अंधे कत्ल का 12 घन्टे में हो गया खुलासा:10 हजार के लिए माँ को मार दिया कलयुगी पुत्र ने

 

आगर मालवा- क्या कोई पुत्र अपनी माँ को मौत की नींद सुला सकता है।भले ही इस पर यकीन न हो मगर यह सो फीसदी सच है। ग्राम अमला में बुधवार सुबह खटिया से महिला की  पैर बंधी लाश मिली थी और पैर से 1 किलो चांदी के कड़े गायब थे।पुलिस ने घटना के 12 घन्टे बाद ही कलयुगी पुत्र को गिरफ्तार कर इस अंधे कत्ल का पर्दाफाश कर दिया है।

गुरुवार को पुलिस कप्तान राकेश कुमार सगर ने जानकारी देते हुवे बताया कि 8 सितंबर को ग्राम आमला में व्रद्ध महिला सुगनबाई की लाश मिली थी।उसके पैर  खटिया से बंधे और पैर से 1 किलो वजनी चांदी के कड़े गायब थे।घर का सामान बिखरा पड़ा था।मृतका के पुत्र ने पुलिस को बताया कि चोर घर मे घुस गए थे।संभवतः चोरों ने ही माँ की हत्या की होगी। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि दिनेश का अपनी माँ के साथ विवाद हुवा था।यही से पुलिस इस अंधे कत्ल का खुलासा करने में सफल हुई।श्री सगर के मुताबिक आरोपी दिनेश पिता बगदीराम 26 वर्ष ने समूह का कर्ज चुकाने के लिए माँ से 10 हजार मांगे थे। माँ ने जब रुपये नही दिए तो बौखलाए दिनेश ने रात के अंधियारे में माँ-बेटे के पवित्र रिश्ते को कलंकित कर दिया।दिनेश ने रस्सी से अपनी माँ का गला घोंटकर उसे हमेशा-हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दिया।जब माँ का शरीर निस्तेज हो गया तो इस कलयुगी बेटे ने उसके पैर से 1 किलो वजनी चांदी के  कड़े उतार लिए।पुलिस को भ्रमित करने के लिए माँ को कंबल ओढ़ाकर ऊपर से रस्सी से बांध दिया।यही नही घर का सामान भी बिखेर दिया ताकि मामला चोरी का नजर आये।पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त रस्सी,प्लायर, पेचकस व चांदी के कड़े बरामद कर लिए है।पुलिस कप्तान ने मामले की गंभीरता जो देखते हुवे अतरिक्त पुलिस अधीक्षक नवल सिंह सिसोदिया ,एसडीओपी ज्योति उमठ,थाना प्रभारी रंजीत सिंघार  सहीत मय दलबल के मौके पर पहुँच कर  तहकीकात के बाद आरोपी की गिरफ्तारी हेतु  10 हजार का ईनाम भी घोषित किया था।