गोबेन द्वारा दिये गए ऑक्सीजन जेनेरेशन प्लांट को राज्य को समर्पित किया

जयपुर, भारत: राजस्थान के माननीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने जयपुर में महिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन जेनेरेशन प्लांट (200 बिस्तरों के लिए कारगर) का उद्घाटन किया। यह प्लांट सेंट-गोबेन द्वारा राजस्थान राज्य को कोविड राहत सहायता के हिस्से के रूप में दान दिया गया। स्वास्थ्य मंत्री ने इस अभूतपूर्व चुनौती के दौर में आगे आने और सरकारी प्रयासों के साथ पूरक की भूमिका निभाने के लिए सेंट-गोबेन इंडिया की काफी प्रशंसा की।



राहत प्रयासों के बारे में बताते हुए, सेंट-गोबेन इंडिया-ग्लास सॉल्यूशंस के मैनेजिंग डायरेक्टर, श्री आइजनहावर स्वामीनाथन ने कहा कि "एक जिम्मेदार कॉरपोरेट के रूप में, सेंट-गोबेन जरूरत की इस घड़ी में राष्ट्र के साथ खड़ाहै। हमारे लिए, स्वास्थ्य, खुशहालीऔर सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकताएं हैं। हम आभारी हैं कि हमने महामारी से लड़ने में समुदाय को अपना समर्थन देने के लिए राजस्थान सरकार के साथ हाथ मिलाया है। हम कोविड राहत कार्य का विस्तार करने के लिए सरकारी स्वास्थ्य कर्मियों की मदद करना जारी रखेंगे।


राजस्थान राज्य में राहत सहायता प्रदान करने के लिए सेंट-गोबेन इंडिया की प्रतिबद्धता:

सेंट-गोबेन इंडिया स्थानीय समुदायों और स्वास्थ्य कर्मियों की जीवन रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है, जो कंपनी के 'दुनिया को एक बेहतर घर बनाने' के उद्देश्य के अनुरूप है। महिला चिकित्सालय, सांगानेरी गेट, जयपुर का ऑक्सीजन प्लांट एक बार में लगभग 200 बिस्तरों की जरूरतों को पूरा करेगा। 2.5 करोड़ रुपये की लागत वाले इस पूरी तरह से स्वचालित, अत्याधुनिक प्लांट को फ्रांस सरकार और भारत में फ्रांसीसी दूतावास के सहयोग से फ्रांस से एयरलिफ्ट किया गया है।


ऑक्सीजन जेनेरेशन प्लांट के अलावा, कंपनी राजस्थान राज्य को कोविड राहत सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है जिसमें ऑक्सीजन कॉन्संट्रेटर, ऑक्सीजन सिलेंडर, पीपीई किट और अन्य महत्वपूर्ण चिकित्सा उपकरण और आपूर्ति शामिल हैं।


सेंट-गोबेन ग्रुप के बारे में

सेंट-गोबेन निर्माण, मोबिलिटी, हेल्थकेयर और अन्य इंडस्ट्रियल एप्लिकेशन मार्केट्स के लिए सामग्री और समाधानों का डिजाइन, निर्माण और वितरण करता है। निरंतर इनोवेशन प्रोसेस के जरिये विकसित, वे हमारे निवास स्थानों और दैनिक जीवन में हर जगह मिल सकते हैं, जो सस्टेनेबल निर्माण, संसाधन दक्षता और जलवायु परिवर्तन के खिलाफ लड़ाई की चुनौतियों का समाधान करते हुए खुशहाली, परफॉरमेंस और सुरक्षा प्रदान करते हैं। जिम्मेदार विकास की यह रणनीति सेंट-गोबेन के उद्देश्य, "दुनिया को एक बेहतर घर बनाना" द्वारा निर्देशित है, जो समूह की सभी महिलाओं और पुरुषों की साझा महत्वाकांक्षा का समाधान प्रदान करती है ताकि रहने के लिए दुनिया को और अधिक सुंदर और सस्टेनेबल बनाने में वे हर दिन अपना योगदान दें।

167,000 से अधिक कर्मचारी, 70 देशों में स्थित

2050 तक कार्बन न्यूट्रैलिटी हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध