हमारी ज़िम्मेदारी है कि अफ़ग़ानिस्तान से हर भारतीय को वापस लाएं-

 



ज्योतिरादित्य सिंधिया हाल ही में अफगानिस्तान पर तालिबान के क़ब्ज़े के बाद भारतीय नागरिकों को वापिस लाने की कवायद तेज़ हो गयी है. केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने न्यूज़18 इंडिया से ख़ास बातचीत में कहा कि की अफगानिस्तान में फंसे हरेक भारतीय को सुरक्षित लाना भारत सरकार की

ज़िम्मेदारी है.

उनके अनुसार, “हमने पिछले शुक्रवार से ही विमानों को भेजा था वहाँ से हमारे नागरिकों और बाकी लोगों को भी सुरक्षित घर लाने के लिए. रविवार तक हमारे विमान वहाँ से चल रहे थे. सोमवार को नोटीस टू एरमेन के आधार पर

विमानों का जाना बंद किया गया.” नोटिस टू एरमेन वाले वातावरण में कोई भी विदेशी हवाई जहाज़ उस समय में अफ़ग़ानिस्तान में आ नहीं पाया. “इसके बाद सरकार ने ये निर्णय भी लिया की वायु सेना की द्वारा भी हम लोग

प्रयत्न करेंगे. हमारा दायित्व है के नागरिकों को वापिस सुरक्षित हम घर लायें और उस ज़िम्मेदारी को हम अच्छी तरह से निभाएँगे इसका मुझे पूरा विश्वास है,” उन्होने कहा. उन्होने भरोसा जताया की जब विमान सेवा फिर से चालू होगी तो एर इंडिया  भी वापिस काम करेगी वाहा से नागरिकों से लाने के लिए.