी शब्द संचार
Image