व्हील्सईएमआई प्राइवेट लिमिटेड 2023 तक कंपनी की 1000 से ज्यादा फ्रेंचाइजी खोलने और 10 लाख ग्राहकों को जोड़ने की योजना


मुंबई, 20 सितंबर 2021: भारत की प्रमुख टू-व्ही1लर फाइनेंसिंग कंपनी, व्हील्सईएमआई प्राइवेट लिमिटेड ने यूज्डज टू-व्ही2लर मार्केटप्लेकस और सर्विस के क्षेत्र में उभरते अवभरों का लाभ उठाने के लिए इसमें अपने प्रवेश की घोषणा की है। हाल ही में कंपनी ने अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के फैसले की झलक देने के लिए ब्रांडिंग एक्सरसाइज शुरू की। इससे देश भर में सेकेंड हैंड टू व्ही लर्स के इकोसिस्टम को औपचारिक रूप देने का कंपनी का विजन भी सामने आया। दोपहिया वाहनों की फाइनेंसिंग को पूरक रूप देते हुए बाइक बाजार ब्रांड ने भारत की पहली और सबसे बड़ी टू-व्ही लर लाइफ साइकिल मैनेजमेंट कंपनी बनने के विजन को अपना पूर्ण समर्थन दिया है। बाइक बाजार दोपहिया वाहनों को फाइनेंस करने के अलावा सेकेंड हैंड टू-व्हीकलर्स के लिए एक पारदर्शी बाजार बनेगा। इसी के साथ कंपनी संपूर्ण ओनरशिप-राइडरशिप साइकिल के तहत बेहतरीन कीमत प्रदान करेगी।

 

ब्रांडिंग एक्सरसाइज कंपनी के विकास की गतिशील रणनीति के क्षेत्र में उठाए गए अगले महत्वपूर्ण कदम को प्रदर्शित करती है। इससे कंपनी ने यह सुनिश्चित किया है कि वह यूज्डअ टू-व्ही्लर के मार्केट में अवसरों का लाभ उठाकर आगे बढ़ने के लिए सबसे बेहतर स्थिति में हैं। इंडस्ट्री  के दिग्गजों वी. करुणाकरन, के. श्रीनवास और रथीश भारतन ने यह कंपनी साढ़े चार साल पहले शुरू की थी। इसके बाद कंपनी  की प्रतिष्ठा और उपभोक्ताओं के आधार में लगातार मजबूती आती गई। अब यह कंपनी ग्रामीण क्षेत्रों में चलने वाले वाहनों, प्रि-ओनड और इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए फाइनेंस उपलब्ध करा रही है।


बाइक बाजार ने स्थापना के बाद से 1.8 लाख से ज्यादा उपभोक्ताओं को कंपनी  से जोड़ा है। कंपनी भारत में 1000 फ्रेंचाइजी के माध्यम से 1.5 बिलियन से ज्यादा की संपत्ति का प्रबंधन करती है। भारत में सेकेंड हैंड टू-व्ही लर का मार्केट काफी हद तक असंगठित है और इस बाजार के विकास की काफी संभावना है। बाइक बाजार का उद्देश्य टियर 2 और टियर 3 शहरों और कस्बों तक पहुंचना है और यूज्डक व्हीइकल्सर की खरीदारी के अनुभव को औपचारिक बनाना है। यह बाजार काफी तेजी से आगे बढ़ता जा रहा है। ग्रामीण इलाकों में चलने वाले दोपहिया वाहनों के लिए नए डायरेक्ट कलेक्शन मॉडल और बैंकों तथा ओईएम के बीच रणनीतिक साझेदारी के साथ बाइक बाजार का उद्देश्य 2024 के वित्तीय वर्ष तक 1 मिलियन से ज्यादा ग्राहकों को कंपनी से जोड़ना और इस अवधि में 4000 फ्रेंचाइजी के नेटवर्क को विकसित करना है। कंपनी का मकसद इलेक्ट्रिक टू-व्हीेलर्स का सबसे बड़ा फाइनेंसर बनना है। इसके साथ कंपनी का विश्वास है कि 2030 तक सभी देश की सड़कों पर दौड़ने वाले नए टू व्हीरलर्स में से 30 फीसदी इलेक्ट्रिक व्हीकल्सभ होंगे।        


बाइक बाजार के सहसंस्थापक श्री के. श्रीनिवास ने कहा, “हम एकीकृत ब्रैंड बाइक बाजार के तहत अपने सफर के अगले चरण की ओर काफी उम्मीद से देख रहे हैं। यह बिजनेस के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।  इस कदम ने भारत की सबसे बड़ी लाइफसाइकल मैनेजमेंट कंपनी बनने के लिए हमारे भविष्य के विजन का प्रतिनिधित्व किया है। हमने अपना फोकस नए सिरे से टू-व्हीेलर्स लाइफ साइकिल सर्विसेज पर केंद्रित किया है। पूरे भारत में अपनी मौजूदगी और डीलर-डिस्ट्रिब्यूशन नेटवर्क से हमारा उद्देश्य 1 मिलियन (10 लाख) उपभोक्ताओं को कंपनी से जोड़ना है और वित्त वर्ष 2024 तक अपनी लोनबुक का विस्तार  3000 करोड़ रुपये तक करना है।”   

बाइक बाजार के बारे में 

बाइक बाजार (व्हील्सईएमआई प्राइवेट लिमिटेड का ब्रांड नेम) भारत की पहली टू-व्ही(लर लाइफ साइकिल मैनजमेंट कंपनी है। ये दोपहिया वाहन का मालिक बनने और उसकी सवारी करने के लिए उपभोक्ताओं को उनके बजट में फिट बैठने वाले फाइनेंस के सोल्यूशंस मुहैया कराती है। इससे कामकाजी परिवारों को कहीं भी आने-जाने की सुविधा मिलती है। नए और यूज्डा टू-व्हीवलर्स के लिए यह फाइनेंस उपलब्ध कराती है। इलेक्ट्रिक बाइक्स तक उपभोक्ताओं की पहुंच बढ़ती है। इसके अलावा कंपनी इंश्योरेंस, सर्विसिंग और गाड़ी के स्पेयर पार्ट्स का भी मैनजमेंट करती है। यूज्डह टू-व्हींलर्स की खरीद के लिए यह एक पारदर्शी मार्केट है। कंपनी ने पिछले तीन सालों में 13 राज्यों और भारत के 100 शहरों में अपना विस्तार किया है। कंपनी के 1.8  लाख से ज्यादा उपभोक्ता हैं।