आगर में हंगामा,लाठीचार्ज ,पथराव: सवारी निकालने की मांग को लेकर हो रहा था चक्काजाम:दर्जनों लोगों पर मुकदमा

 


आगर-मालवा- सोमवार को आगर के अधिपति बाबा बैजनाथ की शाही सवारी निकालने की बात पर जमकर हंगामा हुवा।छावनी नाका व बैजनाथ महादेव में सवारी निकाले जाने को लेकर जारी जद्दोजहद के बीच आस्थावानों ने छावनी नाके पर जाम लगा दिया। नतीजतन स्थिति को काबू में करने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज कर भीड़ को हटाने के प्रयास की मगर लोगो ने पथराव शुरू कर दिया। मामला बढ़ता देख पुलिस ने लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। गौरतलब रहे कि मप्र शासन के मंत्री हरदीपसिंह डंग ने सोमवार को विधि विधान पूर्वक सवारी निकालने का आश्वासन दिया था।जबकि रविवार को बैठक के भक्त मंडल ने सवारी निकाले हेतु मना कर दिया था।



इस पूरे घटनाक्रम की शुरुआत पिछले सोमवार 16 अगस्त 2021(सावन माह का अंतिम सोमवार) को ही हो गई थी। प्रशासन ने बगैर किसी सूचना के आनन-फानन में सुबह शाही सवारी निकाल दी। हिंदू संगठनों ने इसका विरोध जताया। आगर से निकल रहे मंत्री हरदीप सिंह डंग को भी इस से अवगत करवाया गया।विधायक वीपीन वानखेड़े ने भी सवारी निकालने के तरीके पर एतराज जताया था। मंत्री डंग ने प्रशासन के साथ बैठक के बाद तय किया  कि अगले सोमवार 23 अगस्त 2021 को फिर से सवारी निकाली जाएगी।सोमवार को कांग्रेस विधायक की अगवाई में लोग दोपहर में बैजनाथ मंदिर पहुंचे। यहां मंदिर प्रशासन ने सवारी नहीं निकालने की बात कही जिससे  लोग भड़क गए। उनका कहना था कि जब पिछले सोमवार को सवारी निकालने की बात तय हो गई थी, तो फिर आज सवारी क्यों नहीं निकाली जा रही? लोग सवारी निकालने की बात को लेकर मंदिर पर ही धरने पर बैठ गए। दूसरी तरफ  छावनी चौराहे भाजयुमो ने प्रदर्शन शुरू करते हुवे चक्काजाम कर दिया।दोनों जगह बड़ी संख्या में पुलिस बल अधिकारियों के नेतृत्व में पहुँच गया। अधिकारियों ने दोनों जगहों पर विधायक वानखेड़े और युवा मोर्चा के अध्यक्ष मयंक राजपूत को समझाइश दी, लेकिन वे नहीं माने ओर सवारी निकालने की मांग पर अड़े रहे।इसी बीच  प्रदर्शन कर रहे लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर ले जाने लगी जिससे  लोग भड़क गए और पथराव शुरू कर दिया। इस दौरान मौके पर काफी लोग जमा हो गए। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज शरू कर दिया। इस अफरा तफरी मच गई।पुलिस से बचने के लिए लोग दुकानों में घुस गए।  पथराव में पुलिस की गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हुई है। पुलिसकर्मियों के घायल होने के साथ कई लोगो के घायल होने की जानकारी मिली है।मिली जानकारी के अनुसार  बाबा बैजनाथ भक्त मंडल और प्रशासन की बैठक में निर्णय लिया गया कि सवारी नहीं निकाली जाएगी। सदस्यों ने नई परंपरा, कोरोना गाइडलाइन और पंचक का हवाला दिया था। सवारी नही निकालने का लेटर भी रविवार को दिनभर सोशल प्लेटफार्म पर जमकर ट्रोल हुवा। सवारी निकालने की बात सोमवार को विधायक व अन्य लोगो से कही गई थी, लेकिन वे नहीं माने। लोगों ने पथराव किया, तो पुलिस ने स्थिति को काबू में करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा। 


भाजयुमो जिला अध्यक्ष सहित 60-70 लोगो पर प्रकरण दर्ज



 23 अगस्त 2021 को छावनी नाका पर  चक्का जाम करने, शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने वह अवैध जमाव एकत्रित कर पुलिस पर पथराव करने तथा शासकीय संपत्ति को नुकसान करने पर थाना कोतवाली  नेआरोपी हेमराज नायक, गोविंद सिंह सोंधिया, योगेश योगी,उमंग अग्रवाल, गौरव जैन,मयंक राजपूत, अर्जुन यादव, गोविंद दुबे , देवी सिंह, नागेंद्र सिंह सोंधिया, दशरथ सिंह सोंधिया, गोविंद सिंह सोंधिया, मनोज परमार,अर्जुन यादव,शिवम टॉक, अंकित सिंह तोमर, ईश्वर मालवीय,कमल माली,शंकर सिंह, कमल यादव  व अन्य 60_ 70 लोगों के विरुद्ध 147 148 332 341 353 427 270 269 188 दंड प्रक्रिया संहिता तथा 3/4 सार्वजनिक लोक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।


विधायक पर भी दर्ज हुवा मुकदमा



 बाबा बैजनाथ की सवारी निकालने की बात को लेकर बैजनाथ मंदिर के पास हेलीपैड पर विधायक विपिन वानखेड़े द्वारा अपने साथी अंकुश भटनागर, राजकुमार गोरे, कमल जाटव, जीवन राजपूत,रामेश्वर यादव, राकेश वर्मा, रामपाल पाटीदार, गोविंद वर्मा, शिवराज सिंह चौहान के विरुद्ध शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाना तथा कलेक्टर के आदेश का उल्लंघन करने पर धारा 188 353 269 270 दंड प्रक्रिया संहिता के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है।

Popular posts from this blog

रविवार से लापता युवक का शव मिला:तहकीकात जारी

फिल्मी स्टाईल में सनसनीखेज वारदात:सराफा बाजार में बंदुकधारी बदमाशों ने सब्बल से ताले तोड़े और बोरो में भरकर ले गए जेवरात

सनसनीखेज अंधे कत्ल का पर्दाफाश:प्रेम संबंध के कारण पत्नी के जियाजी को उतारा था मौत के घाट:सुहागरात के दिन ही मृतक ने आरोपी से कहा था उससे दूर रहना